“अर्नब गोस्वामी आत्महत्या करेंगे”: रिपब्लिक टीवी के संस्थापक ने महाराष्ट्र के मंत्री के खिलाफ लगाए सनसनीखेज आरोप, देखें वीडियो

0

फर्जी टेलीविन रेटिंग प्वाइंट्स (टीआरपी) रैकेट के मामले में अर्नब गोस्वामी की कथित संलिप्तता को लेकर चल रही जांच के बीच एक खतरनाक मोड़ सामने आ गया है। रिपब्लिक टीवी के संस्थापक ने महाराष्ट्र के एक मंत्री पर सनसनीखेज आरोप लगाते हुए कहा कि, वो कहते है कि अर्नब गोस्वामी जांच में फंस जाएंगे और आत्महत्या कर लेगें।अर्नब गोस्वामी

रिपब्लिक टीवी के अनुसार, उनके एक अंडरकवर रिपोर्टर ने गुप्त रूप से एनसीपी नेता और महाराष्ट्र सरकार के मंत्री नवाब मलिक का एक वीडियो रिकॉर्ड किया है। चैनल ने दावा किया कि नवाब मलिक ने अर्नब गोस्वामी के खिलाफ साजिश रचने की बात कबूल कर ली है। चैनल का दावा है कि, मलिक ने कहा कि वह जांच में फंसेंगे और आत्महत्या कर लेंगे। गोस्वामी ने महाराष्ट्र के मंत्री पर सनसनीखेज आरोप लगाने के बाद बिग बॉस के होस्ट सलमान खान के खिलाफ भी तीखा हमला किया।

गोस्वामी ने अपने टीवी चैनल पर कहा, ”मैं 8 अक्टूबर से ही यह कह रहा हूं, यह एक झूठा मामला है और वे मेरे खिलाफ साजिश कर रहे हैं। ये मुझे फंसाने की कोशिश कर रहे है। मेरी बात को समझें। अल्पसंख्यक मामलों के मंत्री, उन्हें कैसे पता चलता है कि मैं फंसने वाला हूं? यह एक विश्वसनीय जांच नहीं है, यह एक राजनीतिक साजिश है। वे कह रहे हैं कि मैं फंस जाऊंगा और फिर आत्महत्या कर लूंगा। वे कह रहे हैं कि देश के नंबर एक नेटवर्क के एडिटर-इन-चीफ फंस जाएंगे और फिर वह आत्महत्या कर लेंगे।”

रिपब्लिक टीवी द्वारा प्रसारित वीडियो में मलिक को गोस्वामी की आत्महत्या से संबंधित टिप्पणियां करते हुए नहीं दिखाया गया है। बता दें कि, ख़बर लिखे जाने तक महाराष्ट्र के मंत्री नवाब मलिक ने रिपब्लिक टीवी पर उनके खिलाफ सनसनीखेज आरोपों पर कोई भी प्रतिक्रिया नहीं दी है।

अपने टीवी चैनल पर बोलते हुए गोस्वामी ने पूछा, “आप ऐसी टिप्पणी क्यों करते हैं। आत्महत्या पर, आपने SSR (सुशांत सिंह राजपूत) मामले में भी यही कहा। मैं आपको नवाब मलिक से कहना चाहता हूं कि मैं आत्महत्या नहीं करूंगा। अपने आप को देखें और सोचें कि आपने क्या टिप्पणी की है।”

गौरतलब है कि, मुंबई पुलिस ने पिछले हफ्ते टीआरपी घोटाले का दावा किया था। मुंबई के पुलिस कमिश्‍नर परमबीर सिंह ने बीते दिनों एक प्रेस कॉन्‍फ्रेंस में इस फर्जीवाड़े की जानकारी दी थी। उन्‍होंने कहा था कि इसमें रिपब्लिक टीवी समेत कुछ अन्य चैनल्‍स शामिल हैं।

यह कथित फर्जी टीआरपी घोटाला तब सामने आया जब रेटिंग एजेंसी ब्रॉडकास्ट ऑडियंस रिसर्च काउंसिल (बार्क) ने हंसा रिसर्च ग्रुप के माध्यम से शिकायत दर्ज कराई कि कुछ चैनल विज्ञापनदाताओं को आकर्षित करने के लिए टीआरपी अंक के साथ छेड़छाड़ कर रहे हैं। आरोपी है कि दर्शक संबंधी आंकड़े के संग्रहण के लिए जिन परिवारों में मीटर लगाये गये थे और उनमें से कुछ को कुछ खास चैनल देखने के लिए रिश्वत दी जाती थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here