सोशल मीडिया: ‘कुमार विश्वास तो जवानी में ही आडवाणी बन गए’

0

आम आदमी पार्टी (AAP) ने अपने राज्यसभा उम्मीदवारों के तौर पर बुधवार (3 दिसंबर) को संजय सिंह, सुशील गुप्ता और नारायण दास गुप्ता (एनडी गुप्ता) को नामित किया। ‘आप’ के वरिष्ठ नेता संजय सिंह पीएसी के सदस्य हैं और पार्टी गठन के समय से ही उससे जुड़े हुए हैं। जबकि सुशील गुप्ता दिल्ली के एक कारोबारी हैं और एन डी गुप्ता एक चार्टर्ड अकाउंटेंट हैं।

File Photo: The Hindu

न्यूज एजेंसी भाषा के मुताबिक मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के आवास पर हुई एक बैठक में यह निर्णय लिया गया, जिसमें करीब पार्टी के 56 विधायकों ने हिस्सा लिया। पार्टी की राजनीतिक मामलों की कमेटी (पीएसी) ने कुछ देर बाद ही बैठक की और निर्णय को औपचारिक रूप से मंजूरी दी।

उम्मीदवारों की घोषणा होते ही पार्टी में घमासान

हालांकि उम्मीदवारों की घोषणा होते ही पार्टी में घमासान मच गया। पार्टी के वरिष्ठ नेता कुमार विश्वास समेत कई नेताओं ने इस फैसले का विरोध किया। कुमार ने खुद को एक ‘शहीद’ करार देते हुए कहा कि अरविंद केजरीवाल के खिलाफ बोलने की वजह से उच्च सदन के लिए उनकी अनदेखी की गई। वहीं हिंदुस्तान में छपी रिपोर्ट के मुताबिक ‘आप’ नेता आशुतोष ने भी पीएसी की बैठक में अरबपति कारोबारी के नाम पर आपत्ति जताई।

कुमार विश्वास ने केजरीवाल पर बोला हमला

आम आदमी पार्टी की ओर से राज्यसभा का ट‌िकट कटने के बाद कुमार व‌िश्वास ने बुधवार को दिल्ली के मुख्यमंत्री अरव‌िंद केजरीवाल पर करारा हमला बोला है। कुमार ने कहा कि सर्जिकल स्ट्राइक, टिकट वितरण में गड़बड़ी, जेएनयू समेत अन्य मुद्दों पर सच बोलने के लिए मुझे दंडित किया गया है। मैं इस दंड को स्वीकार करता हूं।

कुमार ने कहा कि मुझे डेढ़ साल पहले अरविंद ने बुलाकर कहा था कि सर जी आपको मारेंगे, लेकिन शहीद नहीं होने देंगे। मैं उनका बधाई देता हूं और अपनी शहादत को स्वीकार करता हूं। उन्होंने कहा कि युद्ध का भी एक छोटा नियम होता है कि शहीदों के शव से छेड़छाड़ नहीं की जाती।

कुमार ने कहा कि मुझे पता है कि अरविंद से बिना पूछे हमारे दल में कुछ होता नहीं है। मैं उनसे कहना चाहूंगा कि वह अपने विधायकों और नेता से कहें कि ट्वीट या किसी अन्य माध्यम से शहीद के शव के साथ छेड़छाड़ ना करें, नहीं तो ये युद्ध के नियमों के विपरीत होगा।

कुमार ने राज्यसभा की टिकट पाने वाले उम्मीदवारों पर तंज कसते हुए कहा कि हर विधायक के लिए रैलियां करके और ट्वीट कर करके, मीडिया में बहस करके जिन्होंने आज पार्टी को खड़ा किया था। ऐसे महान क्रांतिकारी सुशील गुप्ता पार्टी ने चुना है। इसके लिए अरविंद को बधाई देता हूं। कार्यकर्ताओं को लख-लख बधाई देता हूं कि आखिरकार आपकी बात सुनी गई।

कुमार की आडवाणी से तुलना करते हुए लोगों ने किए फनी ट्वीट

ट्विटर से लेकर फेसबुक पर कुमार विश्वास को नजरअंदाज कर सुशील गुप्ता के चयन पर आम आदमी पार्टी को विरोध का सामना करना पड़ रहा है। वहीं कई यूजर्स कुमार विश्वास की बीजेपी के वरिष्ठ नेता लाल कृष्ण आडवाणी से तुलना करते हुए तंज कस कर रहे हैं। भारत का विकास नाम के एक यूजर ने लिखा, ‘कुमार विश्वास तो जवानी में ही आडवाणी बन गए।’ इसके अलावा अन्य लोग भी फनी ट्वीट कर मजे लिए हैं।

https://twitter.com/jay1sidh/status/948537442751037441

https://twitter.com/iRajuSrivastav/status/948609784093147136

 

 

 

 

 

 

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here