‘अच्छे दिन’ का रहस्य, मतदाताओं को बेचा गया जुमला : सीताराम येचुरी

0

“अच्छे दिन के सरकार की ‘गर्दन का बोझ बनने’’ संबंधी केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी के बयान के सुर में सुर मिलाते हुए माकपा महासचिव सीताराम येचुरी ने कहा कि मतदाताओं को ‘‘बेचा गया जुमला’’ अब सत्तारूढ़ भाजपा के ‘गले में अटकी हड्डी’ बन गया है.

Also Read:  गुजरात चुनाव: जनता की प्रतिक्रियाओं से 'हताश' BJP ने तैयार किया प्लान बी, मनसुख मांडविया हो सकते हैं CM उम्मीदवार

भाषा की खबर के अनुसार, येचुरी ने ट्विटर पर कहा, लापता अच्छे दिन का रहस्य: मतदाताओं को बेचा गया जुमला, अब भाजपा के गले में अटकी हड्डी बन गया है. गडकरी ने कल मुंबई में एक समारोह में कहा था कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का ‘अच्छे दिन’ का मशहूर नारा दरअसल पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने दिया था, लेकिन यह नारा अब मोदी सरकार की गर्दन का ‘बोझ’ बन गया है।

Also Read:  नोटों की सर्जिकल स्ट्राईक पर क्या बोला बाॅलिवुड, अमिताभ ने कहा ये मोदी जी का पिंक इफैक्ट है

उन्होंने कहा था, अच्छे दिन मानने से होता है. दिल्ली में एक एनआरआई समारोह में मनमोहन सिंह ने कहा था कि ‘अच्छे दिन आएंगे’. केंद्रीय मंत्री ने कहा, जब पूछा गया कि ‘अच्छे दिन’ कब आएंगे, तो सिंह ने जवाब दिया था – ‘भविष्य में’. मोदी जी ने यही बात कही और अब यह हमारी गर्दन का ‘बोझ’ बन गया है.

Also Read:  RSS प्रचारक बोले- भैंस और जर्सी गाय का दूध पीने से बढ़ रहा अपराध का ग्राफ

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here