रियो ओलंपिक: साक्षी ने दिलाया भारत को पहला मेडल

0

भारत की साक्षी मलिक ने रियो ओलिंपिक में  इतिहास रच दिया है।साक्षी भारत की ओर से कुश्ती में पदक जीतने वाली पहली महिला पहलवान बन गई है।

sakshimalik_ap-696x464

साक्षी मलिक ने महिला कुश्ती की 58 किग्रा स्पर्धा में रेपेचेज के जरिये कांस्य पदक जीतकर आज यहां रियो ओलंपिक खेलों में भारत को पदक तालिका में जगह दिलाई और 11 दिन की मायूसी के बाद भारतीय प्रशंसकों को जश्न मनाने का मौका दिया।

Also Read:  Ensure justice to abused Nepali domestic workers: Amnesty

भारत की दूसरी पहलवान विनेश फोगाट हालांकि चोटिल होने के कारण क्वार्टर फाइनल मुकाबले से ही बाहर हो गई जबकि बैडमिंटन पुरूष एकल में किदांबी श्रीकांत को कड़ी चुनौती पेश करने के बावजूद दो बार के गत चैम्पियन चीन के लिन डैन के खिलाफ शिकस्त का सामना करना पड़ा।

Also Read:  चैंपियंस ट्रॉफी: भारत की हार पर पाक समर्थन नारे लगाने वालों पर से हटाया गया 'देशद्रोह' का केस

साक्षी को क्वार्टर फाइनल में रूस की वालेरिया कोबलोवा के खिलाफ 2-9 से शिकस्त का सामना करना पड़ा था लेकिन रूस की खिलाड़ी के फाइनल में जगह बनाने के बाद उन्हें रेपेचेज राउंड में खेलने का मौका मिला।

दूसरे दौर के रेपेचेज मुकाबले में साक्षी का सामना मंगोलिया की ओरखोन पुरेवदोर्ज से हुआ जिन्होंने जर्मनी की लुईसा हेल्गा गेर्डा नीमेश को 7-0 से हराकर भारतीय पहलवान से भिड़ने का हक पाया था।

ताइनीबेकोवा के खिलाफ साक्षी की शुरूआत बेहद खराब रही और वह पहले राउंड के बाद 0-5 से पिछड़ रही थी लेकिन भारतीय खिलाड़ी ने दूसरे राउंड में जोरदार वापसी करते हुए आठ अंक जुटाए और भारत को रियो ओलंपिक खेलों का पहला पदक दिला दिया।

Also Read:  मध्‍य प्रदेश: हिंदू महासभा ने बनाया महात्मा गांधी के हत्यारे नाथूराम गोडसे का मंदिर, स्थापित की गई मूर्ति

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here