BJP मंत्री सत्यपाल सिंह ने कहा छात्रों को पढ़ाया जाएं-राइट बंधुओं से पहले ही एक भारतीय ने कर लिया था विमान का आविष्कार

0

मुंबई के पूर्व पुलिस प्रमुख सत्यपाल सिंह, जो अब नरेंद्र मोदी के मंत्रिमंडल में एक जूनियर HRD मंत्री हैं, ने शिक्षकों को छात्रों को पढ़ाने के लिए कहा है कि राइट बंधुओं से पहले ही भारतीयों ने विमान का आविष्कार कर लिया था।

मंगलवार को आयोजित AICTE-ECI छात्र विश्वकर्मा पुरस्कार समारोह में बोलते हुए, सिंह ने कहा, क्यों छात्रों को यह नहीं पढ़ाया जाता कि राइट बंधुओं से पहले ही शिवकार बाबूली तलपड़े नामक एक भारतीय ने विमान का आविष्कार कर लिया था? उन्होंने कहा कि राइट बंधुओं से आठ साल पहले इस व्यक्ति ने विमान का आविष्कार कर लिया था। क्या हमारे छात्रों को IIT में इन चीजों को सिखाया जाता है या नहीं? उन्हें यह पढ़ाना चाहिए।

मीडिया रिपोर्टस के मुताबिक सिंह चाहते है कि IIT में इंजीनियरिंग छात्रों को हिन्दू देवता विश्वकर्मा के बारें में पढ़ाया जाएं जिनको इंजीनियरिंग समुदाय और कारिगरों के समाज में पूजा जाता हैं।

सत्यपाल सिंह यहां अपने मुखिया प्रधानमंत्री मोदी से प्रेरणा लेते हुए दिख रहे है जिससे की वे शानदार ढंग से इतिहास को फिर से लिख सकें। अक्टूबर 2014 में मुंबई में बोलते हुए, पीएम मोदी ने दावा किया था कि पौराणिक काल के दौरान भी आनुवंशिक विज्ञान अस्तित्व में था।

उन्होंने कहा था, हम सब महाभारत में कर्ण के बारे में पढ़ते हैं। यदि हम थोड़ा और अधिक इस बारें में सोचते हैं, तो हमें पता चलता है कि महाभारत कहता है कि कर्ण अपनी मां के गर्भ से पैदा नहीं हुआ था। इसका अर्थ है कि उस समय आनुवंशिकी विज्ञान मौजूद था। इसी आनुवंशिकी की वजह से कर्ण अपनी मां के गर्भ के बाहर पैदा हो सका था।

प्रधानमंत्री मोदी केवल इतने पर ही रुकें, उन्होंने दावा किया था कि प्लास्टिक सर्जरी चिकित्सा के क्षेत्र में भी एक बड़ा योगदान था और उन्होंने भगवान गणेश का इसके लिए उदाहरण दिया था।

उन्होंने कहा, हम भगवान गणेश की पूजा करते हैं उस समय कुछ प्लास्टिक सर्जन जरूर होंगे, जिन्होंने एक इंसान के शरीर पर एक हाथी का सिर लगाया होगा और प्लास्टिक सर्जरी का अभ्यास शुरू किया।

लंदन के द गार्जियन की एक रिपोर्ट के मुताबिक, गुजरात के मुख्यमंत्री के रूप में, मोदी ने राज्य के स्कूल के छात्रों के लिए एक किताब को भी लिखा था, जिसमें अन्य बातों के अलावा, हिंदू भगवान राम बहुत पहले ही विमान का दौरा कर चुके थे और ये विमान और सेल टेक्नोलॉजी प्राचीन भारत में ही स्थापित हो चुकी थी।

इसके अलाव पीएम मोदी के गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने दिल्ली के एक पॉश कॉलेज के छात्रों से कहा था कि धोती पहने हुए यह भारतीय बाबा किसी नासा के वैज्ञानिकों की तुलना में विज्ञान के बारे में अधिक जानकारी रखते है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here