दिल्ली के पॉश इलाके में पार्किंग शुल्क का भुगतान नहीं करने पर यूजर्स के निशाने पर आईं स्मृति ईरानी

0

हमेशा विवादों में रहने वाली केंद्रीय कपड़ा मंत्री स्मृति ईरानी के नाम से एक नया विवाद जुड़ गया है। इस बार राजधानी दिल्ली के एक पॉश इलाके में केंद्रीय मंत्री द्वारा कथित तौर पर पार्किंग शुल्क का भुगतान नहीं दिए जाने का मामला सामने आया है। बता दें कि पिछले दिनों ‘फेक न्यूज़ यानी फर्जी खबरों’ को लेकर पत्रकारों की मान्यता समाप्त करने वाले विवादित आदेश के बाद स्मृति ईरानी को सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय से मुक्त कर दिया गया था। ईरानी के पास अब केवल कपड़ा मंत्रालय की जिम्मेदारी है।

(Indian Express Photo/Prem Nath Pandey/File)

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, केंद्रीय मंत्री मंगलवार (24 जुलाई) को किसी काम से राजीव चौक के एरिया में आई हुईं थीं। इस दौरान ई ब्लॉक एरिया से पार्किंग शुल्क के भुगतान को लेकर ईरानी का एक पार्किंग अटेंडेंट से झड़प हो गई। रिपोर्ट के मुताबिक पार्किंग अटेंडेंट ने केंद्रीय मंत्री से पार्किंग शुल्क का भुगतान करने को कहा लेकिन उन्होंने पैसे देने से इनकार कर दिया।

जी न्यूज की रिपोर्ट के मुताबिक भुगतान को लेकर दोनों के बीच काफी बहस हुई। हालांकि काफी विवाद के बाद भी पार्किंग शुक्ल का भुगतान किए बिना ही केंद्रीय मंत्री चली गईं। बाद में मामले को रफा-दफा करवा दिया गया और फिलहाल दोनों पक्षों की तरफ से पुलिस में कोई शिकायत नहीं दी गई है।

वहीं, नवभारत टाइम्स के मुताबिक, मंगलवार दोपहर स्मृति ईरानी किसी काम से कनॉट प्लेस एरिया में आई हुईं थीं। उनके ड्राइवर ने उस दौरान गाड़ी एक पार्किंग लॉट में पार्क कर दी थी। लेकिन जब स्मृति लौटकर आईं और ड्राइवर उन्हें गाड़ी में बैठाकर पार्किंग से निकलने लगा, तो एक पार्किंग अटेंडेंट उनके ड्राइवर से पार्किंग स्लिप मांगने लगा। इस पर स्मृति के ड्राइवर ने कहा कि जब वह गाड़ी पार्क कर रहा था, तब किसी ने पार्किंग स्लिप ही नहीं काटी, लेकिन अटेंडेंट पार्किंग स्लिप दिखाने पर अड़ा हुआ था।

ड्राइवर ने बताया भी कि गाड़ी केंद्रीय मंत्री की है, लेकिन इसके बावजूद पार्किंग अटेंडेंट अड़ा रहा। इसे लेकर दोनों के बीच थोड़ी झड़प हो गई। उसी दौरान पास में खड़ी एक पुलिस जिप्सी में तैनात लेडी कॉन्स्टेबल ने एहतियातन 100 नंबर पर कॉल कर दी। मंत्री का मामला देख फौरन आसपास के एरिया से पुलिसवाले मौके पर पहुंच गए। हालांकि तब तक स्मृति ने दोनों को समझा बुझाकर मामला शांत करवा दिया और वहां से निकल गईं।

उधर पार्किंग शुल्क का भुगतान नहीं किए जाने को लेकर केंद्रीय मंत्री सोशल मीडिया यूजर्स के निशाने पर आ गई हैं। अन्य यूजर्स के अलावा कांग्रेस नेत्री व प्रवक्ता प्रियंका चतुर्वेदी ने इस खबर को शेयर करते हुए केंद्रीय मंत्री पर निशाना साधा है। प्रियंका का दावा है इस घटना का वीडियो ईनाडू ने पहले चलाया था जो बाद में ईरानी के दवाब में डिलीट कर दिया।

वहीं एक यूजर ने तंज सकते हुए लिखा है कि स्मृति ईरानी ने पार्किंग शुल्क का भुगतान ना कर ठीक किया है। क्योंकि भूमि देवी की मालिक बीजेपी ही है। ईरानी जी को भूमि देवी की गोद में गाड़ी पार्किंग के लिए पैसे देने की जरूर नहीं है। केवल एंटी नेशनल को भुगतान करना चाहिए।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here