तेल में आग: भारत बंद के बीच यहां 90 रुपये प्रति लीटर के करीब पहुंचा पेट्रोल

0

पेट्रोल-डीजल की आसमान छूती कीमतों के खिलाफ कांग्रेस की अगुआई में 21 विपक्षी राजनीति दलों ने भारत बंद का ऐलान किया है। कांग्रेस की ओर से बुलाए गए ‘भारत बंद’ के दौरान विपक्षी पार्टियां एकजुट होकर देश में पेट्रोल-डीजल और गैस की कीमतों में बढ़ोत्तरी के विरोध में प्रदर्शन किया। कांग्रेस समेत कुल 21 राजनीतिक दलों के द्वारा बुलाए गए ‘भारत बंद’ का देश के कई हिस्सों में व्यापक असर देखने को मिला है।

Petrol
प्रतीकात्मक फोटो

कांग्रेस द्वारा आहूत ‘भारत बंद’ के तहत आयोजित विरोध प्रदर्शन में ज्यादातर विपक्षी पार्टियों के नेता एक मंच पर आए। भारत बंद के बीच सोमवार को भी तेल की कीमतों में इजाफा जारी है। कई शहरों में 80 रुपये प्रति लीटर से अधिक में बिक रहा पेट्रोल महाराष्ट्र के परभणी जिले में 90 रुपये प्रति लीटर के करीब पहुंचने वाला है। जी हां, फिलहाल यहां पेट्रोल 89.97 रुपये प्रति लीटर में बिक रहा है। जो देश के अन्य शहरों के मुकाबले यहां सबसे महंगा है।

समाचार एजेंसी IANS/PTI की रिपोर्ट के मुताबिक पेट्रोल की कीमतों को लेकर परभणी जिला पेट्रोल डीलर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष संजय देशमुख ने कहा, ‘यहां पेट्रोल की कीमत सोमवार को 90 रुपये के मनोवैज्ञानिक स्तर के करीब पहुंच गई है, जबकि डीजल 77.92 रुपये प्रति लीटर में मिल रहा है।’ इसके अलावा महाराष्ट्र के अन्य इलाकों में पेट्रोल 88 रुपये और डीजल 76 में बिक रहा है। ऑल इंडिया पेट्रोल डीलर्स एसोसिएशन के प्रवक्ता ने अली दारूवाला ने यह जानकारी दी।

बता दें कि सोमवार को देश भर में विपक्षी दलों के कार्यकर्ता विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं। मध्य प्रदेश और बिहार में कई जगहों पर इस प्रदर्शन के हिंसक होने की भी खबरें हैं। पटना में वाहनों में तोड़फोड़ की खबर है, जबकि जहानाबाद में कथित तौर पर जाम के चलते इलाज के लिए ले जाई जा रही दो साल की एक बच्ची की मौत हो गई। हालांकि जिलाधिकारी ने भारत बंद के चलते बच्ची की मौत के दावों को खारिज किया है।

पेट्रोल-डीजल की आसमान छूती कीमतों को लेकर राहुल गांधी ने पीएम मोदी पर साधा निशाना

पेट्रोल-डीजल की आसमान छूती कीमतों को लेकर राहुल गांधी ने पीएम मोदी पर साधा निशाना

Posted by जनता का रिपोर्टर on Monday, September 10, 2018

मनमोहन सिंह बोले- ‘सभी हदें पार कर चुकी है मोदी सरकार

पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने सोमवार (10 सितंबर) को केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार पर वादों को पूरा करने में विफल रहने का आरोप लगाते हुए सभी विपक्षी दलों का ‘देश की एकता, अखंडता और लोकतंत्र को बचाने के लिए एकजुट होने का आह्वान किया।’ पेट्रोल-डीजल के दाम में लगातार हो रही बढ़ोतरी पर नरेंद्र मोदी सरकार को घेरने के लिए कांग्रेस की तरफ से बुलाए गए ‘भारत बंद’ के तहत सोमवार को हुए विरोध प्रदर्शन में पूर्व प्रधानमंत्री बोल रहे थे।

राजधानी दिल्ली के रामलीला मैदान में आयोजित विरोध प्रदर्शन में सिंह ने कहा, ‘इतनी बड़ी संख्या में विपक्षी दलों के नेताओं का शामिल होना बहुत महत्वपूर्ण कदम है। मोदी सरकार ऐसा बहुत कुछ कर चुकी है जो हद को पार कर चुका है। इस सरकार को बदलने का समय आने वाला है। आज किसान, नौजवान सहित हर तबका परेशान है।’ सिंह ने आरोप लगाया कि मोदी सरकार अपने वादों को पूरा करने में विफल रही है।

पूर्व पीएम ने कहा, ‘अब इस बात की जरूरत है कि सभी राजनीतिक दल अपने पुराने सिलसिलों को पीछे छोड़कर एकजुट हों। भारत की जनता की पुकार सुनें। यह तभी संभव है जब हम छोटे-छोटे मुद्दों को छोड़कर आगे बढ़ेंगे। देश की एकता, अखंडता और लोकतंत्र को बचाने के लिए हमें मिलकर काम करना होगा। इसके लिए हमें तैयार होना चाहिए।’

विरोध प्रदर्शन में सिंह के अलावा संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन (संप्रग) की प्रमुख सोनिया गांधी, कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और राकांपा प्रमुख शरद पवार सहित करीब 20 विपक्षी पार्टियों के नेता शामिल हुए। इससे पहले कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और दूसरे नेताओं ने राजघाट से रामलीला मैदान तक मार्च किया। कांग्रेस ने पेट्रोल और डीजल की कीमतों में लगातार हो रही बढ़ोतरी के खिलाफ ‘भारत बंद’ बुलाया है।

कांग्रेस की मांग है कि पेट्रोल-डीजल को जीएसटी के तहत लाया जाए

कांग्रेस की मांग है कि पेट्रोल-डीजल को जीएसटी के तहत लाया जाएhttp://www.jantakareporter.com/hindi/bharat-bandh-today-live-updates/207034/

Posted by जनता का रिपोर्टर on Sunday, September 9, 2018

Pizza Hut

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here