#MeToo: अनु मलिक के समर्थन में आए समीर अंजान, सिंगर श्वेता पंडित के आरोपों को लेकर कहीं यह बात

0

देश भर में चल रहे ‘मी टू’ अभियान के तहत हर रोज चौंकाने वाले खुलासे हो रहे हैं। महिलाओं के इस अभियान का बड़े पैमाने पर समर्थन भी मिल रहा है। इस ‘मी टू’ मुहिम में हर रोज नए-नए नाम उभरकर सामने आने का सिलसिला थमने का नाम ही नहीं ले रहा है।

‘मी टू’ अभियान के तहत सिंगर और म्यूजिक डायरेक्टर अनु मलिक पर सिंगर श्वेता पंडित ने उन पर आरोप लगाया कि जब वह नाबालिग थीं तो मलिक ने उनका उत्पीड़न किया था। वहीं, अनु मलिक ने इन आरोपों का खंडन किया है।

अनु मलिक

सिंगर श्वेता पंडित ने बुधवार को ट्विटर पर एक लंबी पोस्ट में मलिक पर बच्चों के प्रति यौन आकर्षण रखने और यौन-उत्पीड़क होने का आरोप लगाते हुए कहा कि संगीतकार ने उनके साथ दुर्व्यवहार तब किया जब वह हिन्दी म्यूजिक इंडस्ट्री में नई थी।

अनु मलिक पर लगे आरोपों को अब मशहूर लिरिसिस्ट समीर अंजान ने सिरे से नकारा है। समीर ने एक पोस्ट में लिखा है कि मौके पर वह श्वेता और अनु मलिक के साथ मौजूद थे। उनका कहना है कि श्वेता के ये आरोप झूठे हैं और अनु मलिक उन्हें ‘बेटी’ कहकर बुला रहे थे।

अपने पोस्ट में समीर अंजान ने लिखा, ‘श्वेता पंडित का पोस्ट पढ़ने के बाद मैं यह लिख रहा हूं, क्योंकि साल 2001 में हुए इस वाक्ये के दौरान में भी स्टूडियो में मौजूद था। मुझे अच्छे से याद है कि श्वेता अपनी मां के साथ आई थीं। उस दौरान हम फिल्म ‘आवारा पागल दीवाना’ के म्यूजिक पर काम कर रहे थे। तब अनु ने श्वेता और उनकी मां को रिकॉर्डिंग हॉल में बैठने के लिए कहा। काम खत्म होने के बाद अनु ने श्वेता को बुलाया और कहा ‘बेटा आप कुछ गाना सुनना चाहते हो तो सुनाओ।

उन्होंने अपने पोस्ट में आगे लिखा, तब श्वेता ने आग्रह किया कि वह किसी दूसरे रूम में गा सकती हैं क्या? लेकिन अनु जी ने कहा कि मैं चाहता हूं कि समीर जी भी तुम्हारी आवाज सुने। श्वेता का गाना सुनने के बाद अनु जी ने कहा, ‘तुम्हारी आवाज बहुत अच्छी है और भविष्य में कुछ हुआ तो तुम्हारे साथ प्रोजेक्ट्स पर काम किया जा सकता है। इसके बाद वो लोग चले गए।

बता दें कि श्वेता पंडित ने अपने पोस्ट में कहा था, यह वर्ष 2000 था जब मुझे ‘मोहब्बतें’ फिल्म में मुख्य गायिका के तौर पर लांच किया गया और मैं इस कामयाबी को आगे बढ़ाने के लिए दूसरे अच्छे गीत हासिल करने की कोशिश कर रही थी। उन्होंने कहा कि वह संगीतकार की प्रशंसक थीं। 2001 के मध्य में मलिक के प्रबंधक ने उन्हें अंधेरी के एम्पायर स्टूडियो में उनसे मिलने के लिए फोन कर बुलाया तो वह रोमांचित हो गईं। गायिका ने कहा, जब मैं और मेरी मां मॉनीटर कक्ष में पहुंचे तो वह (मलिक) ‘आवारा पागल दीवाना’ फिल्म के लिए सुनिधि और शान के साथ समूह गीत रिकॉर्ड करा रहे थे। उन्होंने एक छोटे कैबिन में इंतजार करने को कहा, वहां सिर्फ मैं और वह थे।

