प्रियंका गांधी के साथ यूपी पुलिस ने की बदसलूकी, शत्रुघ्न सिन्हा ने पीएम मोदी पर साधा निशाना

0

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा के साथ पुलिस की कथित बदसलूकी का मामला तूल पकड़ता जा रहा है। इस मामले पर अब भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के पूर्व नेता और दिग्गज अभिनेता शत्रुघ्न सिन्हा ने भी अपनी प्रतिक्रिया दी है। शत्रुघ्न सिन्हा ने अपने ट्वीट के जरिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधा है।

शत्रुघ्न सिन्हा
फाइल फोटो

शत्रुघ्न सिन्हा ने रविवार (29 दिसंबर) को ट्वीट कर कहा, “सर, विनम्रता से, मैं आशा करता हूं, कामना करता हूं और प्रार्थना करता हूं कि शांति, सुरक्षा, एकता के लिए विशेष रूप से महिलाओं की सुरक्षा के लिए आपके अच्छे भाव लोगों पर हावी रहें। आपका सबसे चर्चित स्लोगन ‘बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ’ आपके उपदेशों के विपरीत हैं।”

शत्रुघ्न सिन्हा ने अपने ट्वीट में आगे कहा, “पुलिस ने बेटी प्रियंका गांधी वाड्रा के साथ दुर्व्यवहार किया, जो की देश के प्रसिद्ध ‘गांधी नेहरू’ परिवार से ताल्लुक रखती हैं। ये सब तब हुआ जब वह लखनऊ में CAA विरोध के दौरान मारे गए, गिरफ्तार किए गए परिवारों से मिलने जा रही थीं। इसमें पूर्व आईपीएस के परिवार वाले भी शामिल थे।”

उन्होंने आगे कहा, “वह भी एक लोकतंत्र में, यह सोच भी नहीं सकता कि आम जनता किन परिस्थितियों का सामना करती होगी। सबसे पहले, आपने VIP की सुरक्षा को धीरे-धीरे हटाया / घटाया, लेकिन निश्चित रूप से अपनी सुरक्षा को बढ़ा दिया, फिर गांधी परिवार के SPG कवर को हटा दिया और अब, आपके सरकार के निर्देशों के तहत यूपी पुलिस ने उनसे इस तरह का दुर्व्यवहार किया। यह बेहद निंदनीय है।”

शत्रुघ्न सिन्हा ने अपने टेवीट में आगे कहा, “प्रियंका गांधी वाड्रा के साथ हुए इस बर्ताव के साथ भी वह टू-व्हीलर पर प्रतिबद्धता और समर्पण के साथ उन लोगों से मिलने गईं। यह आपके जोखिम, कार्रवाई और प्रतिक्रिया के लिए है। ऐसे, क्षति नियंत्रण नहीं होता सर।” उन्होंने आगे लिखा, “जितना हम न्यू ईयर के नजदीक जा रहे हैं उतनी ही हम अपने हदें पार कर रहे हैं। नए साल में हम सभी के लिए क्या है जो केवल भगवान ही जानता है? लंबे समय तक लोकतंत्र! जय हिन्द।”

पुलिस के इस व्यवहार से परेशान हूं: रॉबर्ट वाड्रा

वहीं, प्रियंका गांधी के पति और व्यवसायी रॉबर्ट वाड्रा ने भी इस मामले पर अपनी प्रतिक्रिया दी है। रॉबर्ट वाड्रा ने कहा, “प्रियंका से जिस तरह महिला पुलिस से बदसलूकी की उससे मैं बेहद परेशान हूं। एक ने उनका गला दबाया तो दूसरी महिला पुलिस ने उनको धक्का दिया और वह नीचे गिर गई। हालांकि, वह दृढ़ थी और उसने पूर्व आईपीएस अधिकारी एसआर दारापुरी के परिवार के सदस्यों से मिलने के लिए दोपहिया वाहन पर यात्रा की। प्रियंका मुझे आप पर गर्व है कि जिन लोगों को आपकी जरूरत है आप उन लोगों तक पहुंची। आपने जो किया वह सही था और जरूरतमंद लोगों के साथ या दुःख में होना कोई अपराध नहीं है।”

जानिए क्या है मामला

बता दें कि, प्रियंका गांधी ने शनिवार को नागरिकता संशोधन कानून के बाद उपजी हिंसा को भड़काने के आरोप में गिरफ्तार किए गए पूर्व आईपीएस एस.आर. दारापुरी के परिजन से मुलाकात के लिए गई थी। इस दौरान कुछ देर के लिए प्रियंका को पुलिस ने रोक लिया था। प्रियंका ने पुलिस पर गला दबाने और धक्का देकर गिराने का गंभीर आरोप लगाया है।

प्रियंका ने पुलिस पर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा था कि, रास्ते में पुलिस की गाड़ी अचानक आगे आई और रोक लिया। पुलिस ने कहा कि जाने नहीं देंगे। मैं उतरकर पैदल चलने लगी तो पुलिस ने मुझे गला दबाकर रोका, मुझे पकड़कर धकेला गया, इसके बाद गिर गई थी। मुझे लेडी पुलिस अधिकारी ने रोका था। इसके बाद मैं पार्टी के एक कार्यकर्ता के साथ स्कूटी पर बैठकर जाने लगी तो फिर पुलिस ने रोका।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here