VIDEO: बीजेपी विधायक संगीत सोम का विवादित बयान, बोले- बुर्के की आड़ में पनप रहा आतंकवाद

0

अपने विवादित बयानों को लेकर मीडिया की सुर्खियों में रहने वाले उत्तर प्रदेश के मेरठ जिले की सरधना सीट से भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के विधायक संगीत सोम ने एक बार फिर से विवादित बयान दिया है। संगीत सोम ने अपने फेसबुक पेज पर एक वीडियो जारी किया है। वीडियो में उन्होंने कहा है कि बुर्के के चलते आतंकवाद को बढ़ावा मिल रहा है और बुर्के की आड़ में फर्जी मतदान हो रहे हैं। ऐसे में उन्होंने देश में जल्दी बुर्के पर प्रतिबंध लगाने की मांग की है। अपने इस वीडियो में संगीत सोम ने जावेद अख्तर पर भी निशाना साधा है।

संगीत सोम

फेसबुक पर अपने एक वीडियो पोस्ट में बीजेपी विधायक ने कहा कि, आज पूरी दुनिया व पूरे भारत देश में बुर्क़ा आतंक का पर्याय बन चुका है। श्रीलंका जैसे देश में बुर्के की आड़ में कई सौ लोगों की हत्या की गई है। आतंकवाद जैसे बुर्के की आड़ में पनप रहा है। उससे देश के लोकतंत्र के लिए भी खतरा बढ़ रहा है। संगीत सोम ने आगे कहा कि हिंदुस्तान में लोकतंत्र को खत्म करने के लिए बुर्का की आड़ में फर्जी वोटिंग की जा रही है।

इस बीच उन्होंने पिछले दिनों घूंघट को लेकर जावेद अख्तर के बयान पर उनका नाम लिए बगैर कहा कि एक फिल्मकार और लेखक ने घूंघट को बैन करने की बात कही है, लेकिन पूछना चाहता हूं कि क्या कभी घूंघट में आतंकवाद हुआ है। क्या आपको हर चीज में सांप्रदायिकता दिखती है। क्या आप भूल जाते हैं कि आप अक्सर उन लोगों के साथ खड़े होते हैं जो लोग आतंकवादियों का साथ देते हैं। देश के टुकड़े-टुकड़े गैंग के साथ खड़े होते हैं। आप उनके लिए प्रचार करने जाते हैं। इसलिए इससे आपकी मानसिकता और तुष्टीकरण की नीति साफ जाहिर होती है।

संगीत सोम ने आगे कहा कि मैं लोगों से कहना चाहता हूं कि देश में जिस तरह से बुर्के से आतंकवाद को बढ़ावा मिल रहा है। उसके लिए जल्द से जल्द देश में बुर्का बैन होना चाहिए।

बुर्के की आड़ में फर्जी मतदान से लोकतंत्र को खतरा है तथा बुर्के से आतंकवाद को बढ़ावा मिल रहा है मेरा मानना है श्रीलंका के बाद भारत में भी बुर्के पर प्रतिबंध लगना चाहिए ।

Posted by Sangeet Singh Som on Friday, May 3, 2019

बता दें कि अनेक पुरस्कारों से नवाजे जा चुके प्रसिद्ध गीतकार जावेद अख्तर ने कहा था कि देश में यदि बुर्के पर प्रतिबंध लगने की बात हो रही है, तो पहले घूंघट पर प्रतिबंध लगना चाहिए। गौरतलब है कि शिवसेना के मुखपत्र ‘सामना’ में श्रीलंका का हवाला देते हुए भारत में सार्वजनिक जगहों पर बुर्के पर बैन लगाने की मांग की गई थी।

बुर्का और घूंघट को एक बताते हुए दोनों पर प्रतिबंध लगाए जाने के बयान पर विवाद होने के बाद जावेद अख्तर ने एक ट्वीट कर सफाई देते हुए कहा था कि उनके बयान को तोड़ने मरोड़ने की कोशिश की गई है।

जावेद अख्तर ने शुक्रवार को ट्वीट कर कहा, “कुछ लोग मेरे बयान को तोड़ने-मरोड़ने की कोशिश कर रहे हैं। मैंने कहा है कि श्रीलंका में यह सुरक्षा कारणों से किया गया है, लेकिन वास्तव में यह महिला सशक्तिकरण के लिए आवश्यक है। चेहरे को ढंकना बंद कर देना चाहिए चाहे नकाब हो या घूंघट।”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here