महाराष्ट्र में सूखे की जिम्मेदार है सांई पूजा: शंकराचार्य

0

द्वारिका-शारदापीठ के शंकराचार्य अपनी हरिद्वारा यात्रा के दौरान एक बार फिर सांई पूजा पर विवादित बयान देने के कारण सुखिर्यों में आ गए है। इस बार उन्होंने कहा कि अशुभ है सांई पूजा इसी वजह से महाराष्ट्र में पड़ रहा है सूखा।

शंकराचार्य ने इस पर आगे बोलते हुए कहा कि सांई एक फकीर थे और एक भगवान के तौर पर उनकी पूजा करना अशुभ है। महाराष्ट्र के लोग सांई बाबा की पूजा करते है, ये सूखा उसी की देन है। उन्होनें कहा की जहां भक्त अयोग्य लोगों की पूजा करते है ऐसी जगहों पर सूखे, प्राकृतिक आपदाओं और लोगों की मौत होती है। महाराष्ट्र भी उन ऐसी जगहों में से एक हैं। जहां लोग सांई को मानते हैं।

इससे पहले भी शंकराचार्य सांई बाबा को लेकर ऐसे विवादित बयान दे चुके हैं। 2014 में उन्होंने बाकायदा सांई पूजा का विरोध करने के लिये एक धर्म संसद का भी आयोजन किया था, जहां सर्वसम्मति से सांई पूजा के बहिष्कार करने का ऐलान किया गया था। अब अपनी हरिद्वार यात्रा के दौरान सूखे के जिम्मेदार सांई पूजा को बताते हुए एक बार फिर शंकराचार्य ने इस मुद्दे को गरमा दिया हैं।

LEAVE A REPLY