थरूर पर कार्रवाई और दीपिका को मौत की धमकी देने वालों पर चुप्पी। क्या हुआ जब पत्रकारों ने WhatsApp ग्रुप पर ली रेखा शर्मा की क्लास

0

राष्ट्रीय महिला आयोग की अध्यक्ष रेखा शर्मा ने रविवार को कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और केरल से सांसद, शशि थरूर, को ट्विटर पर विश्व सुंदरी मानुषी छिल्लर पर एक मज़ाक़ केलिए आड़े हाथों लिया और आयोग में हाज़िर होने केलिए सम्मन भेजा।

रेखा शर्मा

दरअसल थरूर ने मानुषी के पारिवारिक नाम ‘छिल्लर’ पर टिपण्णी करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा लिए गए नोटेबंदी के फैसले का मज़ाक़ उड़ाया था। अपने ट्वीट में मोदी पर तंज़ करते हुए उन्होंने लिखा था, “नोटेबंदी का फैसला कितना ग़लत था। भाजपा को एहसास होना चाहिए कि भारतीय छुट्टा पूरी दुनिया पे राज करता है। देखिये हमारी चिल्लर भी मिस वर्ल्ड बन गयी। ”

इस पर कड़ी आपत्ति ज़ाहिर करते हुए रेखा शर्मा ने ट्वीट कर बताया कि उन्होंने थरूर को अपने इस ट्वीट केलिए आयोग के समक्ष हाज़िर होने केलिए नोटिस भेजा है। ये अलग बात है कि थरूर ने अपने ट्वीट केलिए बाद में ट्विटर पर माफ़ी मांग ली।

शर्मा ने थरूर को नोटिस भेजे जाने वाले ट्वीट का ज़िक्र व्हाट्सप्प ग्रुप पर भी किया जहां ज़्यादातर मेंबर मीडियाकर्मी हैं। उनके इस मैसेज पर कुछ पत्रकारों ने सख्त आपत्ति ज़ाहिर की और पूछा कि महिला आयोग की अध्यक्ष के इस पक्षपातपूर्ण फैसले के पीछे की वजह क्या थी। इन पत्रकारों ने उन्हें याद दिलाया कि हरियाणा के एक वरिष्ठ भाजपा नेता ने रविवार को दीपिका पादुकोण का सर काट कर लाने वालों केलिए दस करोड़ रूपये के इनाम की घोषणा की थी।

दीपिका का दोष ये है कि उन्होंने पद्मावती फिल्म में अहम रोल अदा किया है।

बता दें कि शर्मा महिला आयोग ज्वाइन करने से पहले हरियाणा में भाजपा की मीडिया संयोजक हुआ करती थीं। दीपिका को हिंदुत्व ताक़तों से मिलने वाली मौत की धमकियों पर ना तो शर्मा ने और ना ही सूचना और प्रसारण मंत्री स्मृति ईरानी ने अब तक कोई बयान दिया है।

व्हाट्सप्प पर मीडियाकर्मियों द्वारा सवालों से घिरी शर्मा फ़ौरन भाग खड़ी हुईं और चुप्पी साधने में ही अपनी भलाई समझी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here