सोशल मीडिया: “RSS के एस गुरुमूर्ति को RBI के निदेशक मंडल में शामिल किया गया है, अब भागवत जी का PM बनना ही बाकी रह गया है”

0
4
File photo of S. Gurumurthy. Credit: Rediff/PTI

केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार ने पेशे से चार्टर्ड एकाउंटेंट स्वामीनाथन गुरुमूर्ति को केंद्रीय बैंक रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (आरबीआई) के निदेशक मंडल में शामिल किया है। बता दें कि गुरुमूर्ति राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) से संबद्ध स्वदेशी जागरण मंच से जुड़े हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के करीबी माने जाने वाले एस गुरुमूर्ति को आरबीआई में अंशकालिक निदेशक बनाया गया है। गुरुमूर्ति तमिल पत्रिका तुगलक के संपादक भी हैं।

File photo of S. Gurumurthy. Credit: Rediff/PTI

गुरुमूर्ति अब अगले चार वर्षों तक नॉन ऑफिशियल डायरेक्टर पद पर बने रहेंगे। अप्वॉइंट कमेटी ऑफ कैबिनेट (एसीसी) ने मंगलवार को उनकी नियुक्ति को मंजूरी दी। कार्मिक मंत्रालय की ओर से जारी आदेश में कहा गया है कि मंत्रिमंडल की नियुक्ति समिति ने गुरुमूर्ति की रिजर्व बैंक के बोर्ड में गैर आधिकारिक निदेशक के रूप में नियुक्ति को मंजूरी दे दी है।

स्वदेशी जागरण मंच के सह-संयोजक गुरुमूर्ति का कार्यकाल नियुक्ति की अधिसूचना जारी होने तिथि से चार साल के लिए होगा। यह आरबीआई एक्ट 1934 के अनुच्छेद 8(1)(C) के तहत किया गया है। गुरुमूर्ति के साथ ही RSS से जुड़े सतीश काशीनाथ मराठे को भी आरबीआई के नॉन ऑफिशियल पार्ट टाईम डॉयरेटक्टर के रूप में नियुक्त किया गया है।

नवंबर 2016 में पीएम मोदी ने नोटबंदी का फैसला किया था इसके पीछे गुरुमूर्ति का ही दिमाग बताया गया था। ऐसा कहा जाता है कि प्रधानमंत्री ने नोटबंदी से पहले स्वामिनाथन से सलाह ली थी। नोटबंदी के फैसले का उन्होंने पुरजोर समर्थन किया था। बता दें कि उस वक्त 500 और 1000 रुपये के नोटों को रातोंरात चलन से बाहर कर दिया गया था। स्वामिनाथन RSS और BJP के विचारक भी हैं।

सोशल मीडिया यूजर्स ने उठाए सवाल

 

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here