गैंगस्टर विकास दुबे की गिरफ्तारी पर शहीद CO देवेंद्र मिश्रा के रिश्तेदार ने उठाया सवाल, बोले- उसको मौत से बचाया गया

0

उत्तर प्रदेश के कानपुर में आठ पुलिसकर्मियों की हत्या के मुख्य आरोपी गैंगस्टर विकास दुबे की गिरफ्तारी उज्जैन में होने के बाद शहीद सीओ देवेंद्र मिश्रा के स्वजन ने सवाल उठाए हैं। दिवंगत सीओ के साढ़ू कमलाकांत दुबे कहा कि विकास को मौत से बचाया गया है।

विकास दुबे

कमलाकांत ने गुरुवार को पत्रकारों से बातचीत में कहा, “इतने सुनियोजित ढंग से आत्मसमर्पण हो गया। अभी 12 घंटे पहले वह फरीदाबाद में था। फिर वह महाकाल पहुंच गया। जिस ढंग से उसकी गिरफ्तारी हुई है, क्या नहीं लगता कि उसके सिर पर सरपरस्ती बरकरार है। उसको मौत से बचाया गया है।” उन्होंने आगे कहा, “देवेंद्र मिश्रा सहित आठ पुलिस वालों की जो हत्या हुई है, वह अकेले विकास दुबे ने नहीं की है, या उसके गैंग ने नहीं की है। उसके सरपरस्त इन हत्याओं में बराबर के भागीदार थे। जो अब तक उसे बचाते रहे हैं, उन्हीं की सलाह पर विकास दुबे ने सरेंडर किया है। मैं इसे पकड़ना नहीं कहूंगा। मीडिया वालों को बुलाकर कोई ऐसे गिरफ्तारी करता है। उसको मौत से बचाया गया है। उसे विश्वास था कि उसे बचा लिया जाएगा।”

कमलाकांत ने कहा कि पुलिस विभाग में सभी गलत नहीं होते। इसमें कुछ लोग पैसा लेकर कर्तव्यहीनता करते हैं। नेताओं का धर्म समाज की सेवा है। मगर वे भी अपराधियों से हाथ मिला लेते हैं। अधिकारी, नेता, अपराधी जब हाथ मिला लेते हैं, तब ऐसी घटनाएं होती हैं। शहीद सीओ के साढ़ू ने कहा, “विकास दुबे का नेटवर्क सक्रिय है, वरना इतने सारे राज्यों की पुलिस अलर्ट रहते हुए, सारे राज्यों की एसटीएफ के एक्शन में रहते हुए एक अपराधी महाकाल मंदिर में जाकर दर्शन के टिकट कटा रहा था, कहां थे सब लोग? उसके बाद गार्ड फोन कर रहे हैं। पुलिस जब पहुंच रही है तो मीडिया वालों को लेकर पहुंच रही है। दुर्दांत अपराधी की क्या इस तरह गिरफ्तारी होती है?”

उन्होंने कहा, “मैं पुलिस वालों पर आरोप नहीं लगा रहा हूं, यह तंत्र पर सवाल है। इस तरह की सरपरस्ती से समाज को नुकसान हो रहा है। ऊपर सरपरस्त होते हैं तो अपराधी का राज जेल से भी चलता है।” बता दें कि, गैंगस्टर विकास दुबे की गिरफ्तारी के साथ ही सवाल उठने भी शुरू हो गए हैं। एक ओर पुलिस इसे गिरफ्तारी बता रही है तो वहीं दूसरी ओर विपक्षी दल इसे फिक्स सरेंडर कह रहे हैं।

गौरतलब है कि, कानपुर में आठ पुलिसकर्मियों की हत्या के मुख्य आरोपी और कुख्यात अपराधी विकास दुबे को पुलिस ने बृहस्पतिवार सुबह मध्य प्रदेश के उज्जैन से गिरफ्तार किया। विकास दुबे ने पिछले शुक्रवार को कानपुर के चौबेपुर में आठ पुलिसकर्मियों की गोली मारकर हत्या कर दी थी। इसके बाद से ही विकास दुबे कानपुर पुलिस के लिए मोस्ट वॉन्टेड की लिस्ट में शुमार है। विकास दुबे इस नरसंहार का एक नामजद आरोपी था। उसकी तलाश कई राज्यों की पुलिस कर रही थी। विकास दुबे लगातार पुलिस को चकमा दे रहा था। (इंपुट: आईएएनएस के साथ)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here