टेनिस स्टार सानिया मिर्जा ने बेटे को दिया जन्म, पति शोएब मलिक ने इस तरह जाहिर की खुशी

0

भारतीय टेनिस स्टार सानिया मिर्जा और पाकिस्तानी क्रिकेटर शोएब मलिक को जिस दिन का लंबे समय से इंतजार था, वो दिन मंगलवार को आ गई। जी हां, सानिया मिर्जा और शोएब मलिक के घर नया मेहमान आ गया है। मंगलवार यानी 30 अक्टूबर की सुबह सानिया मिर्जा ने बेटे को जन्म दिया। सानिया और बच्चा दोनों स्वस्थ हैं। सानिया और शोएब की ये पहली संतान है। आपको बता दें कि दोनों स्टार ने 2010 में निकाह किया था।

FILE PHOTO: REUTERS

सानिया के पति शोएब मलिक ने अपने ट्विटर हैंडल पर यह खुशखबरी अपने फैंस के साथ शेयर की है। शोएब ने ट्वीट कर लिखा है, ‘बताते हुए बहुत उत्साहित हूं। लड़का हुआ है और मेरी गर्ल (सानिया) बिल्कुल ठीक हैं और हमेशा की तरह मजबूती से खड़ी हैं। #अलहमदुल्लाह। आपकी दुआओं और शुभकामनाओं के लिए शुक्रिया। हम बहुत शुक्रगुजार हैं।’ शोएब मलिक ने ट्वीट के साथ हैशटैग #BabyMirzaMalik का भी इस्तेमाल किया है।

शोएब मलिक ने फैंस का दुआओं के लिए शुक्रिया भी अदा किया। इस खबर के साथ ही दोनों खूबसूरत कपल को बधाई संदेश मिलने शुरू हो गए हैं। आपको बता दें कि सानिया मिर्जा ने भी अपनी प्रेग्नेंसी की खबर सोशल मीडिया पर जब शेयर की थी, तभी उन्होंने #BabyMirzaMalik हैशटैग इस्तेमाल किया था।

सानिया मिर्चा के मां बनने की खबर उनकी बहन अनम मिर्जा ने भी सोशल मीडिया पर शेयर की है। दोनों तरफ से यह खबर शेयर करने के बाद से ही भारत और पाकिस्तान से लोग #BabyMirzaMalik का दिल खोलकर स्वागत कर रहे हैं। सोशल मीडिया पर लोगों ने बच्चे को खूब शुभकामनाएं दी हैं।

आपको बता दें कि बच्चे के सरनेम को भी लेकर काफी विवाद हुआ था। जिसके जवाब में सानिया मिर्जा ने अप्रैल महीने में गोवा फेस्ट-2018 में लैंगिक पक्षपात पर एक परिचर्चा के दौरान कहा था कि, ‘मैं आपको एक राज की बात बताती हूं। मेरे पति और मैंने इस पर बात की है। हमने तय किया है कि जब भी हमारा बच्चा होगा तो उसका सरनेम ‘मिर्जा मलिक’ होगा।’ सानिया ने कहा था कि वह और उनके पति शोएब मलिक एक बेटी चाहते हैं।

गौरतलब है कि सानिया मिर्जा ने साल 2010 में पाकिस्तानी क्रिकेटर शोएब मलिक से निकाह किया था। हालांकि इसके बाद भी सानिया भारत की ओर से ही खेलती हैं। सानिया मिर्जा कई बार कह चुकी हैं कि उन्होंने भारत-पाकिस्तान के आपसी रिश्ते सुलझाने के लिए शोएब से शादी नहीं की हैं। इसके बावजूद आए दिन उनके परिवार और निजी रिश्तों को दो राष्ट्रों की आपसी लड़ाई में घसीट लिया जाता है।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here