पुलवामा में CRPF जवानों पर हुए आतंकी हमले के एक दिन बाद ‘वंदे भारत एक्सप्रेस’ ट्रेन का उद्धघाटन कर सोशल मीडिया यूजर्स के निशाने पर पीएम मोदी, अलका लांबा ने भी साधा निशाना

0

जम्मू-कश्मीर के पुलवामा जिले में केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) के जवानों पर हुए आतंकी हमले के एक दिन बाद यानी शुक्रवार (15 फरवरी) को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दिल्ली से वाराणसी के बीच चलने वाली देश की सबसे तेज रफ्तार ट्रेन ‘वंदे भारत एक्सप्रेस’ को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। इस ट्रेन का उद्धघाटन कर प्रधानमंत्री सोशल मीडिया यूजर्स के निशाने पर आ गए और लोगों ने उन्हें ट्रोल करना शुरु कर दिया।

पुलवामा
फोटो: @PIB_India

हालांकि, ट्रेन का उद्धघाटन करने से पहले पीएम मोदी ने पुलवामा हमले में शहीद जवानों को श्रद्धांजलि देते हुए देश के दुश्मनों को कड़ा संदेश दिया है कि देश डरने वाला नहीं है। प्रधानमंत्री ने कार्यक्रम में कहा कि इस हमले की वजह से देश में जितना आक्रोश है, लोगों का खून खौल रहा है, यह समझ रहा हूं। ‘इस समय जो देश की अपेक्षाएं हैं, कुछ कर गुजरने की भावनाएं हैं, वो स्वाभाविक हैं। हमारे सुरक्षा बलों को पूर्ण स्वतंत्रता दी हुई है। हमें अपने सैनिकों के शौर्य पर पूरा भरोसा है।’ मोदी ने कहा, ‘मुझे पूरा भरोसा है कि देशभक्ति के रंग में रंगे लोग सही जानकारियां भी हमारी एजेंसियों तक पहुंचाएंगे, ताकि आतंक को कुचलने में हमारी लड़ाई और तेज हो सके।’

पीएम ने आगे कहा कि, ‘मैं आतंकी संगठनों को और उनके सरपरस्तों को कहना चाहता हूं कि वो बहुत बड़ी गलती कर चुके हैं, बहुत बड़ी किमत उनको चुकानी पड़ेगी। मैं देश को भरोसा दिलाता हूं कि हमले के पीछे जो ताकतें हैं, इस हमले के जो भी गुनहगार हैं, उन्हें उनके किए की सज़ा अवश्य मिलेगी।’ पाकिस्तान को आड़े हाथों लेते हुए उन्होंने कहा, ‘पूरे विश्व में अलग-थलग पड़ चुका हमारा पड़ोसी देश अगर यह समझता है कि जिस तरह के कृत्य वह कर रहा है, जिस तरह की साजिशें कर रहा है, उससे भारत में अस्थिरता पैदा करने में सफल हो जाएगा, तो वह बहुत बड़ी भूल कर रहा है।’

उन्होंने आगे कहा कि इस समय बड़ी आर्थिक बदहाली के दौर से गुजर रहे हमारे पड़ोसी देश को यह भी लगता है कि वह ऐसी तबाही मचाकर, भारत को बदहाल कर सकता है। उसके ये मंसूबे भी कभी पूरे नहीं होंगे। मोदी ने कहा कि 130 करोड़ हिंदुस्तानी ऐसी हर साजिश, ऐसे हर हमले का मुंहतोड़ जवाब देंगे। इस दौरान पीएम व अन्य मौजूद लोगों ने शहीदों के लिए 2 मिनट का मौन भी रखा गया।

हालांकि, ‘वंदे भारत एक्सप्रेस’ ट्रेन का उद्धघाटन कर प्रधानमंत्री सोशल मीडिया यूजर्स के निशाने पर आ गए और लोगों ने उन्हें ट्रोल करना शुरु कर दिया। आम आदमी पार्टी (आप) की नेता व चांदनी चौक से विधायक अलका लांबा ने भी ट्वीट पर पीएम मोदी पर जोरदार हमला बोला।

अलका लांबा ने अपने ट्वीट में लिखा, “प्रधानमंत्री मोदी जी थोड़ी तो शर्म की होती, ट्रेन का उद्धघाटन कार्यक्रम कुछ दिन बाद भी तो किया जा सकता था या आपके जाए बिना भी हो सकता था। इस ट्रेन के चलने से आपकी ख़ुशी से, कहीं अधिक उन परिवारों का गम और आसुंओ हैं, जिनके चिराग़ हमेशा के लिये बुझ गए हैं।” वहीं, अलका लांबा के इस ट्वीट पर सोशल मीडिया यूजर्स जमकर अपनी प्रतिक्रिया दे रहें है।

देखिए कुछ ऐसे ही ट्वीट

जम्मू-कश्मीर के पुलवामा जिले में सीआरपीएफ के काफिले पर हुए आतंकवादी हमले में मरने वाले जवानों की संख्या बढ़कर 40 हो गई है। जैश-ए-मोहम्मद के एक आत्मघाती हमलावर ने 100 किलोग्राम विस्फोटक से लदे वाहन से गुरुवार(14 फरवरी) को पुलवामा जिले में सीआरपीएफ जवानों को लेकर जा रही एक बस में टक्कर मार दी थी।

वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, ‘जम्मू कश्मीर के अवंतीपुरा में कुल 40 जवानों की मौत हो गई। पांच जवान घायल हैं।’ हमले के बाद सीआरपीएफ ने कश्मीर घाटी और राज्य में अन्य स्थानों पर अपने सभी प्रतिष्ठानों को ‘अति सतर्कता’ बरतने का अलर्ट जारी किया है।

गौरतलब है कि सीआरपीएफ के 2,500 से अधिक जवान 78 वाहनों के काफिले में यात्रा कर रहे थे जब आतंकवादियों ने बृहस्पतिवार को दोपहर करीब तीन बजकर 15 मिनट पर श्रीनगर-जम्मू राजमार्ग पर दक्षिण कश्मीर के अवंतीपुरा के लातूमोड़ में घात लगाकर हमला किया। ज्यादातर जवान छुट्टी के बाद फिर से ड्यूटी पर लौट रहे थे।

अधिकारियों ने बताया कि पाकिस्तान स्थित जैश-ए-मोहम्मद आतंकवादी समूह ने हमले की जिम्मेदारी ली है। यह हमला श्रीनगर से करीब 20 किलोमीटर दूर हुआ। पुलिस ने फिदायीन हमलावर की पहचान आदिल अहमद के रूप में की है। अधिकारियों ने बताया कि वह 2018 में जैश-ए-मोहम्मद में शामिल हुआ था।

घटनास्थल पर मौजूद एक अधिकारी ने बताया कि वह सड़क के विपरीत दिशा में 100 किलोग्राम विस्फोटकों से लदा वाहन चला रहा था और उसने सामने से बस में टक्कर मार दी जिसमें 39 से 44 जवान यात्रा कर रहे थे। इस शक्तिशाली विस्फोट की आवाज कई किलोमीटर दूर तक सुनी गई। ऐसा अनुमान है कि हमले में 70-80 किलोग्राम के हाई ग्रेड विस्फोटकों का इस्तेमाल किया गया। (इंपुट: भाषा के साथ)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here