“शाहरूख खान अमेरिका में ‘सहिष्णुता’ को आप किस श्रेणी में रखेंगे”

0

अमेरिकी एंबेसडर रिर्चड वर्मा ने बॉलिवुड सुपरस्टार शाहरूख खान को एयरपोर्ट पर रोके जाने पर मांफी मांगी है। उन्होंने कहा, सॉरी शाहरूख आगे ऐसा नहीं होगा।

वर्मा ने ट्वीट किया, “शाहरूख खान लॉस एंजिलिस हवाई अडडे पर हुई परेशानी के लिए हमें खेद है हम इस बारे में काम कर रहें हैं कि ऐसा भविष्य में दोबारा ना हो”

जवाब में शाहरूख खान ने कहा “कोई परेशानी नही सर, मैं नियमों का पूरा सम्मान करता हूं और नियमों से ऊपर खुद को नहीं मानता, इसमें बस थोड़ी असुविधा है चिंता के लिए शुक्रिया।”

गौरतलब है कि 7 साल में यह तीसरी बार है जब शाहरूख खान को अमेरिकी आव्रजन विभाग ने सुरक्षा कारणों से रोक दिया।

2012 में नेवार्क एयरर्पोट पर शाहरूख खान को 2 घंटे तक रोक कर रखा गया था, इस अपमान पर देश भर में बहस छिड़ गयी थी लेकिन अमेरिका कोई मौका नहीं छोड़ता अपमान करने का।

शाहरूख हमेशा अपने इंटरव्यू में कह चुके हैं एक मुस्लिम नाम होने की वजह से मुझे ये अपमान झेलना पड़ता है जिसपर कोई ठोस कदम नहीं उठता।

उधर बॉलीवुड के बादशाह शाहरूख खान को लॉस एंजिलिस हवाई अड्डे पर अमेरिकी आव्रजन विभाग द्वारा हिरासत में लेने के कुछ घंटों बाद ट्विटर पर अभिनेता पर चुटकुले चलने लगे हैं।

माइक्रो ब्लोगिंग साइट के उपयोगकर्ताओं ने ‘हैशटैग शाहरूख खान’ का इस्तेमाल करके अपने विचार पोस्ट करने शुरू कर दिए जो जल्द ही ट्रेंड करने लगा।

ट्विटर के एक उपयोगकर्ता ने लिखा, ‘‘अमेरिका के हवाई अड्डों पर हमेशा शाहरूख खान को ही क्यों हिरासत में लिया जाता है। अधिकारियों को इस बार उनकी हाल की फिल्म जरूर देखनी चाहिए।’’

50 वर्षीय अभिनेता की 2006 में आई फिल्म ‘डॉन’ के प्रसिद्ध संवाद को उद्धृत करते हुए एक अन्य ने पोस्ट किया, ‘‘ डॉन का इंतजार तो 11 मुल्कों की पुलिस कर रही है.. लेकिन अमेरिका इन 11 मुल्कों में शामिल नहीं है।’’

कई ने इसकी तुलना ‘दिलवाले’ के स्टार द्वारा पिछले साल असहिष्णुता पर दिए गए बयान से की।

एक ट्विटर उपयोगकर्ता ने लिखा, ‘‘ सो.. श्रीमान खान अमेरिका में ‘‘सहिष्णुता’’ को आप किस श्रेणी में रखेंगे?’’

एक अन्य पोस्ट किया, ‘‘ शाहरूख खान वैश्विक स्टार हैं लेकिन हर देश के अपने नियम कायदे हैं। कोई भी हस्ती राष्ट्रीय सुरक्षा से बड़ी नहीं है। शाहरूख को शिकायत नहीं करनी चाहिए। सहिष्णु बनें।’’

 

 

LEAVE A REPLY