समाजवादी पार्टी ने घोषणापत्र में मुसलमानों को 18 प्रतिशत आरक्षण का वादा नहीं किया था-आज़म खान

0

उत्तर प्रदेश के संसदीय कार्यमंत्री आजम खां ने आज विधानसभा में कहा कि सत्तारूढ समाजवादी पार्टी ने मुसलमानों को उनकी आबादी के अनुपात में 18 प्रतिशत आरक्षण देने का वादा कभी नहीं किया था।

जब तक संविधान नहीं बदला जाता तब तक 18 प्रतिशत तो क्या अल्पसंख्यको को 0.18 प्रतिशत आरक्षण भी नहीं दिया जा सकता।’

जनसत्ता की खबर के अनुसार, यह बात आज विधानसभा में कानून एवं व्यवस्था के मद्दे पर पेश कार्यस्थगन प्रस्ताव की ग्राह्यता पर बहस के दौरान नेता प्रतिपक्ष गयाचरण दिनकर के इस आरोप पर कहीं कि सपा सरकार ने मुसलमानों को 18 प्रतिशत आरक्षण देने के वादे पर बेवकूफ बनाया है।

Also Read:  सपा में कलह तेज़, शिवपाल सिंह यादव बोले -भाई मुलायम के फैसले का पालन करूंगा

यह कहते हुए कि मुसलमान अब जागरूक हो गये है और उन्हें भावनात्मक मुद्दो पर बेवकूफ नहीं बनाया जा सकताआजम ने कहा ’’मुसलमान बच्चे अब कन्चे नहीं कंप्यूटर पर खेलने लगे हैं।
उन्होंने कहा कि मुसलमानों को अब पहले की बातें भी मालूम हो गयी है कि किस तरह बसपा ने तीन बार भाजपा के साथ मिलकर सरकार बनाई और मायावती ने गुजरात में नरेंद्र मोदी के पक्ष में चुनाव प्रचार किया।

Also Read:  लैपटॉप के बाद अब जनता को मोबाइल फोन देंगे अखिलेश, घोषणापत्र में शामिल होगा वादा

आजम ने यह भी कहा’ बसपा राज में तमाम जिले बने, मूर्तियां लगी, पार्क बनवाये गए, मगर उनमें से एक भी किसी मुस्लिम महापुरूष के नाम पर नहीं है। यह भी याद दिलाया कि कभी कानपुर की एक जनसभा में बसपा संस्थापक कांशीराम ने अयोध्या विवाद के समाधान के लिए मस्जिद की जगह पर लैट्रिन बनवा देने की बात कहीं थी।

Also Read:  ब्रिक्स रैंकिंग में शीर्ष 200 संस्थानों में भारत के 16 संस्थान

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here