जानिए कितना लाभकारी है बुजुर्गों की सेहत के लिए सेक्स!

0
>

आज के युवक अपने जीवन में सेक्स लाइफ को उम्मीद से ज्यादा इंजॉय करते है, ताकि वो एक खुशी और अच्छी लाइफ को जी सके। लेकिन क्या आप जानते है कि, सेक्स सिर्फ जवानी में ही नहीं बल्कि जीवन में उम्र के आखिरी पडाव पर भी खुशी और दिमागी सेहत को अच्छा बनाये रखने में मदद करता है।

सेक्स

एक सर्वे में सामने आया है कि 50 साल से ज्यादा उम्र के जो बुजुर्ग अक्सर सेक्स करते हैं, उनका दिमाग अच्छे से काम करता है। सर्वे करने वालों ने पाया है कि जो लोग नियमित रूप से सेक्स संबंधित गतिविधियों में शामिल रहते हैं, उन्होंने सर्वे के लिए हुए मौखिक धाराप्रवाह और अन्य टेस्टों में अच्छा स्कोर हासिल किया है।

Also Read:  इस तरह की लड़कियां बिस्तर पर देती है सेक्स का दमदार मजा

साथ ही इसके अन्तर्गत पाया गया है कि जो बुजुर्ग यौन गतिविधियों को ज्यादा तवज्जो देते हैं, उनका सामाजिक जीवन और मनोवैज्ञानिक स्वास्थ्य भी बेहतर रहता है। उनके यौन व्यवहार से जुड़ी बातों का उनके बेहतर जीवन स्तर से गहरा और सकारात्मक रिश्ता पाया गया।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, इंग्लैंड के कॉवेन्ट्री यूनिवर्सिटी के प्रमुख शोधकर्ता हेली राइट ने बताया, लोग यह सोचना भी पसंद नहीं करते कि बुजुर्ग लोग शारीरिक संबंध बनाते हैं, लेकिन सामाजिक स्तर पर इस अवधारणा को चुनौती देने की जरूरत है और यह देखना होगा कि 50 से ज्यादा उम्र के व्यक्ति के सेक्स संबंधित गतिविधियों में शामिल रहने पर क्या असर होता है।

Also Read:  नोटबंदी ने निकाले एक दादा के आंसू, पोती की शादी में पड़ौसियों से मांगना पड़ा उधार

सर्वे में प्रतिभागियों से पूछा गया था कि वे पिछले 12 महीने में कितनी बार शारीरिक संबंध से संबंधित गतिविधियों में शामिल रहे हैं। इसके लिए उन्हें तीन ऑप्शन दिए गए थे, एक बार भी नहीं, महीने में एक बार और सप्ताह में एक बार। इसके साथ ही उनके स्वास्थ्य और जीवनशैली से संबंधित जनरल सवाल पूछे गए। इसके लिए 50 से 83 साल की उम्र के बीच के 73 बुजुर्गों पर सर्वे किया गया।

सर्वे में बताया गया है कि इससे उनकी उच्च संज्ञानात्मक क्षमताएं जाहिर होती हैं। दूसरा जटिल डिजाइन की प्रतिलिपि बनाने का टेस्ट हुआ था। इन दोनों टेस्ट में सबसे ज्यादा अधिक स्कोर उन्होंने बनाया, जिन्होंने हर सप्ताह यौन संबंध बनाए हैं।

Also Read:  जानिए, पहली बार सेक्स करने के बाद कैसा महसूस करती है महिलाएं

ख़बर के मुताबिक, कॉवेन्ट्री और ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालयों के शोधकर्ता ने कहा कि शोध से पता चलता है कि जैविक तत्व, डोपामाइन और ऑक्सीटोसिन जैसे तत्व यौन संबंध बनाने से दिमाग को प्रभावित करते हैं। आगे कहते है, हम केवल यह सोच सकते हैं कि यह सामाजिक या भौतिक तत्वों द्वारा संचालित होता हैं लेकिन यह एक ऐसा क्षेत्र है जिसमें हम आगे शोध करना चाहते हैं। यह शोध Journals of Gerontology, Series B: Psychological and Social Sciences में प्रकाशित हुआ है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here