सरताज अजीज को गोल्‍डन टेंपल जाने की अनुमति नहीं मिलने पर पाक मीडिया ने कहा- भारत ने की बेइज्जती

0

पाकिस्तान ने रविवार को दावा किया कि उसके प्रधानमंत्री के विदेश मामलों के सलाहकार सरताज अजीज को स्वर्ण मंदिर जाने और उनके होटल में पाकिस्तानी मीडियाकर्मियों से बात करने की इजाजत नहीं दी गई। वहीं, भारत ने कहा है कि ऐसा सुरक्षा कारणों को लेकर किया गया।

पाकिस्तानी उच्चायोग में मौजूद सूत्रों ने बताया कि अजीज का स्वर्ण मंदिर जाने का कार्यक्रम था लेकिन सुरक्षा कारणों को लेकर उन्हें इजाजत नहीं दी गई।

अजीज

सूत्रों ने बताया कि अजीज कल शाम यहां पहुंचे थे। वह अपने साथ मौजूद पाक मीडियाकर्मियों से ‘हार्ट ऑफ एशिया’ सम्मेलन के आयोजन स्थल रैडिसन ब्लू होटल में बात करना चाहते थे। लेकिन सुरक्षाकर्मियों ने इजाजत नहीं दी।

Also Read:  पीएम मोदी और सरताज अजीज के हाथ मिलने की वजह बनी पाकिस्तानी मीडिया की हाॅट खबर

पाक मीडिया के अनुसार भारत ने अजीज की बेइज्‍जती की है। भारत सरकार में मौजूद सूत्रों ने बताया कि सुरक्षा कारणों को लेकर इजाजत नहीं दी गई।

Congress advt 2

उन्होंने बताया, ‘सुरक्षा बहुत सख्त थी। सुरक्षा कारणों को लेकर इजाजत नहीं दी गई। हमारे मेहमानों की सुरक्षा सर्वोच्च है। भारत ने कोई अप्रिय घटना नहीं होने देने को सुनिश्चित किया है।’ पाक पत्रकारों को आयोजन स्थल पर नहीं जाने देने के बाद पाकिस्तानी उच्चायुक्त अब्दुल बासित और सुरक्षाकर्मियों के बीच होटल में कहा सुनी हुई।

भाषा की खबर के अनुसार, पाक उच्चायोग सूत्रों ने बताया कि सम्मेलन के आयोजन स्थल पर पाकिस्तानी मीडिया से बातचीत करने के लिए अजीज को इजाजत देने से इनकार करने के बाद पाक उच्चायोग ने एक अन्य होटल में बातचीत की योजना बनाई, लेकिन उसकी भी इजाजत नहीं दी गई।

Also Read:  रीता बहुगुणा जोशी का भाजपा प्रेम: ना कांग्रेस को नुकसान ना BJP को फायदा

बाद में बासित ने पाकिस्तानी मीडिया से बात की। अजीज एक विशेष विमान से रात करीब आठ बजे पाकिस्तान के लिए रवाना हो गए।

गौरतलब है कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और अफगान राष्ट्रपति अशरफ गनी कल स्वर्ण मंदिर गए थे जबकि ईरानी विदेश मंत्री जावेद जरीफ आज स्वर्णमंदिर गए।

हमीद अंसारी के माता पिता भी अजीज से मिलने के लिए स्वर्ण मंदिर पर इंतजार कर रहे थे। अंसारी फिलहाल पाकिस्तान की एक जेल में हैं।

Also Read:  मैसेज में बैंक खातों और मोबाइल नंबरों को आधार से जोडने की अंतिम तारीख बताई जाए: सुप्रीम कोर्ट

मुंबई निवासी फौजिया अंसारी और उनके पति निहाल यहां आए थे। वे अपने बेटे की पाकिस्तानी जेल से रिहाई के लिए अजीज से अनुरोध करने की उम्मीद कर रहे थे। हमीद ने अपनी जेल की सजा पूरी कर ली है।

हमीद एक आईटी इंजीनियर और एमबीए डिग्रीधारी हैं। वह चार नवंबर 2012 को काबुल गए थे जहां से वह एक पाकिस्तानी लड़की से कथित तौर पर मिलने के लिए पाकिस्तान पहुंच गए थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here