VIDEO: मूसलाधार बारिश में भीगते हुए शरद पवार ने रैली को किया संबोधित, सोशल मीडिया पर लोग जमकर कर रहे हैं तारीफ

0

राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (NCP) प्रमुख शरद पवार ने शुक्रवार (18 अक्टूबर) की शाम को भारी बारिश के बीच पश्चिमी महाराष्ट्र के सतारा में एक रैली को संबोधित किया। बता दें कि, यहां 21 अक्टूबर को होने वाले विधानसभा चुनाव के साथ लोकसभा उपचुनाव भी होना है।

शरद पवार

जानकारी के मुताबिक, शरद पवार की रैली जैसे ही शुरू की वहां बारिश होने लग गई, जो रैली के आगे बढ़ने के साथ और तेजी होती चली गई, लेकिन बारिश से पूरी तरह भीगने के बावजूद पवार डटे रहे और लोगों को संबोधित करना जारी रखा। बारिश में भीगे होने के बावजूद शरद पवार की चुनावी रैली को संबोधित करने की तस्वीर और वीडियो अब सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रही है। पवार की बारिश में भीगकर रैली को संबोधित करने की तस्वीर सामने आने के बाद लोगों ने 78 साल की उम्र के बावजूद उनके इस समर्पण और जज्बे की जमकर तारीफ कर रहे हैं।

पत्रकार सुशांत सिन्हा ने लिखा, “बारिश होती रही, और 78 साल के शरद पवार बिना रुके बोलते रहे। इस बार की चुनावी जंग में बहुत कुछ दांव पर लगा है लगता है।” वहीं, रुबिका लियाकत ने लिखा, “अच्छे-अच्छे युवा इस तस्वीर को देखकर शर्म से लाल हो जाएँगे। जिस पार्टी को इतने जतन से खड़ा किया है उसकी क़ीमत शरद पवार समझ रहे हैं। पकी पकाई थाली और मेहनत से बनाने में ऐसा ही अंतर दिखता है।”

संजीव यादव नाम के एक यूजर ने लिखा, “शरद पवार द्वारा देश या महाराष्ट्र के लिए किए गए पांच काम या योगदान, कोई बता दो।” बता दें कि, इसी तरह तमाम यूजर्स इस पर जमकर अपनी प्रतिक्रियाएं दे रहें हैं।

देखिए कुछ ऐसे ही ट्वीट

बारिश में पूरी तरह भीगे पवार (78) ने अपने संक्षिप्त भाषण के दौरान कहा कि उन्होंने इस साल की शुरुआत में हुए लोकसभा चुनाव में उम्मीवारों के चयन में “एक गलती” की लेकिन अब लोग उस गलती को सुधारने का इंतजार कर रहे हैं। पवार ने सभा में कहा, “इंद्रदेव ने 21 अक्टूबर को होने वाले चुनाव के लिए राकांपा को आशीर्वाद दिया है और इंद्र देव के आशीर्वाद से, सतारा जिला महाराष्ट्र में एक चमत्कार करेगा। वह चमत्कार 21 अक्टूबर से शुरू होगा।”

उन्होंने कहा, “जब कोई गलती करता है, तो उसे स्वीकार करना चाहिए। मैंने लोकसभा चुनाव के लिए उम्मीदवार का चयन करते समय एक गलती की। मैं इसे सार्वजनिक रूप से स्वीकार करता हूं, लेकिन मुझे खुशी है कि गलती को सुधारने के लिए, सतारा का हर युवा और बुजुर्ग 21 अक्टूबर का इंतजार कर रहा है।”

गौरतलब है कि, राकांपा ने लोकसभा चुनाव में सतारा संसदीय क्षेत्र से शिवाजी महाराज के वंशज उदयनराजे भोसले को उम्मीदवार बनाया था और उन्हें जीत मिली थी। लेकिन भोसले विधानसभा चुनाव से पहले राकांपा छोड़ भाजपा में शामिल हो गए। अब वह भाजपा के टिकट पर यहां से उपचुनाव लड़ रहे हैं। राकांपा ने भोसले के खिलाफ श्रीनिवास पाटिल को उम्मीदवार बनाया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here