सुरेंद्र सिंह हत्याकांड: स्मृति ईरानी बोलीं- ‘हत्यारों को फांसी दिलाने के लिए सुप्रीम कोर्ट तक जाऊंगी’, अमेठी में तनाव

0

अमेठी में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के कार्यकर्ता और केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी के खास करीबी सुरेंद्र सिंह की हत्या का मामला तूल पकड़ता जा रहा है। अमेठी से नवनिर्वाचित सांसद स्मृति ईरानी मृतक सुरेंद्र सिंह के शोक में डूबे परिवार से मिलने रविवार को उनके घर पहुंची और अंतिम यात्रा में सुरेंद्र सिंह की अर्थी को कंधा भी दिया। घटना की सूचना मिलने के बाद स्मृति रविवार सुबह फौरन दिल्ली से अमेठी पहुंचीं। जहां उन्होंने मृतक के परिजनों से मुलाकात की और सुरेंद्र के शव को कंधा दिया। इस दौरान यूपी के मंत्री मोहसिन रजा भी शव को कंधा देते नजर आए।

रविवार को अमेठी पहुंचकर स्मृति ईरानी ने सुरेंद्र सिंह की हत्या को लोगों को डराने और विघटित करने की साजिश करार दिया। इससे पहले सुरेंद्र सिंह के घर पहुंचीं स्मृति ने परिवार के लोगों से मुलाकात कर उन्हें ढांढस बंधाया और भरोसा दिलाया कि भाई के हत्यारों को फांसी की सजा दिलाने के लिए वह सुप्रीम कोर्ट तक जाएंगी। स्मृति ने पूर्व प्रधान के दोनों बेटियों के साथ ही उनकी पत्नी, मां, भाई व बेटे से मुलाकात कर उन्हें दिलासा दिया कि आज से यह परिवार मेरा है और इसकी जिम्मेदारी भी मेरी है।

स्मृति इरानी ने कहा, ‘मैंने सुरेंद्र सिंह के परिवार के सामने संकल्प लिया है कि जिसने गोली मारी, जिसने गोली चलाने का आदेश दिया, इन सभी अपराधियों को मौत की सजा दिलाने के लिए यदि सुप्रीम कोर्ट भी जाना पड़े तो बीजेपी के कार्यकर्ता सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा भी खटखटाएंगे। न्याय सुरेंद्र सिंह के परिवार को दिलवाएंगे।’ केंद्रीय मंत्री ने कहा कि बीजेपी का कार्यकर्ता, अमेठी का नागरिक आश्वस्त है कि हत्यारा पाताल में भी छिपा होगा तो उसे ढूंढ निकाला जाएगा।

वहीं, सुरेंद्र सिंह की पत्नी रुक्मणि सिंह ने कहा, ‘स्मृति इरानी मुझसे मिलीं और उन्होंने इस बात का आश्वासन दिया कि वह अपने बच्चों की तरह ही मेरे बच्चों का भी ख्याल रखेंगी। उन्होंने हमें सुरक्षा दिलाने की बात भी कही। यह एक राजनीतिक लड़ाई है, उन्होंने दीदी (स्मृति इरानी) की जीत में मदद की थी। यहां कई कांग्रेस कार्यकर्ता हैं।’

वहीं, गांव में तनाव को देखते हुए मौके पर फोर्स को तैनात किया गया है। पीएसी के अलावा बड़ी संख्या में पुलिसबल मौके पर पहले से ही मौजूद हैं। बता दें कि अमेठी से नवनिर्वाचित सांसद केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी के करीबी माने जाने वाले, बरौलिया गांव के पूर्व प्रधान की अज्ञात बदमाशों ने गोली मारकर कथित तौर पर हत्या कर दी।

अपर पुलिस अधीक्षक दया राम ने रविवार को बताया कि बरौलिया गांव के पूर्व प्रधान स्थानीय भाजपा नेता सुरेंद्र सिंह को शनिवार रात करीब साढ़े ग्यारह बजे अज्ञात बदमाशों ने गोली मार दी। उन्हें गंभीर हालत में इलाज के लिए लखनऊ भेजा गया, जहां उनकी मौत हो गई।

लखनऊ में उत्तर प्रदेश के पुलिस महानिदेशक ओ पी सिंह ने कहा, ‘हमें पुरानी रंजिश का पता चला है। हम यह भी पता कर रहे हैं कि कहीं कोई राजनीतिक दुश्मनी तो नहीं थी। उप्र पुलिस की टीमें सघन जांच कर रही हैं। अब तक हमने सात लोगों को हिरासत में लिया है। हमें इलेक्ट्राॉनिक सर्विलांस से कुछ महत्वपूर्ण तथ्य भी मिले हैं।’

लोकसभा चुनाव के दौरान जूता वितरण प्रकरण में सुरेंद्र सिंह काफी चर्चा में रहे थे। उन्हें स्मृति ईरानी का बेहद करीबी माना जाता था। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने स्मृति ईरानी पर बरौलिया गांव के लोगों को जूते बांटने का आरोप लगाते हुए इसे अमेठी के लोगों का अपमान बताया था। बरौलिया गांव को पूर्व रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर ने सांसद आदर्श ग्राम योजना के तहत गोद लिया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here