“मसूद अजहर को घसीटकर लाने के लिए मीडिया के महारथी पाकिस्तान कूच करने की तैयारी कर चुके हैं”

1

संयुक्त राष्ट्र ने ‘‘जैश-ए-मोहम्मद’’ सरगना मसूद अजहर को बुधवार (1 मई) को ‘‘वैश्विक आतंकवादी’’ घोषित कर दिया। भारत के लिए यह एक बड़ी कूटनीतिक जीत मानी जा रही है। दरअसल, भारत ने इस मुद्दे पर पहली बार एक दशक पहले इस वैश्विक संस्था का रूख किया था। संरा (यूएन) सुरक्षा परिषद की प्रतिबंध समिति के तहत पाकिस्तानी आतंकी संगठन के सरगना को ‘‘काली सूची’’ में डालने के एक प्रस्ताव पर चीन द्वारा अपनी रोक हटा लिए जाने के बाद संयुक्त राष्ट्र ने यह घोषणा की। भारत के लिए यह एक बड़ी कूटनीतिक जीत मानी जा रही है।

मसूद अजहर

 

हालांकि, इस चुनावी मौसम में अजहर मामले में अब राजनीति शुरू हो गई है। केंद्र में सत्तरूढ़ भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) इस मामले को बड़े स्तर पर भुनाने की कोशिश में लग गई है। भारत के लिए इसे ‘ऐतिहासिक सफलता’ बताते हुए बीजेपी ने लोकसभा चुनाव में अपने एक नारे ‘मोदी है तो मुमकीन है’ को उद्धृत किया। बीजेपी ने ट्वीट करते हुए कहा, ”भारत को मिली आतंकवाद के खिलाफ ऐतिहासिक सफलता। संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में पुलवामा आतंकी हमले का दोषी मसूद अजहर अंतरराष्ट्रीय आतंकी घोषित। मोदी है तो मुमकिन है।”

रिपब्लिक टीवी, टाइम्स नाउ और जी न्यूज़ सहित भारत के तमाम तथाकथित ‘राष्ट्रवादी’ टीवी चैनलों ने अपने प्राइम टाइम डिबेट में संयुक्त राष्ट्र द्वारा ‘‘जैश-ए-मोहम्मद’’ सरगना मसूद अजहर को ‘‘वैश्विक आतंकवादी’’ घोषित करने पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को क्रेडित हुए चर्चा की। सभी चैनल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के तहत भारत द्वारा राजनयिक जीत को उजागर करने पर केंद्रित थे।

इस बीच आम आदमी पार्टी (आप) के वरिष्ठ नेता और राज्यसभा सांसद संजय सिंह ने ट्वीट कर न्यूज चैनलों पर तंज कसा है। सिंह ने ट्वीट किया, “TV वाले पूरी तरह मुस्तैद हो चुके हैं कैमरा तैयार है पाकिस्तान कूच करने की तैयारी हो चुकी है जैसे निरव मोदी और विजय मल्ल्या को मीडिया के महारथी घसीट कर हिंदुस्तान लाये थे वैसे ही मसूद अज़हर को लायेंगे।”

वहीं, सिंह ने एक अन्य ट्वीट में पीएम मोदी पर निशाना साधते हुए लिखा, “मोदी जी को आज ही पता चला है की मसूद अज़हर आतंकवादी है जब भाजपा सरकार मसूद अज़हर को कंधार छोड़ने गई थी तब क्या वो सन्यासी था? ढोल पीटने के बजाय देश से माफ़ी माँगो तुम्हारे गुनाहों की वजह से ही मसूद अज़हर आज भी खुलेआम आतंक फ़ैक्टरी चला रहा है।”

बता दें कि संयुक्त राष्ट्र द्वारा ‘‘वैश्विक आतंकवादी’’ घोषित किए जाने के बाद अब मसूद अजहर की संपत्ति जब्त हो सकेगी और उस पर यात्रा प्रतिबंध तथा हथियार संबंधी प्रतिबंध लग सकेगा। यह प्रतिबंध लगाए जाने पर संगठन या व्यक्ति की संपत्ति और अन्य वित्तीय संपत्ति या आर्थिक संसाधनों को जब्त किए जाने का कार्य सभी देशों द्वारा बगैर किसी विलंब के करने की जरूरत होती है।

संयुक्त राष्ट्र में भारत के स्थायी प्रतिनिधि सैयद अकबरूद्दीन ने कहा कि यह हमारे लिए एक महत्वपूर्ण परिणाम है, क्योंकि हम इसके लिए कई बरसों से जुटे हुए थे। इस सिलसिले में पहली बार 2009 में कोशिश की गई थी। हाल फिलहाल में हमने इस लक्ष्य को हासिल करने की दिशा में अपनी सारी कोशिशें की। आज यह लक्ष्य हासिल हो गया। उन्होंने कहा, ‘‘कुल मिलाकर यह खुशी का दिन है, उन सबों को लिए अच्छा दिन है जो आतंकवाद को तनिक भी बर्दाश्त नहीं करने के रूख को आगे बढ़ना चाहते हैं।’’

संरा समिति ने एक मई 2019 को अजहर को अलकायदा से संबद्ध के तौर पर सूचीबद्ध किया। जैश ए मोहम्मद का सहयोग करने का संकेत देने वाली गतिविधियों के लिए धन जुटाने, योजना बनाने, उसे प्रोत्साहित करने, तैयारी करने या हथियारों की आपूर्ति करने या आतंकी हरकतों के लिए भर्तियां करने को लेकर उसे इस सूची में डाला गया है। बीजेपी लोकसभा चुनाव प्रचार में राष्ट्रवाद को मुख्य चुनावी मुद्दा बनाए हुए है और अब पार्टी इस नए घटनाक्रम को चुनाव प्रचार में रेखांकित करने को तैयार है।

 

 

1 COMMENT

  1. इतनी देर काहे लग गई। अभी तक तो कोट भलावल जेल में वापस पहुँच जाना चाहिए था। बिरयानी ठंडी हो जाएगी। जल्दी करो वीरों ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here