गुजरात में केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी पर गुस्साएं किसान ने फेंकीं चूड़ियां

0

गुजरात के अमरेली शहर में एक कार्यक्रम को संबोधित कर रहीं केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी पर चूड़ियां फेंकने के मामले में पुलिस ने एक व्यक्ति को हिरासत में लिया है। पुलिस ने बताया कि तकरीबन 20 साल की उम्र के व्यक्ति की पहचान अमरेली जिला के मोटा भंडारिया गांव निवासी केतन कासवाला के तौर पर हुई है।

स्मृति ईरानीपीटीआई की ख़बर के मुताबिक, अमरेली के पुलिस अधीक्षक र्एसपी जगदीश पटेल ने बताया कि घटना शाम को उस वक्त हुई जब केंद्रीय कपड़ा मंत्री नरेंद्र मोदी सरकार के तीन साल पूरे होने के उपलक्ष्य में आयोजित एक समारोह में आए लोगों को संबोधित कर रही थीं। कासवाला ने केंद्रीय मंत्री पर चूड़ी फेंकते हुए वंदे मातरम के नारे लगाए।

कासवाला के चूड़ी फेंकने की घटना पर कांग्रेस ने कहा कि वह वास्तव में किसानों की कर्ज माफी की मांग कर रहा था।
बहरहाल मंत्री ने पुलिस से अनुरोध किया कि वे कासवाला को कार्यक्रम में हिस्सा लेने दें और यहां तक कि उन्होंने पुलिस कर्मियों से यह भी कहा कि वे कासवाला को चूड़ियां फेंकने दें, जिन्हें वह उसकी पत्नी को उपहार में भेज देंगी।

बता दें कि, इससे पहले लखनऊ के रहने वाले पूर्व अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ी अजीत वर्मा ने स्मृति ईरानी को एक हजार रुपये का चैक भेजा था। ये चैक स्मृति ईरानी को इस खिलाड़ी ने इसलिए भेजा था, जिससे की वह इन रुपयों से चूड़ियाँ खरीद कर PM मोदी को भेंट कर सकें। अजीत वर्मा ने स्पीड पोस्ट से हजार रुपये का चैक स्मृति ईरानी को भेजा।

उन्हें उम्मीद थी कि इस चैक के माध्यम से सरकार हमारे सैनिको पर ध्यान देगी। अजीत ने बताया कि अभी तक स्मृति ईरानी या सरकार के अन्य विभाग की और से उन्हें इस बाबत किसी भी प्रकार से सूचित नहीं किया गया है, लेकिन वह उम्मीद करते है कि कपड़ा मंत्री इस बात को लेकर प्रधानमंत्री को अवगत करायेगी।

अजीत वर्मा ने 2001 में एशियन क्रांस क्रंटी दौड़ (8 किलोमीटर) में देश के लिए सिल्वर मेडर जीता है। ‘जनता का रिपोर्टर’ से बात करते हुए अजीत ने बताया था कि वह सरकार या प्रधानमंत्री का विरोध नहीं कर रहे बल्कि वह चाहते है कि सरकार इस पर ध्यान दे। अजीत ने कहा कि जो सैनिक शहीद हो रहे है वो भी किसी के बेटे है, भाई है और गरीब परिवारों से है, कब तक इनकी कुर्बानियां ऐसे ही दी जाती रहेगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here