सोशल मीडिया: “गटर से गैस की खोज करने के लिए मोदी जी को एक ‘नोबेल पुरस्कार’ तो बनता है”

0

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार (10 अगस्त) को वर्ल्ड बायोफ्यूल डे के मौके पर कचरे से बायोफ्यूल बनाने पर जोर दिया। इस दौरान प्रधानमंत्री मोदी ने बायोफ्यूल की अहमियत बताते हुए एक किसान और एक चाय वाले की जुगाड़ तकनीक की कहानियां सुनाईं। पहला किस्सा एक चायवाले का था, जिसमें उन्होंने बताया कि किस तरह वह नाले में पाइप डालकर चाय बनाता था।

Phot: India.com

इस शख्स की कहानी बताते हुए पीएम मोदी ने बताया, “मैंने एक बार अखबार में पढ़ा था कि एक शहर में नाले के पास एक व्यक्ति चाय बेचता था। वहीं पर गंदी नाली चलती थी। उसके दिमाग में विचार आया कि गंदी नाली से निकलने वाली गैस का इस्तेमाल किया जाए। उसने एक बर्तन को उल्टा करके, उसमें छेद करके पाइप डाल दिया। गटर से जो गैस निकलती थी, उससे वह चाय बनाने लगा।”

वहीं एक कहानी का जिक्र करते हुए पीएम ने बताया कि जब मैं गुजरात में मुख्यमंत्री था। एक दिन काफिले के साथ जा रहा था। उसी दौरान देखा कि एक व्यक्ति ट्रैक्टर की ट्यूब को अपने स्कूटर पर लादकर ले जा रहा था। हवा से भरा ट्यूब काफी बड़ा हो गया था, जिससे ट्रैफिक में बाधा आ रही थी। मैं भी हैरान था। कोई भी समझदार व्यक्ति ट्यूब खाली कर लेता और बाद में हवा भर लेता। मेरे पूछने पर उसने बताया कि वह रसोई के कचरे और अपने दो मवेशियों के गोबर से बायोगैस प्लांट में गैस बनाता है। उस गैस को ट्यूब में भरकर खेत में ले जाता है, जहां उससे पानी का पंप चलाता है।

सोशल मीडिया पर हंगामा

नाले से निकलने वाली गैस से चाय बनाने वाले पीएम मोदी के इस बयान पर अब सोशल मीडिया पर लोग अपने-अपने अंदाज में जमकर मजा ले रहे हैं। ट्विटर और फेसबुक पर तरह-तरह के फनी कमेंट्स देखने को मिल रहे हैं। देखिए कुछ मजेदार ट्वीट्स:-

https://twitter.com/NewDuplicate/status/1028703788033617921?ref_src=twsrc%5Etfw%7Ctwcamp%5Etweetembed%7Ctwterm%5E1028703788033617921&ref_url=https%3A%2F%2Fwww.jansatta.com%2Fhumour%2Fpm-narendra-modi-says-when-the-tea-was-made-from-drainage-gas-memes-on-social-media%2F736829%2F

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here