ऋषि कपूर ने किताब में किया खुलासा, अमिताभ बच्चन ने कभी अपने सह-कलाकार को नहीं दिया क्रेडिट

0

ऋषि कपूर ने हाल ही में अपनी बायोग्राफी ‌‘खुल्लम-खुल्ला-ऋषि कपूर अनसेंसर्ड’ रिलीज की है जिसमें ऋषि कपूर ने खुल्म खुल्ला राय रखी है। इसी क्रम में अपनी किताब में ऋषि कपूर ने अमिताभ बच्चन के बारे में खुलासा किया है जिसमें उन्होंने लिखा, “में ये स्वीकार करुंगा कि उस दौर में फिल्मों में काम करने का बड़ा नुकसान ये था कि सब एक्शन फिल्में बनाना चाहते थे। जिसका आटोमेटिक मतलब यही होता था कि जो अभिनेता एक्शन करता था उसे फिल्म का बड़ा भाग मिलता था।”

ऋषि कपूर
Photo courtesy: ndtv

“जैसा कि उम्मीद थी यही हुआ फिल्म कभी-कभी के साथ जो एक रोमांटिक फिल्म थी फिल्म में अमिताभ बच्चन के लिए  मजबूत, निर्णायक भूमिका लिखी गई लेकिन ये सिर्फ मेरे साथ ही नहीं हुआ बल्कि शशि कपूर, शत्रुघ्न सिन्हा, धर्मेंद्र, विनोद खन्ना को भी इसका सामना करना पड़ा था।”

ये भी पढ़े- ऋषि कपूर ने ‘खुल्लम खुल्ला’ कबूला चार घंटे तक हुई थी दाऊद इब्राहिम से उनकी बातचीत

एनडीटीवी की खबर के अनुसार ऋषि कपूर ने अपनी किताब में लिखा है,” इसमें शक नहीं कि अमिताभ एक शानदार प्रतिभाशाली अभिनेता हैं एक टाईम में बॉक्स ऑफिस पर उन्होंने राज किया है वो एक एक्शन हीरो, एंग्री यंग मैन थे। इसलिए उनके लिए भूमिका लिखी जाती थी। यघपि हम छोटे सितारों रहे लेकिन हम भी कम अभिनेता नहीं थे। हमे कड़ी मेहनत करनी पड़ी उसे मैच करने के लिए मेरे समय में, संगीत / रोमांटिक हीरो की कोई जगह नहीं थी। अमिताभ एक्शन फिल्मों के युग में एक एक्शन हीरो थे। इस कारण लेखक भी फिल्म में अमिताभ को बड़ा रोल देते थे इस बात ने अमिताभ को फायदा पहुंचाया लेकिन अमिताभ ने अपने किसी भी इंटरव्यू या किताब में अपने साथ काम करने वालों को क्रेडिट नहीं दिया उन्होंने सदा अपने लेखकों और निर्देशकों, सलीम-जावेद, मनमोहन देसाई, प्रकाश मेहरा, यश चोपड़ा और रमेश सिप्पी को श्रेय दिया है।”

“लेकिन यह भी सच है कि उनके सह-कलाकारों का उनकी सफलता में एक अखंडनीय भूमिका थी। दीवार में शशि कपूर  ऋषि कपूर अमर अकबर एंथनी और कुली  विनोद खन्ना, शत्रुघ्न सिन्हा और धर्मेंद्र ने उनकी फिल्मों की सफलता में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाई चाहे वो सेकेंड रोल क्यों ना हो इसके लिए उनको कभी क्रेडिट नही दिया गया जिसको किसी ने महसूस नहीं किया।”

लेकिन ये चीज़े हमने शालीनता से स्वीकार कर लिया। इसलिए नहीं कि हम अपने आप को हीन अभिनेता मानते थे बल्कि इसलिए क्योंकि टेढ़ा सिक्का चल रहा था। यह आज ऐसा नहीं हो सकता। कोई खान दूसरे खान के साथ काम नहीं करता है। कोई भी अभिनेता असमान शर्तों पर किसी अन्य हीरो के साथ काम करने को तैयार नहीं होता। इसी तरह अगर आज शाहरुख खान फिल्मों में राज करता है तो आमिर, सलमान, या रितिक एक माध्यमिक भूमिका स्वीकार नहीं करेंगे। विनोद खन्ना ने खून पसीना में बहुत अच्छा काम किया था। शशि अंकल ने भी कभी कभी में शानदार  काम किया था। लेकिन लेकिन कभी इस चीज़ की सराहना नहीं हुई क्योंकि वे एक नुकसान में काम कर रहे थे। लेकिन फिर भी हमने एक साथ सौहार्दपूर्ण ढंग से काम किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here