हिन्दुस्तान यूनिलीवर के बहिष्कार अभियान के बाद अब दक्षिणपंथी ट्रोलर्स ने शुरू किया #BoycottSurfExcel, आप भी देखें सांप्रदायिक सौहार्द को बढ़ावा देने वाला यह खूबसूरत विज्ञापन

0

पिछले दिनों हिंदुस्तान यूनिलीवर के खिलाफ सोशल मीडिया पर हिंदुत्व ब्रिगेड द्वारा शुरू किए गए #BoycottHindustanUnilever अभियान के बाद अब धार्मिक सद्भाव को बढ़ावा देने वाले एक अन्य दिल को छूने वाले विज्ञापन को लेकर प्रसिद्ध डिटर्जेंट पाउडर कंपनी सर्फ एक्सेल के खिलाफ ट्विटर पर हैशटैग #BoycottSurfExcel के साथ कंपनी को निशाना बनाया जा रहा है। कुछ दिनों पहले ही रिलीज हुए एक वीडियो विज्ञापन के बाद दक्षिणपंथी समर्थकों द्वारा सर्फ एक्सेल का भारी विरोध किया जा रहा है। विरोध का आलम इतना बढ़ गया कि शनिवार शाम #BoycottSurfExcel ट्वीटर पर टॉप ट्रेंड करने लगा।

दरअसल, होली से पहले सर्फ एक्सेल ने एक वीडियो विज्ञापन जारी किया है, जिसमें एक हिंदू बच्ची मुस्लिम बच्चे को रंगों से बचाकर शुक्रवार का नमाज पढ़ने के लिए उसके धार्मिक स्थल मस्जिद तक ले जाती है, इसके बदले में वह बच्चा, उसे धन्यवाद कहता है। इस विज्ञापन के सामने आने के बाद ही दक्षिणपंथी लोगों ने इसका विरोध शुरू कर दिया है। दक्षिणपंथी समर्थकों का आरोप है कि विज्ञापन के जरिए कंपनी ने हिंदू धर्म की भावनाओं को ठेस पहुंचाया है।

सोशल मीडिया पर यह काफी तेजी से वायरल हो रहा है। इस वीडियो में दिखाया गया है कि कैसे एक हिंदू लड़की होली के दिन अपने मुस्लिम दोस्त को शुक्रवार का नमाज पढ़ने के लिए मस्जिद तक अपने साइकिल पर विठाकर छोड़ती है। छत से बरसाए जा रहे रंगों से कैसे लड़की उस मुस्लिम दोस्त को बचाती है। लड़की, नमाजी लड़के को बचाने के लिए कहती है कि पहले मेरे ऊपर रंग डालो। उत्साह में बच्चे अपने सभी गुब्बारे उसके ऊपर फोड़ देते हैं।

जब सभी बच्चों के पास रंग खत्म हो जाता है तो लड़की मुस्लिम लड़के को साइकिल पर बिठाकर नमाज के लिए उसे खुद मस्जिद की सीढ़ियों तक पहुंचाती है। जिसके बाद लड़का कहता है कि नमाज पढ़कर आता हूं तो लड़की जवाब देती है, ”बाद में रंग पड़ेगा।” तभी लड़का सहमति से सिर हिलाता है और मुस्कुरा कर नमाज के लिए चला जाता है। अपनेपन के रंग से औरों को रंगने में दाग लग जाएं तो दाग अच्छे हैं। लिखे संदेश के साथ सर्फ एक्सेल का यह वीडियो खत्म हो जाता है।

इस विज्ञापन की सोशल मीडिया पर काफी तारीफ हो रही है, लेकिन दक्षिणपंथी समर्थकों द्वारा इस विज्ञापन को लव जिहाद से जोड़कर कहना है कि कंपनी ने इस वीडियो के जरिए हिंदू धर्म की भावनाओं को ठेस पहुंचाया है। देखिए, लोगों की प्रतिक्रियाएं: 

आपको बता दें कि पिछले दिनों विवादास्पद योग गुरु बाबा रामदेव ने हिंदुस्तान यूनिलीवर के खिलाफ सोशल मीडिया पर हिंदुत्व ब्रिगेड द्वारा शुरू किए गए एक अभियान का खुलकर समर्थन कर नया मोड़ दे दिया था। दरअसल, कंपनी ने ब्रुकबांड रेड लेबल का एक विज्ञापन तैयार किया है, जिसमें कुंभ का एक दृश्य दिखाया गया है। दिल दहला देने वाले इस विज्ञापन में एक युवक अपने बुजुर्ग पिता का हाथ छुड़ाकर चला जाता है और बुजुर्ग उसे पुकारता रहता है।

रामदेव के कथित ‘देशभक्त’ समर्थक और हिंदुस्व बिग्रेड द्वारा इस विज्ञापन को भारतीय संस्कृति पर हमला करार देते हुए सोशल मीडिया पर हिंदुस्तान यूनिलीवर के उत्पादों के बहिष्कार की अपील की गई। देखते ही हिंदुत्व बिग्रेड द्वारा ट्विटर पर #BoycottHindustanUnilever टॉप पर ट्रेंड करा दिया गया। इस हैशटैग के जरिए हिंदुस्तान यूनिलीवर पर हिंदू धर्म के अपमान का आरोप लगाते हुए कहा जा रहा था कि कंपनी अपने विज्ञापन के जरिए दुनिया को यह दिखाने की कोशिश कर रही है कि हिंदू समुदाय के लोग कुंभ मेले में अपने माता-पिता को छोड़ देते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here