ICC ‘हॉल ऑफ फेम’ में शामिल होने वाले छठे भारतीय क्रिकेटर बने सचिन तेंदुलकर

0

‘क्रिकेट के भगवान’ के नाम से मशहूर टीम इंडिया के पूर्व दिग्गज सलामी बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर को दक्षिण अफ्रीका के महान तेज गेंदबाज एलेन डोनाल्ड के साथ अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) के ‘हॉल ऑफ फेम’ में शामिल किया गया है। तेंदुलकर आईसीसी ‘हॉल ऑफ फेम’ में शामिल होने वाले छठे भारतीय खिलाड़ी बने। उनसे पहले सुनील गावस्कर, बिशन सिंह बेदी, कपिल देव, अनिल कुंबले और राहुल द्रविड़ ‘हाल ऑफ फेम’ में शामिल हुए थे।

सचिन तेंदुलकरतेंदुलकर और डोनाल्ड के साथ इस साल ‘हाल ऑफ फेम’ में दो बार के विश्व कप विजेता आस्ट्रेलियाई महिला क्रिकेटर कैथरीन फिट्जपैट्रिक को भी शामिल किया गया है। तेंदुलकर ने रविवार की रात ‘हॉल ऑफ फेम’ में शामिल करने के समारोह में कहा, ‘‘आईसीसी क्रिकेट ‘हॉल ऑफ फेम’ में शामिल किया जाना सम्मान की बात है जो पीढ़ी दर पीढ़ी क्रिकेटरों के योगदान को संजोता है। इन सभी ने खेल के विकास और लोकप्रियता में योगदान दिया है और मैं खुश हूं कि मैंने भी इसमें अपना योगदान दिया।’’

उन्होंने अपने परिवार और कोच को शुक्रिया कहा जिन्होंने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में करीब ढाई दशक के करीब की यात्रा में उनका सहयोग किया। इस पूर्व महान बल्लेबाज ने कहा, ‘‘इस मौके पर मैं उन सभी को शुक्रिया कहना चाहूंगा जो मेरे लंबे अंतरराष्ट्रीय करियर के दौरान मेरे साथ रहे। मेरे माता पिता, भाई अजीत और पत्नी अंजलि मेरे लिए ताकत के स्तंभ रहे हैं जबकि मैं भाग्यशाली रहा कि मुझे शुरू में मार्गदर्शन के लिये रमाकांत आचरेकर जैसा कोच और मेंटोर मिला।’’

क्रिकेट इतिहास के सबसे शानदार बल्लेबाज तेंदुलकर को ‘हॉल ऑफ फेम’ में शामिल होने की योग्यता हासिल करने के तुरंत बाद ही इसमें जगह मिल गई जिसके लिए एक खिलाड़ी को अपना अंतिम अंतरराष्ट्रीय मैच कम से कम पांच साल पहले खेल लेना चाहिए। पूर्व दाएं हाथ के बल्लेबाज ने सर डोनाल्ड ब्रैडमैन के साथ क्रिकेट खेला है और टेस्ट और वनडे दोनों में सबसे ज्यादा रन जुटाने वाले खिलाड़ी बने हुए हैं।

नवंबर 2013 में संन्यास ले चुके 46 साल के तेंदुलकर ने टेस्ट में 15,921 और वनडे में 18,426 रन बनाए हैं जो अब भी रिकार्ड बने हुए हैं। उन्होंने कहा, ‘‘मैं अपने सभी कप्तानों, साथी खिलाड़ियों और बीसीसीआई, एमसीए प्रशासकों के इतने वर्षों से समर्थन का भी शुक्रिया करता हूं, जिनकी वजह से मैं इतने लंबे समय तक खेल का लुत्फ उठा पाया। मैं आईसीसी को भी मेरे क्रिकेट करियर की सराहना करने के लिये शुक्रिया कहता हूं।’’

वहीं, डोनाल्ड खेल के बेहतरीन तेज गेंदबाजों में से एक हैं जिन्होंने 330 टेस्ट और 272 वनडे विकेट चटकाये हैं। इस 52 साल के क्रिकेटर ने 2003 में क्रिकेट को अलविदा कहा था। इसके अलावा कैथरीन महिला क्रिकेट में दूसरी सर्वाधिक विकेट चटकाने वाली खिलाड़ी हैं जिन्होंने वनडे में 180 और टेस्ट में 80 विकेट चटकाये हैं। कोच के तौर पर उन्होंने आस्ट्रेलियाई महिला टीम को तीन विश्व कप खिताब दिलाए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here