कन्हैया ने मांगा स्मृति ईरानी का इस्तीफा

0

जेएनयू स्टूडेंट यूनियन के अध्यक्ष कन्हैया कुमार ने मंगलवार को एक प्रदर्शन के दौरान मानव संसाधन मंत्री, स्मृति ईरानी से इस्तीफे की मांग की।

कन्हैया कुमार ने कहा कि उन्होंने “आज़ादी” के इस प्रदर्शन में इसलिए भाग लिया है ताकि वह स्मृति ईरानी और प्रशासन के सामने अपनी आवाज़ उठा सके।

मीडिया से बात करते हुए कन्हैया ने कहा कि उनहें कॉलेज प्रशासन की तरफ से कारण बताओ नोटिस जारी हुआ है लेकिन उसमे उनहें निष्काषित करने की बात नहीं लिखी है।

Also Read:  Karunanidhi seeks PM's intervention over IIT Madras row

जेएनयू के छात्र अनिर्बान और उमर खालिद की रिहाई और रोहित वेमुला कानून पास किए जाने के समर्थन में प्रदर्शन कर रहे थे। उन्होंने मंडी हाउस से पार्लियामेंट स्ट्रीट तक पैदल मार्च किया।

Also Read:  When angry Smriti Irani 'threatened' to close down AMU, asked VC 'who pays your salary'

अनिर्बान और खालिद को जेएनयू यूनिवर्सिटी के कैंपस में देश विरोधी गतिविधियों में शामिल रहने के आरोप में धारा 125ए के तहत हिरासत में लिया गया था।

जेएनयू द्वारा गठित पैनल ने कल कन्हैया सहित 4 छात्रों को निष्कासित करने की सिफारिश की थी। पैनल ने रिपोर्ट जमा करने के बाद उन छात्रों को अपना पक्ष रखने के लिए तीन मौका देने का निर्णय लिया था। लेकिन यूनिवर्सिटी के छात्रों का कहना है कि दुबारा से रिपोर्ट बनायीं जाये जिसमे ताज़ा मामलों को भी नज़र में रखा जाए।

Also Read:  Campus revolution under Smriti Irani, BHU to hire experts to teach students about ill-effects of western culture

फ़िलहाल यूनिवर्सिटी ने छात्रों की मांग को मानने से इंकार कर दिया है और कहा है कि तीन मौकों के बाद छात्र के खिलाफ कोई कार्यवाही की जाएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here