टाइम्स नाउ, आजतक, ज़ी न्यूज़ और न्यूज़X आप को कश्मीर के बारे में सच नहीं बताएँगे तो ‘ज़रा होशयार रहिये’

1

2010 में IAS टॉप करने वाले कश्मीर के शाह फैसल ने फेसबुक पोस्ट के जरिए कश्मीर में जारी हिंसा की कवरेज पर नेशनल मीडिया चैनल्स की जमकर खिचाई की है। अपने फेसबुक पोस्ट के ज़रिये उन्होंने कहा की आज तक, टाइम्स नाउ, ज़ी न्यूज़ और न्यूज एक्स जैसे समाचार चैनल्स कश्मीर के बारे में ‘आप को सच नहीं बताएंगे। ‘

अपने फेसबुक पोस्ट में, जिसे जनता का रिपोर्टर ने शुक्रवार को वेबसाइट पर प्रकाशित किया था, फैसल ने कहा कि कुछ चैनल्स उनके फोटो को उग्रवादियों के साथ दिखा रहे हैं और ये ठीक नहीं है।

उन्होंने आगे लिखा कि ऐसा लग रहा है कि जैसे नेशनल मीडिया उन्हें sadistic propaganda में शामिल करने केलिए व्याकुल है।

shah-620x400 (1)

कश्मीर से ताल्लुक़ रखने वाले एक और IAS अफसर यासीन चौधरी के फेसबुक पोस्ट का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि टाइम्स नाउ, आजतक, ज़ी न्यूज़ और न्यूज़X आप को कश्मीर के बारे में सच नहीं बताएँगे तो ‘ज़रा होशयार रहिये।’

Also Read | “Zee News, Aaj Tak, Times Now and NewsX are not going to tell you the truth about Kashmir”

जनसत्ता में छपी एक खबर के अनुसार, कश्मीर में हिंसा के बाद ज्यादातर मीडियाहाउस कश्मीर के पोपुलर युवाओं की फोटो को एक साथ दिखा रहे थे, जैसे कि बुरहान वानी एक आतंकवादी था, जबकि शाह एक कश्मीर में एक इमानदार ऑफीसर के तौर पर जाने जाते हैं।

कश्मीर में बुरहान के मारे जाने के बाद मीडिया ने बिना अच्छे- बुरे का फर्क जाने आतंकी की इमानदार व्यक्ति के साथ फोटो लगा दी, जिससे शाह काफी गुस्सा हैं।

गौरतलब है कि हाल ही एक समाचार पत्र में एक लेख प्रकाशित हुआ था, जिसमें लिखा था कि कश्मीर में जहां एक और बुरहान वानी जैसे आतंकी गतिविधियों में संलिप्त हैं तो वहीं दूसरी ओर शाह फैसल एक इमानदार ऑफीसर हैं ।

फैसल इतने नाराज़ हैं कि वो अपने पद तक से इस्तीफा देने का मन बना चुके हैं। उन्होंने कहा कि अगर ऐसा ही रहा to वो जल्द ही अपने पद से इस्तीफा दे देंगे। उन्होंने कहा कि कश्मीर में पहले ही इतना सब हो रहा है ऊपर से मीडिया भी इस तरह की हरकत कर रही है। वो भी तब जब एक राज्य सेल्फ इंजरी का शिकार हो रहा हो। ऐसे में कोई भी सरकार यहां के दर्द से अनभिज्ञ नहीं रह सकती।

उन्होंने आगे लिखा, “ऐसी स्थिति में हर किसी का यही प्रयास रहता है कि वे हिंसा को रोकें और वहां तक पहुंचे। लेकिन खबरिया चैनल्स कैसे भी करके अपनी टीआरपी बढ़ाने के लिए ऐसी चीजों को बढ़ावा देते हैं। ये वक्त कश्मीर के उन लोगों के लिए दुआ करने का है, जिन्होंने अपना सब कुछ खो दिया है, जो हमेशा के लिए मौत की नींद सो गए हैं, जिनका परिवार बिखर चुका है और ये सब कश्मीर के लोग अपनी आंखों से देख रहे हैं, ये सच्चाई मीडिया नहीं दिखा रहा है।”

उन्होंने अपनी पोस्ट में लिखा, “हाल फिलहाल में कश्मीर में इतना सब कुछ चल रहा है, ऐसे में मीडिया इस तरह की हरकत उन्हें और भी डिस्टर्ब कर रही है।”

1 COMMENT

  1. हमसब को सजग सचेत रह कर विषवमन करने वालों से बचना हचगा

LEAVE A REPLY