विधानसभा चुनावों में कांग्रेस के शानदार प्रदर्शन पर शिवसेना ने मोदी सरकार पर साधा निशाना

0

पांच राज्य विधानसभाओं (राजस्थान, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, तेलंगाना और मिजोरम) के लिए संपन्न चुनावों में डाले गए मतों की मंगलवार (11 दिसंबर) सुबह आठ बजे से कड़ी सुरक्षा के बीच गणना जारी है। इन पांचों राज्यों के परिणामों को अगले साल 2019 में होने वाले लोकसभा चुनाव का सेमी फाइनल कहा जा रहा है। इन राज्यों के विधानसभा चुनाव में कांग्रेस के ‘अच्छे दिन’ आते दिख रहे हैं।

शिवसेना

राजस्थान और छत्तीसगढ़ में कांग्रेस सरकार बनने के संकेत हैं, जबकि मध्य प्रदेश में कांग्रेस और बीजेपी के बीच कांटे की टक्कर दिख रहा है। मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ और राजस्थान के विधानसभा चुनाव में कांग्रेस के शानदार प्रदर्शन की पृष्ठभूमि में कई प्रमुख विपक्षी दलों के नेताओं ने मंगलवार (11 दिसंबर) को कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के नेतृत्व की सराहना की और कहा कि ‘राष्ट्रीय क्षितिज’ पर वह तेजी से उभर रहे हैं।

इस बीच इन राज्यों के रुझानों पर केंद्र में एनडीए की सहयोगी और महाराष्ट्र में भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) सरकार में साथ देने वाली शिवसेना ने मोदी सरकार पर निशाना साधा है। शिवसेना के सांसद व प्रवक्ता संजय राउत ने कहा कि मैं नहीं मानता कि ये कांग्रेस की जीत है, लेकिन यह बीजेपी सरकार के खिलाफ जनता का आक्रोश है। इस पर आत्मनिरीक्षण किया जाना चाहिए।

आपको बता दें कि अगल-अलग राज्यों में मतदान कई चरणों में सम्पन्न हुआ था। छत्तीसगढ़ में 18 सीटों के लिए 12 नवंबर तथा 72 सीटों के लिए 20 नवंबर को मतदान हुआ था। मध्य प्रदेश में 230 सीटों के लिए तथा मिजोरम में 40 सीटों के लिए 28 नवंबर को मतदान हुआ था। राजस्थान में 199 सीटों तथा तेलंगाना में 119 सीटों के लिए सात दिसंबर को मतदान हुआ था। इन विधानसभाओं के लिए 8,500 से ज्यादा उम्मीदवार मैदान में हैं। पांच राज्यों में कुल 678 सीटों पर मतदान हुआ था। राजस्थान की एक सीट पर एक उम्मीदवार की मौत के कारण चुनाव रद्द हो गया था।

पांच राज्यों के विधानसभा चुनाव को 2019 में होने वाले आम चुनाव के लिहाज से सेमीफाइनल माना जा रहा है। कांग्रेस का यह कहना है कि राजस्थान, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, तेलंगाना और मिजोरम से मिलने वाला जनादेश केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार के खिलाफ ‘‘स्पष्ट संदेश’’ देगा। बीजेपी नेताओं ने कांग्रेस को बढ़त दिखाने वाले एग्जिट पोल के परिणामों को नकार दिया है। मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ में बीजेपी चौथी बार सत्ता में आने का प्रयास कर रही है जबकि राजस्थान में उसके सामने सत्ता में काबिज रहने की चुनौती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here