RSS मुसलमानों और दलितों के खिलाफ करता है दशहरे पर हथियारों की पूजा- प्रकाश अंबेडकर

0

डॉ बी आर अंबेडकर के पोते प्रकाश अंबेडकर ने बुधवार को राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ पर एक ज़ोरदार प्रहार करते हुए कहा कि विजयदशमी के दिन जो शस्त्र संघ द्वारा प्रदर्शित किए जाते हैं, उनका इस्तेमाल संघ दलित और मुसलमानों के खिलाफ करता है।

उन्होंने कहा, ” मैं संघ से सवाल पूछना चाहता हूं जो आज सरकार में है। आपके दुश्मन कौन हैं।? विजयदशमी पर वो हथियारों की नुमाइश लगाकर उनकी पूजा करते हैं। ऐसी पूजा राजाओं के द्वारा करने का मतलब समझ में आता था। उन्हें अपने राज्य की रक्षा करनी होती थी। पर आज हम स्वतंत्र हैं।

प्रकाश ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर भी निशाना साधते हुए कहा कि पीएम मोदी की दलितों के लिए सहानुभूति खोखली थी मोदी ने कहा मुझे गोली मार दो लेकिन हम आपको जिंदा देखना चाहते हैं। हालांकि जिन शब्दों का आप इस्तेमाल कर रहे हैं उन्हें सार्वजनिक करना चाहिए कि आपने इन शब्दों को कहा से चुराया है। साबित करो नहीं तो हम 16 सितंबर को आपको बेनकाब करेंगे ।

उन्होंने यह भी कहा कि दलित स्वाभिमान संघर्ष समिति को अपने अधिकारों के लिए पहली सार्वजनिक बैठक 16 सितंबर को दिल्ली में आयोजित किया जाएगा और एक देशव्यापी आंदोलन शुरू किया जाएगा महाराष्ट्र, राजस्थान, पंजाब, हरियाणा, उत्तर प्रदेश, झारखंड, ओडिशा, कर्नाटक, तमिलनाडु के दलित और मुस्लिम नेताओं को भी सम्मेलन में भाग लेने के लिए बुलाया जाएगा।

इसके बाद प्रकाश ने कहा कि भगवा संगठन समाज में मनुवाद को प्रोजेक्ट कर रहा है। जिसमें दलित ऊँची जाति के लोगों के दास रहेंगे। उन्होंने कहा ,” हम संघ से पूछना चाहते हैं आप इन हथियारों का इस्तेमाल किनके खिलाफ करना चाहते हैं।

उन्होंने कहा, “देश के छोटे मंदिर भी 40,000 करोड़ रुपए सालाना इकट्ठा करत हैं और इस पैसे का इस्तेमाल संघ को चलाने और हथियार इक्ट्ठे करने में होता है। अगर दलित मंदिर जाना और धार्मिक संगठनों को दान देना बंद कर दे तो संघ की आधी शाखा बंद हो जाएंगी।”

LEAVE A REPLY