EXCLUSIVE: जम्मू में 20 वर्षीय लड़की ने BJP नेता पर लगाई 3 साल तक मंदिर में यौन उत्पीड़न करने का आरोप, पुलिस ने दर्ज की FIR, जानें क्या है पूरा मामला?

0

जम्मू-कश्मीर के एक भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के नेता पर करीब तीन साल तक एक मंदिर में लड़की का यौन उत्पीड़न करने का आरोप लगा है। जम्मू की रहने वाली एक 20 वर्षीय लड़की ने बीजेपी नेता रिंकू चौहान पर यौन उत्पीड़न और जान से मारने की धमकी देने का गंभीर आरोप लगाई है। लड़की की शिकायत पर जम्मू के दोमाना पुलिस स्टेशन में भाजपा नेता के खिलाफ यौन उत्पीड़न का केस दर्ज कर लिया गया है, फिलहाल मामले में आरोपी रिंकू चौहान जमानत पर बाहर हैं। वहीं, पीड़िता ने पुलिस पर आरोपी का बचाव करने का आरोप लगा रही है। जबकि भाजपा नेता ने अपने ऊपर लगे सभी आरोपों को नेशनल कॉन्फ्रेंस की साजिश करार देते हुए खारिज कर दिया है।

आरोपी बीजेपी नेता रिंकू चौहान (बाएं) और पीड़िता (दाएं)

दरअसल, यह पूरा मामला जम्मू स्थित दोमाना के मुठी का है। लड़की द्वारा दर्ज करवाई गई एफआईआर के मुताबिक भाजपा नेता रिंकू चौहान करीब तीन साल पहले 2016 से लड़की का कथित तौर पर यौन उत्पीड़न कर रहे हैं और मना करने पर जान से मारने की धमकी दे रहे हैं। लड़की का आरोप है जब उसने 2016 में जम्मू के मुठी स्थित इस्कॉन मंदिर (ड्रीम सिटी) में सेवा करने के लिए जाना शुरू किया तो उसे वहां भाजपा नेता रिंकू चौहान भी मिला। लड़की के अनुसार, उसी समय से भाजपा नेता लगातार उसका यौन उत्पीड़न कर रहे हैं और धमकियां दे रहे हैं। लड़की ने कहा कि भाजपा नेता से परेशान होकर उसने बीच में मंदिर जाना छोड़ दिया था, लेकिन भाजपा नेता ने घर और रास्तों में भी उसे परेशान करना जारी रखा।

जान से मारने की दी धमकी

लड़की के मुताबिक, मंदिर के अलावा जब वह वापस अपने घर जाती थी तो रिंकू चौहान हमेशा उसका पीछा करता था और लड़की का हाथ पकड़कर उसके साथ जबरदस्ती करने की कोशिश करता था। भाजपा नेता को पीड़िता ने कई बार पिता तुल्य बताते हुए पीछा न करने की गुजारिश की, लेकिन वह नहीं माने और उन्होंने लड़की को जान से मारने की धमकी देने लगे। लड़की के अनुसार, चौहान ने उससे कहा कि अगर उसने भाजपा नेता से बात नहीं की तो वो उसे जान से मार देगा। बाद में जब लड़की ने चौहान से कहा कि वो उसकी हरकतों की शिकायत उसकी पत्नी से करेगी तो भाजपा नेता ने कहा, ‘तुम्हें जिससे शिकायत करनी है कर लो मेरा कोई कुछ बिगाड़ नहीं पाएगा, क्योंकि मैं भाजपा का नेता हूं।’

अपनी माता-पिता से बताई आपबीती

इसके बाद लड़की ने रिंकू चौहान की पत्नी से उनके पति की शिकायत की, लेकिन पत्नी ने अपने पति भाजपा नेता पर लगाए गए सभी आरोपों को खारिज करते हुए लड़की को ही कठघरे में खड़ा कर दिया। जब कहीं सुनवाई नहीं हुई तो थकी हारी पीड़िता ने अपनी पूरी आपबीती अपने माता-पिता को बताई, जिसके बाद परिवार वालों ने उसे मंदिर जाने से मना कर दिया। पीड़िता के मुताबिक, वह करीब दो साल तक मंदिर नहीं गई, फिर भी भाजपा नेता इस दौरान चार-पांच बार उसके घर आकर उसे परेशान करता रहा और मंदिर आने का प्रेशर डालता था।

करीब दो साल बाद गत वर्ष अक्टूबर में लड़की उस इस्कॉन मंदिर से एक बार फिर जुड़ गई और वहां सेवा करने के लिए नियमित रूप से जाने लगी। लड़की के मुताबिक, मामले की जानकारी मिलने के बाद मंदिर प्रशासन द्वारा बीजेपी नेता को वहां से निकाल दिया गया था, लेकिन लड़की के वापस मंदिर ज्वाइन करने के बाद वह एक बार फिर से वहां आना शुरू कर दिया और पहले की तरह उसे परेशान करने लगा। पीड़िता के मुताबिक, इस दौरान उसने उसके साथ कई बार जबरदस्ती करने की कोशिश की।

