गंगा सफाई को लेकर अनशन कर रहे संत गोपाल दास अस्पताल से लापता, सीएम केजरीवाल बोले- उनको मोदी सरकार ने AIIMS से गायब करवा दिया

0

गंगा की सफाई को लेकर अनशन कर रहे संत गोपाल दास अचानक दून अस्पताल से गायब हो गए हैं। इससे पहले दिल्ली के एम्स से गायब होने की की खबर आई थी। इसके बाद बताया गया था कि उन्हें दिल्ली एम्स से दून अस्पताल भेज दिया गया था।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, दून अस्पताल में इलाज शुरू होने के 7 घंटे के भीतर ही वह गायब हो गए। अस्पताल प्रशासन से सूचना मिलने के बाद पुलिस अस्पताल पहुंची। देर रात पुलिस की टीमें उनकी तलाश करती रही। लेकिन, गोपाल दास का पता नहीं चल पाया है।

वहीं, आम आदमी पार्टी (आप) के राष्ट्रीय संयोजक और दिल्‍ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने ट्वीट कर संत गोपाल दास को गायब करने का आरोप प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर लगाया है।

सीएम अरविंद केजरीवाल ने बुधवार को ट्वीट करते हुए लिखा, “संत गोपाल दास गौ रक्षा और गंगा सफ़ाई के लिए अनशन पर थे। उनको मोदी सरकार ने AIIMS से ग़ायब कर दिया है। उनके पिता को भी केंद्र सरकार नहीं बता रही कि उनको कहाँ ले गए। संत गोपाल दास असली गौ रक्षक हैं। उनके साथ मोदी सरकार का ऐसा बर्ताव? उन्हें तुरंत उनके पिता के सुपुर्द किया जाए।”

वहीं आप के विधायक सोमनाथ भारती ने अपने ट्वीट में लिखा, “सबसे बड़े गौरक्षक संत गोपालदास जी के AIIMS से गायब हुए 36 घंटे हो गए लेकिन भाजपा की सारी सरकारें मौन। मुझे घबराहट हो रही है। पुलिस के उच्च अधिकारी आकर मिल रहे है लेकिन संत जी के बारे में कुछ नहीं बता रहे है। संत जी के पिता जी के साथ मैं एमएस ऑफिस AIIMS में पिछले 6 घंटे से बैठा हुआ हूं।”

वहीं सोमनाथ भारती ने गुरुवार(6 दिसंबर) को एक ट्वीट करते हुए लिखा, “संत गोपाल दास जी के मामले में एम्स के मेडीकल सुपरिटेंडेंट डॉ शर्मा 48 घंटे बाद बता रहे है कि संत जी को देहरादून के एक हॉस्पिटल में लावारिश बोल कर छोड़ दिया गया है लेकिन हस्पताल में उनका अता पता नहीं है। मां गंगा और गौमाता के ऊपर काम करने वाले संत गोपाल दास जी से मोदी जी क्यों डर रहे है?”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here