इस्कॉन मंदिर के साधुओं पर लगा बच्चे के साथ यौन शोषण का आरोप, मुंह बंद रखने की दी धमकी

0

रेलवे स्टेशन व सड़को पर दिव्यांग बच्चे के साथ यौन शोषण व उन पर हो रहें अत्याचार की ख़बरों आए दिन आती रहती है।  दुनिया में यौन शोषण के शिकार हुए बच्चों की सबसे बड़ी संख्या भारत में है। जिसका ताजा मामला बिहार से सामने आया है। पटना में स्थित इस्कॉन मंदिर के कुछ साधुओं पर एक दिव्यांग बच्चे का यौन शोषण का आरोप लगा है।

यौन शोषण

जनसत्ता कि ख़बर के मुताबिक, पीड़ित बच्चे की शिकायत के बाद भी पुलिस की ओर से इस मामले में किसी प्रकार का कोई एफआईआर नहीं कियाी गया है। बच्चे की मां ने कहा कि मंदिर के प्रमुख साधु ने इस मामले में मुंह बंद रखने की सलाह दी है। पीड़ित बालक रोहतास जिला अंतर्गत शिवसागर थाने के पताढ़ी गांव का रहने वाला है।

वह मंदिर के रसोई में काम करता था। तीन महीने तक काम किया। फिर ये घटना घटी तो फोन पर रोते हुए उसने अपने मां को बुलाया। वहीं घटना को लेकर बताया जा रहा है कि प्रमुख ने लालच के साथ-साथ धमकी भी दी है जिसके कारण पीड़िता चुप है।

वहीं मंदिर से पुराना सम्बन्ध रखने वाले एक कृष्ण भक्त ने बताया कि पटना का इस्कॉन मंदिर हमेशा से विवादों में रहा है। उन्होंने खुलासा किया कि ‘‘पहले भी वहां रह रहे कुछ बच्चों ने कुछ साधुओं के खिलाफ यौन शोषण का आरोप लगाया था जिसे एक सांसद की मध्यस्थता के बाद रफा-दफा किया गया था।’’ इधर खबर है कि आरोपी तीनो साधुओं को मंदिर से भगा दिया गया है।

वहीं पीड़ित बालक तोतला बताया जा रहा है और अपनी तोतली आवाज में बताया कि ‘‘5000 रुपए महीना पर मैं काम करता था। अभी तक केवल 3000 रूपया मिला है।’’ लेकिन उसकी मां का कहना है कि ‘‘पैसे की कोई बात नहीं है, प्रमुख जी से बात हो गई है।’’ महिला ने इज्‍जत का हवाला देकर भी चुप रहने की बात कही। फिलहाल इन सब मामले में मंदिर के प्रमुख ने इस ख़बर को गलत बताया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here