सत्येंद्र जैन ने कपिल मिश्रा के खिलाफ दायर किया आपराधिक मानहानि का मुकदमा

0

दिल्ली सरकार के स्वास्थ्य मंत्री सत्येन्द्र जैन ने दिल्ली की तीस हजारी कोर्ट में आम आदमी पार्टी (AAP) से निलंबित पूर्व मंत्री कपिल मिश्रा के खिलाफ आपराधिक मानहानि का केस दायर किया है। कपिल मिश्रा के अलावा जैन ने भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) विधायक मनजिंदर सिरसा पर भी आपराधिक मानहानि का मुकदमा दर्ज किया है।

बता दें कि कपिल मिश्रा ने आरोप लगाया था कि सत्येंद्र जैन ने दो करोड़ रुपये की रिश्वत के रूप में दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को उनकी आंखों के सामने दिए, और इसी आरोप को बीजेपी विधायक मनजिंदर सिंह सिरसा ने आगे बढ़ाया था।

दिल्ली सरकार में मंत्री पद से हटाए जाने के बाद सात मई को कपिल मिश्रा ने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन पर भ्रष्टाचार के गंभीर आरोप लगाते हुए सनसनी मचा दी थी। कपिल मिश्रा ने आरोप लगाते हुए कहा था कि 5 मई को मेरे आंखों के सामने ही सत्येंद्र जैन ने अरविंद केजरीवाल को 2 करोड़ रुपये नगद में दिए।

कपिल के मुताबिक जब उन्होंने इसके बारे में पूछा तो मुख्यमंत्री ने कहा कि राजनीति में कुछ चीजें बताई नहीं जा सकतीं। साथ ही मिश्रा ने आरोप लगाया कि जैन ने मुझे बताया था कि उन्होंने केजरीवाल के रिश्तेदार का 50 करोड़ रुपये का भूमि सौदा कराया है। हालांकि, जैन ने भ्रष्टाचार के इन आरोपों को आधारहीन बताते हुए सिरे से खारिज किया था।

अगले दिन कपिल मिश्रा के आरोपों का जवाब देते हुए सत्येंद्र जैन ने कहा था कि कपिल मिश्रा के आरोप झूठे हैं और वे साबित कर सकते हैं कि जिस दिन कपिल मिश्रा ने मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को 2 करोड़ देने का दावा किया था उस दिन वे सीएम आवास पर मौजूद नहीं थे। जैन का कहना है कि अगर कपिल मिश्रा के पास सबूत हैं तो उन्हें पेश करने चाहिए।

क्या है कपिल मिश्रा का पूरा मामला?

दरअसल, आम आदमी पार्टी में कुमार विश्वास बनाम अरविंद केजरीवाल की लड़ाई ने 6 मई को उस वक्त नया मोड़ ले लिया, जब विश्वास के करीबी माने जा रहे मंत्री कपिल मिश्रा को पद से हटा दिया गया। दिल्ली सरकार से हटाए जाने के एक दिन बाद 7 मई को मिश्रा ने मुख्यमंत्री केजरीवाल और स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन पर भ्रष्टाचार के गंभीर आरोप लगाए।

मिश्रा ने राजघाट पर कहा कि उन्होंने जैन को केजरीवाल के आधिकारिक आवास पर उन्हें 2 करोड़ रुपये नगद सौंपते हुए देखा। साथ ही मिश्रा ने आरोप लगाया कि जैन ने मुझे बताया था कि उन्होंने केजरीवाल के रिश्तेदार का 50 करोड़ रुपये का भूमि सौदा कराया है। जिसके बाद 8 मई को सीएम अरविंद केजरीवाल पर भ्रष्टाचार के आरोप लगाने वाले करावल नगर से विधायक कपिल मिश्रा को आम आदमी पार्टी(आप) की प्राथमिक सदस्यता से निलंबित कर दिया गया।

इस कार्रवाई के बाद कपिल AAP नेता संजय सिंह, राघव चड्ढा, आशीष खेतान, सत्येंद्र जैन और दुर्गेश पाठक के विदेशी दौरे की जानकारी को सार्वजनिक करने की मांग को लेकर 10 मई से अनशन पर बैठ गए। जिसके बाद 14 मई को कपिल ने आम आदमी पार्टी पर चुनाव आयोग और आयकर विभाग को पार्टी फंड की सही जानकारी न देने और फर्जी कंपनियों के जरिये मनी लॉन्ड्रिंग का भी आरोप लगाया था।

प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान वह बेहोश हो गए जिसके बाद उन्होंने राम मनोहर लोहिया हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया था।कपिल मिश्रा ने कहा है कि उन्हें डॉक्टरों ने हड़ताल खत्म करने के बाद ही हॉस्पिटल से जाने देने की बात कही। जिसके बाद द्रव पदार्थ लेकर मिश्रा ने 15 मई को 6 दिन लंबी अपनी भूख हड़ताल खत्म कर दिया।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here