बीजेपी नहीं चाहती थी कि अविश्वास प्रस्ताव के माध्यम से संसद के भीतर सरकार की कमियों को लेकर चर्चा हो: शशि थरूर

0

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और केरल की तिरुअनंतपुरम सीट से लोकसभा सांसद शशि थरूर ने कहा है कि संसद में विरोध सरकार द्वारा प्रयोजित विरोध था, क्योंकि सरकार चर्चा से भागना चाह रही थी।

शशि थरूर
फाइल फोटो- कांग्रेस सांसद शशि थरूर

समाचार एजेंसी भाषा की ख़बर के मुताबिक, कांग्रेस सांसद शशि थरूर ने बुधवार(11 अप्रैल) को रायपुर में संवाददाताओं से बातचीत के दौरान कहा कि संसद को कांग्रेस ने बाधित किया है, यह आरोप बेबुनियाद है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस के सांसद अपनी जगह पर थे। हम आसन के सामने नहीं गए थे। लेकिन वहां विरोध बीजेपी के एनडीए के साथी ही कर रहे थे।

वहां तेलगु देशम पार्टी के सदस्य आंध्र प्रदेश को विशेष दर्जा देने की मांग कर रहे थे। 10 दिन के बाद जब वे लोग शांत हुए तब एआईएडीएमके के सांसद कावेरी विवाद को लेकर आ गए। एआईएडीएमके तमिलनाडु में बीजेपी की मदद से चल रही है। अभी तक इन दलों ने कोई भी विरोध नहीं किया था।

शशि थरूर ने आगे कहा कि, उन्हें लग रहा है कि यह सरकार द्वारा प्रायोजित विरोध है। जैसे वह प्रवासी भारतीयों के लिए प्राक्सी वोटिंग चाहते हैं। इसी तरह संसद के भीतर भी उन्होंने प्राक्सी विरोध करवा दिया।

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता ने कहा कि बीजेपी नहीं चाहती थी कि अविश्वास प्रस्ताव के माध्यम से संसद के भीतर सरकार की कमियों को लेकर चर्चा हो। संख्या बल के आधार पर बीजेपी अविश्वास प्रस्ताव में जीत हासिल करती। लेकिन वह चर्चा नहीं चाहते थे। वह नहीं चाहते थे कि देश सरकार के खिलाफ आरोपों को सुने।

कांग्रेस सांसद शशि थरूर ने आगे कहा कि केंद्र सरकार को चार साल हो गए हैं। कहां आए हैं अच्छे दिन। यही कारण है कि वह चर्चा नहीं चाहते थे।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here