राहुल गांधी का मजाक उड़ाने की BJP की तरकीब अब कारगर नहीं: थरूर

0

पूर्व केंद्रीय मंत्री और कांग्रेस सांसद शशि थरूर ने कहा है कि भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) राहुल गांधी का ‘मजाक बनाने में बहुत हद तक सफल रही’ लेकिन यह तरीका अब कारगर नहीं रहा, क्योंकि लोग कांग्रेस उपाध्यक्ष को अब ‘प्रभावी प्रतिद्वंद्वी’ के तौर पर देख रहे हैं।

Express Photo/Prem Nath Pandey

कांग्रेस सांसद ने कहा कि पिछले कुछ महीनों में समूचे परिदृश्य में ‘बहुत स्पष्ट फर्क’ आया है और लोग नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली बीजेपी सरकार की कार्यप्रणाली को लेकर खुलेआम अपना ‘संशय’ जाहिर कर रहे हैं। तिरूवनंतपुरम से लोकसभा सांसद ने कहा कि लोग कांग्रेस को बीजेपी के उपयुक्त विकल्प के तौर पर देखना चाहते हैं।

न्यूज एजेंसी भाषा के मुताबिक, थरूर ने एक इंटरव्यू के दौरान कहा कि बीजेपी पूर्व में राहुल गांधी का मजाक बनाने में बहुत हद तक सफल रही थी। वह चीज अब बहुत अधिक कारगर नहीं रही, क्योंकि राहुल गांधी को बीजेपी के प्रभावी प्रतिद्वंद्वी के तौर पर देखा जा रहा है…सोच में जो बदलाव आया है, वो अगर जारी रहा तो चीजें कांग्रेस के पक्ष में जा सकती हैं।

थरूर ने कहा कि पंजाब के गुरदासपुर में कांग्रेस और केरल के वेंगारा में उसके सहयोगी दल की हालिया जीत से परिवर्तन नजर आ रहा है। उन्होंने दावा किया कि केरल और गुजरात में यात्रा निकालने की बीजेपी की कोशिश ‘पूरी तरह विफल’ रही।

61 वर्षीय नेता ने कहा कि, ‘‘मैं भी यह महसूस कर रहा हूं कि लोगों ने यह पूछना शुरू कर दिया है कि सरकार अपने वादों को पूरा करने के लिए क्या कर रही है… इस बात को लेकर कोई संदेह नहीं है कि लोग हमें अप्रैल या मई 2014 की तुलना में अधिक संभावना के साथ देख रहे हैं।’’

पिछले महीने अमेरिका में कैलिफोर्निया विश्वविद्यालय में छात्रों को संबोधित करते हुए कांग्रेस उपाध्यक्ष ने कहा था कि दूसरे राजनीतिक खेमे द्वारा उनके खिलाफ चलाए गए अभियान से ऐसी धारणा बनी कि वह एक अनिच्छुक राजनेता हैं। बीजेपी की सोशल मीडिया इकाई का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा था कि कंप्यूटर पर बैठी एक हजार लोगों की ‘मशीन उनके बारे में उल्टे-सीधे दुष्प्रचार करती रहती है।

एक सवाल पर थरूर ने कहा कि राहुल गांधी के पार्टी अध्यक्ष पद संभालने से पार्टी में ‘‘नयी ऊर्जा’’ का संचार होगा। उन्होंने कहा कि आम चुनाव में अभी भी समय है, लेकिन कांग्रेस की विश्वसनीयता बढ़ रही है। उन्होंने दलील दी ‘‘मेरी अंत: प्रेरणा कहती है कि हम ठीक कर रहे हैं…अगले 12 महीने में कुछ साफ रूझान स्पष्ट तौर पर सामने आएगा।’’

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here