मलिक ने श्वेता की आवाज परखने के लिए उनसे कुछ पक्तियां गाने को कहा। पंडित ने कहा, मैंने इतना अच्छा गाया कि उन्होंने कहा, मैं तुम्हें सुनिधि और शान के साथ यह गाना दूंगा, लेकिन पहले मुझे एक किस दो। फिर वह मुस्कुराया। मैं इसे सबसे भयानक मुस्कुराहट के तौर पर याद करती हूं। मैं सन्न रह गई और चेहरा पीला पड़ गया, मैं तब सिर्फ 15 साल की थी और स्कूल में पढ़ती थी।

गायिका ने कहा, क्या कोई उस क्षण की कल्पना कर सकता है जो मुझपर वहां बीता। यह ऐसा था जैसे किसी ने मेरे पेट में छुरा घोंप दिया हो। मैं इस व्यक्ति को अनु अंकल कहती थी और वह दशकों से मेरे पूरे परिवार को जानता था। वह हमें संगीतकार के सम्मानित घराने के तौर पर जानते था। इसे अपनी जिंदगी का सबसे खराब अनुभव बताते हुए गायिका ने कहा कि घटना के बाद वह महीनों तक उदास रहीं और इसे अपने माता-पिता को नहीं बता पाईं।

श्वेता के आरोपों पर प्रतिक्रिया देते हुए अनु मलिक के वकील ने एक बयान में कहा, ‘मेरे मुवक्किल के खिलाफ लगे आरोप पूरी तरह गलत और आधारहीन हैं।’ उन्होंने कहा, अनु मलिक ‘मी टू’ अभियान का सम्मान करते हैं लेकिन इसका इस्तेमाल चरित्र हनन के मकसद से करना बेतुका है। बता दें कि बीते सप्ताह एक अन्य गायिका सोना महापात्रा ने भी अनु मलिक पर यौन शोषण के आरोप लगाते हुए उन्हें ‘आदतन यौन शिकारी’ बताया था। मलिक इस आरोप का भी खंडन कर चुके हैं।

बता दें कि दस साल पहले साल 2008 में फिल्म ‘हॉर्न ओके प्लीज’ के सेट पर अपने साथ हुए दुर्व्यवहार की घटना को साझा करते हुए तनुश्री ने फिल्म मेकर, अभिनेता नाना पाटेकर और कोरियोग्राफर पर कई गंभीर आरोप लगाए हैं। नाना पाटेकर पर यौन शोषण का आरोप लगाने के बाद अकेली पड़ीं तनुश्री दत्ता को धीरे-धीरे बॉलीवुड के तमाम बड़े सितारों का सपोर्ट मिल रहा है। इसके बाद तनुश्री ने नाना पाटेकर के खिलाफ शिकायत भी दर्ज करा दी है। तनुश्री के बाद फिल्म इंडस्ट्री से कई महिलाएं सामने आईं जिसके बाद देशभर में #MeToo मूवमेंट शुरू हो गया।

गौरतलब है कि नाना पाटेकर के बाद जहां डायरेक्टर विकास बहल, मशहूर सिंगर कैलाश खेर, अभिनेता रजत कपूर, मॉडल जुल्फी सैयद, अभिनेता आलोक नाथ, ‘हिंदुस्तान टाइम्स’ (एचटी) के ब्यूरो प्रमुख और राजनीतिक संपादक प्रशांत झा सहित एमजे अकबर पर भी यौन दुर्व्यवहार के आरोप लगे हैं। अकबर ने अपने खिलाफ लगे इन आरोपों को लेकर बुधवार को मंत्री पद से इस्तीफा दे दिया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here