‘टाइम’ पत्रिका द्वारा PM मोदी को ‘इंडियाज डिवाइडर इन चीफ’ बताए जाने पर बॉलीवुड अभिनेत्री ने प्रधानमंत्री और मीडिया पर कसा तंज

0

देश में लोकसभा चुनाव के अंतिम पड़ाव पर पहुंचने के बीच अमेरिका की प्रतिष्ठित ‘टाइम’ पत्रिका ने अपने अंतरराष्ट्रीय संस्करण के कवर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तस्वीर के साथ एक विवादास्पद शीर्षक छापा है, जिसे लेकर एक नया विवाद शुरू हो गया। इस चुनावी मौसम में पत्रिका ने विपक्ष को पीएम मोदी पर हमला करने के लिए एक हथियार दे दिया है। हालांकि इसके नीचे ही एक अन्य शीर्षक में पीएम मोदी की प्रशंसा की गई है।

अमेरिकी पत्रिका ने 20 मई 2019 के यूरोप, पश्चिम एशिया एवं अफ्रीका, एशिया और दक्षिण प्रशांत के अपने अंतरराष्ट्रीय संस्करण के कवर पर मोदी की तस्वीर के साथ शीर्षक दिया है ‘‘इंडियाज डिवाइडर इन चीफ’’। इस लेख को आतिश तासीर ने लिखा है जो भारतीय पत्रकार तवलीन सिंह और दिवंगत पाकिस्तानी नेता एवं कारोबारी सलमान तासीर के बेटे हैं।

इस बीच टाइम के शीर्षक को लेकर जारी घमासान के बीच बॉलीवुड अभिनेत्री रिचा चड्ढा ने पीएम मोदी और भारतीय मीडिया पर निशाना साधते हुए तीखी प्रतिक्रिया दी है। सोशल मीडिया पर लगातार सक्रिय रहने वाली एक्ट्रेस रिचा चड्ढा ने टाइम की इस कवर फोटो पर लिखे गए टाइटल की जमकर तारीफ की है।

टाइम पत्रिका की इस अंतरराष्ट्रीय कवर स्टोरी की तारीफ करते हुए रिचा चड्ढा ने पीएम नरेंद्र मोदी और भारतीय मीडिया पर तंज कसते हुए लिखा कि जब आप देश से बाहर की प्रेस और मीडिया को खरीदने की ताकत नहीं रखते हैं तो ऐसा ही होता है।

हालांकि ‘‘इंडियाज डिवाइडर इन चीफ’’ के नीचे ही एक अन्य शीर्षक में पीएम मोदी की प्रशंसा की गई है। इस शीर्षक के नीचे एक अन्य शीर्षक दिया गया है: ‘‘मोदी द रिफॉर्मर’’ (सुधारक मोदी)। पत्रिका में यह भी कहा गया है कि विपक्षी कांग्रेस के पास वंशवाद के सिद्धांत के अलावा और कुछ देने को नहीं है। ‘‘मोदी द रिफॉर्मर’’ (सुधारक मोदी) लेख ‘यूरेशिया ग्रुप’ के अध्यक्ष एवं संस्थापक इयान ब्रेमर ने लिखा है।

पत्रिका के अंदर ‘‘क्या विश्व का सबसे बड़ा लोकतंत्र मोदी सरकार के पांच साल और झेल सकता है?’’ शीर्षक के तहत एक लेख छपा है जिसे तासीर ने लिखा है। इसके अलावा ब्रेमर ने ‘‘आर्थिक सुधार के लिए भारत की सबसे बड़ी आशा मोदी’’ शीर्षक के तहत लेख लिखा है। तासीर ने लेख में लिखा, ‘‘मोदी के आर्थिक चमत्कार वास्तविक बनने में न केवल असफल हुए, बल्कि इसने भारत में जहरीले धार्मिक राष्ट्रवाद का माहौल पैदा करने में भी मदद की।’’

तासीर ने कहा कि भारत की सबसे पुरानी पार्टी कांग्रेस के पास राहुल गांधी की बहन प्रियंका गांधी को, भाई के साथ खड़ा करने के अलावा और कोई राजनीतिक सोच नहीं बची। उन्होंने कहा कि मोदी भाग्यशाली हैं कि उनका विपक्ष इतना कमजोर है।

वहीं दूसरी ओर, ब्रेमर ने लिखा कि मोदी का आर्थिक रिकॉर्ड मिश्रित रहा है लेकिन, ‘‘भारत को बदलाव की आवश्यकता है और मोदी अब भी वह व्यक्ति है जो ऐसा कर सकते हैं। उन्होंने चीन, अमेरिका और जापान के साथ संबंधों में सुधार किया है।’’ उन्होंने कहा कि उनके घरेलू विकास एजेंडे ने करोड़ों लोगों के जीवन में सुधार किया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here