केरल में पार्टी कार्यकर्ता की हत्या के विरोध में बीजेपी की हड़ताल शुरू

0

केरल के कन्नूर के पिनारेई में अपने 25 वर्षीय कार्यकर्ता की निर्मम हत्या के खिलाफ भाजपा द्वारा बुलाई गई 12 घंटे की राज्यव्यापी हड़ताल गुरुवार सुबह शुरू हो गई।

इसके चलते बसें और ऑटोरिक्शा सड़कों से नदारद रहे। शुरूआती रिपोर्टों में कहा गया कि राजनीतिक रूप से संवेदनशील उत्तरी जिले कन्नूर समेत राज्य के किसी भी हिस्से में किसी अप्रिय घटना की खबर नहीं है. कन्नूर में बड़ी संख्या में पुलिसबल गश्त कर रहा है।

PHOTO COURTESY: NDTV
PHOTO COURTESY: NDTV

केरल के मुख्यमंत्री पिनारेई विजयन के गृहनगर में बुधवार को भाजपा के कार्यकर्ता रेमिथ की हत्या कर दी गई थी. उसकी हत्या कन्नूर जिले के पथिरियाड में छह सदस्यों वाले एक गिरोह द्वारा माकपा के कार्यकर्ता और दुकान पर काम करने वाले मोहनन (40) की हत्या के 48 घंटे के भीतर कर दी गई थी।

रेमिथ के शव को कोझिकोड मेडिकल कॉलेज अस्पताल में पोस्टमार्टम के बाद गुरुवार सुबह कन्नूर लाया जाएगा और साढ़े दस बजे थालासेरी के नए बस अड्डे पर रखा जाएगा ताकि लोग अंतिम संस्कार से पहले श्रद्धांजलि दे सकें।

बीते तीन दिनों में कन्नूर जिले में यह दूसरी हड़ताल है. माकपा ने अपने कार्यकर्ता की हत्या के खिलाफ प्रदर्शन करते हुए हड़ताल की थी।

नॉर्दर्न रेंज के पुलिस महानिरीक्षक दीनेंद्र कश्यप ने पीटीआई भाषा को बताया कि 2000 से ज्यादा पुलिसकर्मी कन्नूर में लगाए गए हैं. जो पुलिसकर्मी छुट्टी पर गए हुए थे, उन्हें भी ड्यूटी पर पहुंचने के लिए कहा गया. उन्होंने कहा कि माहौल तनावपूर्ण है और जिस स्थान पर शव को श्रद्धांजलि के लिए रखा जाना है, वहां ज्यादा पुलिसकर्मी तैनात किए गए हैं।

इसी बीच, पुलिस ने रेमिथ पर हमले के सिलसिले में 10 माकपा कार्यकर्ताओं के खिलाफ मामले दर्ज किए हैं. मामले की जांच के लिए पुलिस उपनिरीक्षक (प्रशासन) टी पी रंजीत के नेतृत्व में एक विशेष दस्ते का गठन किया गया है।

पुलिस ने राज्य के विभिन्न हिस्सों से ट्रेन लेकर राजधानी स्थित रीजनल कैंसर सेंटर हॉस्पिटल में इलाज करवाने के लिए आने वाले मरीजों को ले जाने के लिए विशेष इंतजाम किए हैं।
भाजपा के कार्यकर्ता सुबह 11 बजे सचिवालय तक मार्च निकालेंगे।

केरल, कन्नूर, कालीकट और कोचीन विविद्यालयों द्वारा आज होने वाली परीक्षाओं को हड़ताल के चलते स्थगित कर दिया गया है.

भाषा की खबर के अनुसार, भाजपा कार्यकर्ता की हत्या पर प्रतिक्रिया जताते हुए पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने ट्वीट किया था, ‘‘मुख्यमंत्री पिनारेई विजयन के गृह निर्वाचनक्षेत्र में भाजपा कार्यकर्ताओं पर हमले गंभीर चिंता का विषय हैं और इसमें राजनीतिक साजिश की बू आती है।’’

शाह ने ट्वीट किया था, ‘‘रेमिथ के पिता, चावासेरी उत्तमन की भी साल 2002 में ऐसे ही हत्या की गई थी. हाल ही में जब रेमिथ के घर पर हमला किया गया, तो उसकी मां को गंभीर चोटें आईं।’’

माकपा के महासचिव सीताराम येचुरी ने कहा था कि केरल में हिंसा की शुरूआत आरएसएस-भाजपा के गठजोड़ ने ही की है और अब वह इसके लिए राज्य की सत्ताधारी पार्टी को दोषी ठहराना तथ्यों को ‘तोड़ना-मरोड़ना’ है।

विजयन ने राज्य में बढ़ती हिंसा के लिए बुधवार को आरएसएस पर निशाना साधा था और आरोप लगाया था कि ऐसा केंद्र में भाजपा की सरकार की मदद से किया गया।

अलपुझा में एक समारोह के दौरान विजयन ने दो दिन पहले कन्नूर में मार्क्‍सवादी कार्यकर्ता पर किए गए हमले के लिए आरएसएस और भाजपा पर निशाना साधा था और आरएसएस पर राज्य में हिंसा फैलाने का आरोप लगाया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here