शिवसेना ने एक बार फिर की कांग्रेस अध्यक्ष की तारीफ, कहा- राहुल ने ‘कांग्रेस मुक्‍त भारत’ का सपना देखने वालों को दिया माकूल जवाब

0

केंद्र और महाराष्ट्र में भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) की सहयोगी पार्टी शिवसेना ने एक बार फिर से कांग्रेस अध्यक्ष व अमेठी से सांसद 47 वर्षीय राहुल गांधी की तारीफ की है।

शिवसेना
photo- @INCIndia

जनसत्ता.कॉम की ख़बर के मुताबिक, शिवसेना के वरिष्‍ठ नेता संजय राउत ने राहुल गांधी की तारीफ करते हुए भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) पर निशाना साधा है। उन्‍होंने कहा कि गुजरात विधानसभा चुनाव में राहुल गांधी ने अपनी पार्टी को जीत दिलाने में भले ही असफल रहे हों, लेकिन उन्‍होंने यह सुनिश्‍चित किया कि कांग्रेस एक विजेता के तौर पर सामने आई है।

रिपोर्ट के मुताबिक, संजय राउत ने स्‍पष्‍ट किया क‍ि यदि राहुल के नेतृत्‍व में एक मजबूत विपक्ष सामने आता है तो शिवसेना उसका स्‍वागत करेगी। महाराष्‍ट्र कांग्रेस ने शिवसेना के रुख में बदलाव का स्‍वागत करते हुए कहा कि विपक्षी दल भी राहुल के सकारात्‍मक नेतृत्‍व को महूसस करने लगे हैं।

जनसत्ता.कॉम की ख़बर के मुताबिक, संजय राउत ने अपने साप्‍ताहिक कॉलम में कांग्रेस नेता की तारीफ की है। उन्‍होंने लिखा, ‘पप्‍पू कह कर जिसका मजाक उड़ाया जाता था उसी राहुल गांधी ने जीत को सत्‍ता से जोड़ने और उसे खरीदने की धारणा को तोड़ा है। गुजरात चुनाव पीएम मोदी और राहुल गांधी के बीच था। उन्‍होंने बीजेपी और प्रधानमंत्री को पसीना बहाने पर मजबूर कर दिया।

राहुल ने ‘कांग्रेस मुक्‍त भारत’ का सपना देखने वालों को भी माकूल जवाब दिया है। उन्‍होंने राख में तब्‍दील कांग्रेस को बाहर निकाला है।’ शिवसेना नेता ने कहा कि उत्‍तर प्रदेश में सफलता हासिल करने के लिए कांग्रेस ने समाजवादी पार्टी से हाथ मिलाया था। वहां उन्‍हें असफलता मिली थी तो उन्‍हें मूर्ख अैर असफल कहा जाने लगा था। बकौल राउत, गुजरात चुनाव ने उनकी असफलता के सिलसिले को तोड़ा है।

जनसत्ता की रिपोर्ट के मुताबिक, शिवसेना नेता संजय राउत ने भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह पर भी हमला बोला। शिवसेना नेता ने लिखा, ‘उन्‍होंने (अमित शाह) कहा था कि यदि बीजेपी 150 से कम सीट (गुजरात चुनाव) जीतती है तो जश्‍न नहीं मनाया जाना चाहिए।

हालांकि, बीजेपी को सौ से भी कम सीटें मिलीं जो यह साबित करता है कि राहुल गांधी वर्ष 2019 के चुनावों में चुनौती बने रहेंगे।’

बता दें कि, महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव के बाद से ही शिवसेना और बीजेपी के बीच की दरारें लगातार बढ़ती जा रही हैं, जो कम होने का नम ही नहीं ले रहीं है। बता दें कि, यह कोई पहली बार नहीं है कि शिवसेना ने राहुल गांधी की तारीफ की हो।

इससे पहले भी शिवसेना ने राहुल गांधी की प्रशंसा की थी और कहा था कि राहुल में यह क्षमता है कि वह देश को नेतृत्व प्रदान कर सकें। शिवसेना सांसद संजय राउत ने एक टीवी कार्यक्रम में कहा था कि कांग्रेस ने उनमें अपना नेतृत्व ढूंढा है। उन्होंने कहा कि राहुल गांधी को ‘पप्पू’ कहना गलत है, अब वो पप्पू नहीं हैं।

उन्होंने कहा कि पिछले दिनों गुजरात की रैलियों में जिस तरह से राहुल एक के बाद एक तंज कस रहे हैं और अपनी बात रख रहे हैं वो ये समझने के लिए काफी है कि वो एक मैच्योर नेता हैं।

बता दें कि 2014 के लोकसभा चुनाव बीजेपी नेताओं ने राहुल गांधी को ‘पप्पू’ कहकर खूब मजाक उड़ाए थे। दरअसल, पिछले कुछ महीनों से माइक्रो ब्लोगिंग साइट ट्विटर पर राहुल गांधी की सक्रियता और उनकी लोकप्रियता में काफी तेजी से इजाफा देखने को मिला है।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here