पत्नी ने की मारपीट

इतना ही नहीं पीड़िता का आरोप है अभी हाल ही में पांच मई को बीजपी नेता की पत्नी ने सभी के सामने मंदिर में उसके साथ मारपीट की और भद्दी गालियां दी। जिसके बाद मंदिर प्रशासन ने भाजपा नेता को वहां से निकालने की कोशिश की तो उसने अपनी पहुंच की धमकी देकर सबको चुप करा दिया और मंदिर के अधिकारीयों के साथ लड़ाई करने लगा। पीड़िता के मुताबिक, आरोपी कहता है कि उसका कोई कुछ भी बिगाड़ नहीं पाएगा, क्योंकि वह बीजेपी का नेता है और वह आज भी हर रोज उसे धमकियां देता है। लड़की ने कहा कि मुझे इंसाफ चाहिए, क्योंकि मंदिर में महिलाएं और लड़कियां पूजा और सेवा करने जाती हैं।

रिंकू चौहान के खिलाफ FIR दर्ज

आखिरी में पीड़िता ने पांच मई को दोमाना पुलिस स्टेशन में जाकर आरोपी बीजेपी नेता रिंकू चौहान के खिलाफ एफआईआर दर्ज करवाई। फिलहाल, आरोपी जमानत पर बाहर है। लड़की का आरोप है कि FIR दर्ज होने के इतने दिन बाद भी पुलिस आरोपी बीजेपी नेता के खिलाफ कोई भी कार्रवाई नहीं कर पा रही है। लड़की का आरोप है कि आरोपी बीजेपी नेता आज भी खुलेआम घूम रहा है और वीडियो जारी कर उसे धमकी दे रहा है। लड़की ने बताया कि मंदिर प्रशासन ऐसे लोगों को तुरंत निकाल देता है, लेकिन बीजेपी नेता की पहुंच होने की वजह से उसके खिलाफ पुलिस या मंदिर प्रशासन कुछ भी कार्रवाई करने में लाचार साबित हो रही है।

आरोपी ने बताया नेशनल कॉन्फ्रेंस की साजिश

‘जनता का रिपोर्टर’ से फोन पर बातचीत में आरोपी बीजेपी नेता रिंकू चौहान ने लड़की के सभी आरोपों को खारिज करते हुए कहा, “मैं इस मामले में सोमवार को प्रेस कॉन्फेंस कर अपना पक्ष रखूंगा। लड़की मेरे खिलाफ साजिश के तहत बेबुनियाद आरोप लगाई है। पुलिस ने मुझे गिरफ्तार किया था, जिसके बाद शनिवार (10 मई) को कोर्ट ने मुझे फिलहाल जमानत पर रिहा कर दिया है।”

बीजेपी नेता ने आगे कहा, “मैंने उस लड़की को मंदिर में इससे पहले कभी नहीं देखा है …मैं वहां पिछले कई सालों से जा रहा हूं, लेकिन आरोप लगाने वाली लड़की को मैं सिर्फ इस साल से देख रहा हूं। नेशनल कॉन्फ्रेंस के एक नेता उस मंदिर से जुड़े है जिससे मेरी पूरी दुश्मनी है और उसी ने उस लड़की का इस्तेमाल कर मेरे ऊपर यह फर्जी आरोप लगवाया है ताकी मुझे मंदिर प्रशासन वहां से निकाल दे।”

मामले में कुछ भी बोलने से बच रही है पुलिस

हैरानी की बात यह है कि इस मामले में पुलिस कुछ भी बोलने से बच रही है। दोमाना पुलिस स्टेशन के SHO राजेश्वर सिंह स्लैथिया ने ‘जनता का रिपोर्टर’ से बातचीत में इस मामले में ज्यादा कुछ बताने से इनकार कर दिया। उन्होंने कहा, “उसकी (आरोपी बीजेपी नेता) बेल हुई है अभी…कोर्ट ने दी है…बाकी आपको डिटेल्स चाहिए तो मेरे सीनियर अधिकारियों से बात कर सकते हैं। मेरे पास रिपोर्टर को इसके बारे में बताने का पावर नहीं है।” वहीं, इस मामले में जब हमने सीनियर अधिकारियों से बात करने की कोशिश की तो संपर्क नहीं हो पाया।

(पीड़ित लड़की ने जम्मू की एक स्थानीय मीडिया को अपनी आपबीती बताई है…यहां क्लिक कर देखें)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here