शबाना आजमी का PM मोदी और अमित शाह पर तंज, पूछा- ‘गुजरात की जीत पर जश्न क्यों मना रही है BJP?’

0

गुजरात विधानसभा चुनावों में एक बार फिर ‘ब्रांड मोदी’ का असर दिखा। इसकी बदौलत भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) गुजरात में अपनी सरकार बचाने में सफल रही है। गुजरात की 182 सीटों में से बीजेपी को 99 पर जीत मिली है। जबकि कांग्रेस ने सहयोगी दलों के साथ यहां 80 सीटें जीती हैं। बीजेपी लगातार छठी बार गुजरात में सरकार बनाएगी।

(Photo by Abhinav Saha/Hindustan Times via Getty Images)

हालांकि बीजेपी को पूरी उम्मीद थी कि उसे 150 सीटें तो कम से कम मिलेंगी। लेकिन ऐसा नहीं हुआ और बीजेपी को केवल 99 सीटों पर संतोष करना पड़ा। इस बीच बीजेपी नेताओं के दावों के मुताबिक कम सीटें आने पर कई बड़ी हस्तियों ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह पर टिप्पणी करनी शुरू कर दी है।

बॉलीवुड की मशहूर अभिनेत्री शबाना आजमी ने ट्विटर पर एक न्यूज पेपर की दो कटिंग पोस्ट करते हुए सवाल किया है कि बीजेपी गुजरात की जीत का जश्न क्यों मना रही है? शबाना ने अंग्रेजी न्यूज पेपर का जो पोस्ट शेयर किया है, वह दोनों कटिंग 5 और 27 नवंबर का है। इस कटिंग में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमित शाह बयान लिखा हुआ है।

पीएम मोदो ने 27 नवंबर को कहा था कि ‘विपक्ष ने राज्य में कमल का रास्ता आसान कर दिया है और बीजेपी को 151 सीटें मिलेंगी।’ वहीं अमित शाह ने 5 नवंबर को कहा था कि ‘अगर गुजरात में 90 से 149 सीटें मिलती हैं तो कोई जश्न नहीं मनाया जाएगा। असली जीत तभी होगी जब सीटें 150 से ज्यादा होंगी।’

शबाना आजमी के अलावा समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष और यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने भी कहा कि गुजरात में बीजेपी का दो अंकों में सिमट जाना उनके पतन की शुरुआत है। यह गांव, गरीब और ग्रामीण की उपेक्षा का नतीजा है। यह बीजेपी की तथाकथित जीत है।

बता दें कि कांग्रेस बहुमत से भले ही काफी पीछे है लेकिन पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी के सघन प्रचार अभियान और पाटीदार नेता हार्दिक पटेल के साथ से कांग्रेस को उम्मीद से ज्यादा फायदा मिला है। वर्ष 2012 के गुजरात विधानसभा चुनाव में 182 सीटों वाली सदस्यीय विधानसभा में बीजेपी को 115, कांग्रेस को 61 और अन्य दलों को छह सीटों पर जीत मिली थी।

गुजरात के विधानसभा चुनावों के परिणाम घोषित होने के दौरान कई सीटों पर बेहद कांटे की टक्कर देखने को मिली है। एक ओर जहां बीजेपी को सत्ता का शिखर मिला है वहीं कई ऐसी सीटें भी हैं जहां उम्मीदवारों ने 1000 से कम वोटों से जीत हासिल की है। परिणाम पर गहराई से गौर किया जाए तो 11 सीटें ऐसी हैं जिस पर बीजेपी ने 3 हजार से कम वोटों से जीत हासिल की।

अगर इन सीटों पर कांग्रेस चुनाव से पहले और बढ़िया तरीके से फोकस करती तो शायद परिणाम कुछ और होता। क्योंकि बीजेपी के खाते में 99 सीटें गई, जबकि कांग्रेस 80 तक पहुंच गई है। अगर इन 10 सीटों पर कोई उलटफेर होता तो कांग्रेस सत्ता तक पहुंच सकती थी।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here