BJP विधायक ने प्रज्ञा सिंह ठाकुर के हेमंत करकरे पर दिए विवादित बयान को बताया ‘शर्मनाक’ और ‘राजद्रोह’, चुनाव आयोग ने जारी किया कारण बताओ नोटिस

0

गोरखपुर से भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के विधायक राधा मोहन दास अग्रवाल ने मालेगांव बम धमाकों की आरोपी और भोपाल लोकसभा सीट से बीजेपी उम्मीदवार साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर के शहीद हेमंत करकरे को लेकर दिए गए बयान को राजद्रोह करार दिया है। अग्रवाल ने शुक्रवार को एक ट्वीट कर कहा कि हेमंत करकरे आतंकवादियों से मुकाबला करते हुए शहीद हो गए और उनकी शहादत का अपमान करना न सिर्फ शर्मनाक बल्कि राजद्रोह भी है।

File Photo: PTI

इस बारे में शनिवार को पूछे जाने पर अग्रवाल ने समाचार एजेंसी पीटीआई से कहा, ‘‘हां मैंने यह ट्वीट किया है और मैं अपने बयान पर कायम हूं। हेमंत करकरे भारत के महान शहीद और बेहतरीन पुलिस अधिकारी थे।’’ इस सवाल पर कि प्रज्ञा को भोपाल लोकसभा सीट से बीजेपी ने ही उम्मीदवार बनाया है, सिंह ने कहा कि पार्टी पहले ही प्रज्ञा के बयान से खुद को अलग कर चुकी है। प्रज्ञा का बयान पार्टी का बयान नहीं है। इसी वजह से उन्होंने माफी भी मांगी है।

बीजेपी विधायक ने ट्वीट कर लिखा, “बुलेटप्रूफ जैकेट न पहन पाने के बावजूद आतंकवादियों का मुकाबला करने तथा उनकी गोलियों से शहीद होने वाले शहीद हेमन्त करकरे की शहादत को अपने श्राप का फल बताना और उन्हें देशद्रोही बताना बहुत शर्मनाक बयान है और देशद्रोह है।”

गौरतलब है कि प्रज्ञा ठाकुर ने मुंबई हमलों के दौरान शहीद हुए पुलिस अधिकारी हेमंत करकरे के खिलाफ विवादित बयान देते हुए कहा था कि मालेगांव बम धमाके के मामले में गिरफ्तारी के बाद करकरे ने उन्हें यातनाएं दी थीं और उनके शाप की ही वजह से आतंकवादियों ने उन्हें मार डाला। हालांकि, इस बयान के बाद चारों तरफ से आलोचनाओं से घिरीं प्रज्ञा ने एक दिन बाद शुक्रवार को अपना बयान वापस ले लिया था और माफी भी मांग ली थी।

जारी हुआ कारण बताओ नोटिस

इस बीच चुनाव आयोग ने 26/11 के मुम्बई आतंकी हमले में शहीद हुए पुलिस अधिकारी हेमंत करकरे के बारे में दिए गए विवादित बयान पर साध्वी प्रज्ञा को शनिवार को कारण बताओ नोटिस जारी किया है। 29 सितम्बर, 2008 को मालेगांव में हुए बम धमाकों के मामले में प्रज्ञा आरोपी हैं और तकरीबन 9 साल जेल में रही हैं। इस बहुचर्चित मामले में वह इन दिनों जमानत पर चल रही हैं।

जिला निर्वाचन अधिकारी एवं भोपाल कलेक्टर सुदाम खाड़े ने ‘पीटीआई-भाषा’ को बताया, ‘‘हमने प्रज्ञा के इस बयान पर स्वत: संज्ञान लिया है। इस संबंध में हमने प्रज्ञा एवं कार्यक्रम के आयोजक बीजेपी भोपाल जिलाध्यक्ष विकास वीराना को आज कारण बताओ नोटिस जारी कर दिया है।’’ उन्होंने कहा, ‘‘इस संबंध में वे एक दिन में स्पष्टीकरण प्रस्तुत करें, अन्यथा समयावधि में उत्तर प्रस्तुत न किए जाने की दशा में एक पक्षीय कार्रवाई की जाएगी।’’

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here