महाराष्ट्र: इज्तिमा में जाने वाले मुस्लिम श्रद्धालुओं से शिवसेना ने की दुआ की दरख्वास्त

0

महाराष्ट्र के औरंगाबाद में तीन दिन तक चलने वाले इज्तिमा को लेकर लोग काफी उत्साहित हैं, इसमें पूरी दुनिया से मुस्लिम समुदाय के लोग इकठ्ठा हो रहे हैं जिसके लिए आयोजकों ने हर प्रकार की सुविधा के इंतजाम कर रखे हैं।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, बताया जा रहा है कि इज्तिमा में आने वाले वाहनों को शिवसेना ने टोल फ्री कर दिया है। ताकि इज्तिमा में आने जाने वालों को किसी भी प्रकार की दिक्कत का सामना ना करना पड़े। इसके अलावा जगह-जगह पर पोस्टर लगाकर इज्तिमा में आने वाले लोगों से दुआ की दरख्वास्त की गई है।

इन पोस्टर पर बाल ठाकरे, उद्धव ठाकरे और आदित्य ठाकरे की फोटो लगी है, जिस पर लिखा है इज्तिमा में जाने वाले सभी भाइयों से दुआ दरख्वास्त। बताया जा रहा है कि यह कार्यक्रम 25 फरवरी को समाप्त हुआ था, इसमें लगभग 50 लाख तीर्थयात्रियों ने भाग लिया था।

बता दें कि, शिवसेना की छवि एक कट्टर हिंदूवादी सन्गठन और राजनीतिक पार्टी में होती रही है। वैसे में इज्तिमा में जाने वाले सभी भाइयों से दुआ की दरख्वास्त वाले ये होर्डिंग शिवसेना की पॉलिसी में बदलाव को दर्शाने का काम कर रहे हैं।

बता दें कि, सोशल मीडिया पर शिवसेना का यह पोस्टर तेजी से वायरल हो रहा है। पोस्टर वायरल होने के बाद लोगों का कहना है कि यह देखकर आज बाला साहेब की आत्मा रो रही होगी।

वहीं, मुंबई की ब्लॉगर सोनम महाजन ने ट्वीट करते हुए लिखा कि, ‘उद्धव और आदित्य ठाकरे मुस्लिम तीर्थयात्रियों से शिव सेना के लिए प्रार्थना करने की सिफारिश कर रहे हैं।’ वहीं, सोनम के ट्वीट पर कई लोग अपनी प्रतिक्रिया दे रहे हैं और शिवसेना को खरी-खोटी सुना रहे हैं।

वहीं, एक यूजर ने सोनम के ट्वीट पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए लिखा कि, ‘हिन्दु शेर स्वर्गीय श्री बाला साहेब ठाकरे जी की आत्मा यह देख कर रो रही होगी कि उनके बाद ये लोग भीख मांगने उतर गये, जिनको वो एक ललकार में पेशाब करवा देते थे।’

देखिए कुछ ऐसे ही ट्विट्स :

बता दें कि, अभी कुछ दिन पहले ही शिवसेना ने 2019 के लोकसभा और विधानसभा चुनावों में बीजेपी के साथ गठबंधन नहीं करने की घोषणा की थी। गौरतलब है कि, शिवसेना केंद्र की मोदी सरकार की नीतियों की नियमित रूप से आलोचना करता रहा है।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here