RSS ने टीपू सुल्तान को बताया धार्मिक रूप से कट्टर और हिंसक सुल्तान, जयंती का किया विरोध

0

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) ने कर्नाटक में टीपू सुल्तान जयंती मनाए जाने का विरोध किया है। संघ ने कहा कि मैसूर के शासक रहे टीपू धार्मिक रूप से कट्टर और हिंसक सुल्तान थे।

कर्नाटक, तेलंगाना और आंध्र प्रदेश के क्षेत्रीय संघचालक वी नागराज ने कहा, ‘हमारा संगठन सड़कों पर उतर कर टीपू जयंती के विरोध में प्रदर्शन करेगा।

RSS

क्योंकि वह धार्मिक रूप से कट्टर और हिंसक सुल्तान थे।’ कर्नाटक में टीपू जयंती दस नवंबर को मनाई जाएगी। राज्य की कांग्रेस सरकार ने पिछले साल उनकी जयंती मनाने का फैसला किया था। इसके चलते पिछले साल नवंबर में कोडागू जिले में हिंसा भड़क गई थी। हिंसा में विहिप के एक नेता की मौत हो गई थी, जबकि कई लोग घायल भी हुए थे।

भाषा की खबर के अनुसार,  एक सवाल के जवाब में नागराज ने संघ कार्यकर्ता रुद्रेश के हत्यारों की गिरफ्तारी पर संतुष्टि जाहिर की। उन्होंने राज्य सरकार से इन्हें फांसी की सजा दिलाए जाने की मांग की। रुद्रेश की 16 अक्टूबर को धारदार हथियार से हत्या कर दी गई थी। इस मामले में गुरुवार को चार लोगों को गिरफ्तार किया गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here