जानें क्यों, ‘नरेंद्र मोदी एप’ के जरिए BJP को 1000 रुपये चंदा देकर ट्रोल हुईं केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी

0

पिछले महीने केंद्र में सत्ताधारी भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) ने अपने कार्यकर्ताओं, समर्थकों सहित देश के सभी लोगों से ‘नरेंद्र मोदी ऐप’ के जरिए 5 रुपये से लेकर 1000 रुपये तक का योगदान देने की अपील की थी। बीजेपी के अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल से ट्वीट कर कहा गया था कि एक छोटा दान ‘एक भारत श्रेष्ठ भारत’ बनाने में बड़ा कदम साबित होगा। नमो ऐप के जरिए छोटा दान कर पार्टी को मजबूत बनाएं।

बीजेपी के इस अपील के फौरन बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, पार्टी अध्यक्ष अमित शाह और विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने नमो एप के जरिए 1000 रुपये का योगदान दिया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पार्टी के लिए 1000 रुपये का चंदा देते हुए पार्टी कार्यकर्ताओं से अपील की कि वे भी सामाजिक जीवन में पारदर्शिता बनाए रखने के लिए पार्टी फंड में चंदा दें।

इस बीच अब विवादों में रहने वालीं केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने भी नमो एप के जरिए बीजेपी को 1000 रुपये का चंदा दिया है। केंद्रीय कपड़ा मंत्री स्मृति ईरानी ने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल से सोमवार (5 नवंबर) को ट्वीट कर लिखा, “धनतेरस के पावन अवसर पर एक बार फिर NaMoApp के माध्यम से भाजपा को ₹1000 का डोनेशन दिया। आप भी नये भारत के निर्माण की विकास यात्रा में अपना योगदान देने की कृपा करें।”

इसके साथ ही उन्होंने उस रशीद को भी ट्वीट किया है जो उन्हें 1000 रुपये चंदा के बदले में मिला हुआ है। हालांकि गोपनीयता की वजह से केंद्रीय मंत्री के ईमेल आईडी और मोबाइल नंबर को जानबूझकर छिपा दिया गया है। पीएम मोदी, अमित शाह और सुषमा स्वराज की तरह स्मृति ईरानी भी 1000 रुपये का चंदा दी हैं, लेकिन सोशल मीडिया यूजर्स कोई ना कोई बहाना ढूंढकर उन्हें ट्रोल करना शुरू कर दिए।

रंगीला नाम के एक यूजर ने लिखा, “1000 रुपये आप की हैसियत के हिसाब से बहुत कम हैं। BJP ने आपको मंत्री बनाया और आप ये क्या दे रही हैं?” वहीं, एक अन्य यूजर ने तंज कसते हुए लिखा, “टैक्स तो दे ही रहे हैं और कितना मारोगे” एक अन्य यूजर ने लिखा है, “कुछ जनता को भी दोगे या दोनों हाथों से ख़ुद ही बटोरते रहोगे?”

पीएम मोदी, अमित शाह और सुषमा स्वराज भी दे चुकी हैं चंदा 

आपको बता दें कि स्मृति ईरानी से पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह और विदेश मंत्री सुषमा स्वराज सहित कई केंद्रीय मंत्री और पार्टी के वरिष्ठ नेता ‘नमो एप’ के जरिए चंदा दे चुके हैं। पिछले दिनों पीएम मोदी ने ट्विटर पर इसकी जानकारी देते हुए बताया था, ‘मैंने ‘नमो ऐप’ के माध्यम से 1000 रुपए की राशि दी है। मैं आपसे आग्रह करता हूं कि आप सभी इस ऐप के माध्यम से पार्टी में योगदान दें और सार्वजनिक जीवन में पारदर्शिता का संदेश फैलाएं।’ पीएम मोदी ने कहा, ‘आपका समर्थन और योगदान हमारे कार्यकर्ताओं के देश की सेवा के निश्चय को मजबूत करेगा।’

वहीं, बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने भी ट्वीट कर पार्टी फंड में 1000 का दान देने के बारे में जानकारी दी थी। अमित शाह ने कहा, ‘एक बीजेपी कार्यकर्ता के तौर पर, नमो ऐप के जरिए मैंने पार्टी के लिए 1000 रुपये का दान दिया है। मैं सभी कार्यकर्ताओं और पार्टी के शुभचिंतकों से अपील करता हूं कि इस पहल का हिस्सा बनें और सामाजिक जीवन में पारदर्शिता लाएं।’

इसके अलावा विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने भी इस बारे में जानकारी देते हुए कहा था, ‘मैंने भी कल इस एप पर 1000 रुपए की राशि दी है। मेरा सभी बीजेपी कार्यकर्ताओं, समर्थकों तथा हितैषियों से अनुरोध है कि सार्वजनिक जीवन में शुचिता बनाए रखने के लिए इस अभियान में अपना योगदान अवश्य दें।’

आपको बता दें कि बीजेपी ने अपने कार्यकर्ताओं और समर्थकों से 5 रुपये से लेकर 1000 रुपये तक का चंदा देने के लिए कहा है। बीजेपी के इस अपील पर ही केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने भी 1000 रुपये का चंदा दिया है, लेकिन यूजर्स उन्हें बेवजह से निशाने पर लेते रहते हैं।

 

 

Pizza Hut

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here