राहुल गांधी, अमित शाह और अरविंद केजरीवाल ने भारतीय वायुसेना को किया सैल्यूट, जानें किस नेता ने क्या कहा

0

जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में 14 फरवरी को हुए आतंकी हमले का भारतीय जवानों ने बदला ले लिया है। भारतीय वायुसेना के जवानों ने एलओसी के पार जाकर आतंकी कैंप पर हमला बोला और उनके कई आतंकवादी कैंपों को ध्वस्त कर दिया है। जी हां, भारतीय वायु सेना ने पुलवामा आतंकवादी हमले के एक पखवाड़े के भीतर ही मंगलवार (26 फरवरी) तड़के बड़ी जवाबी कार्रवाई करते हुए पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर में घुसकर जबरदस्त बमबारी की जिसमें आतंकवादी संगठन जैश ए मोहम्मद का सबसे बड़ा शिविर नेस्तनाबूद हो गया और बड़ी संख्या में आतंकवादी मारे गए।

वायु सेना की कार्रवाई की पुष्टि करते हुए भारत के विदेश सचिव विजय गोखले ने बताया कि भारतीय वायु सेना ने मंगलवार को तड़के सीमापार स्थित आतंकी गुट जैश ए मोहम्मद के ठिकाने पर बड़ा एकतरफा हमला किया जिसमें बड़ी संख्या में आतंकवादी, प्रशिक्षक, शीर्ष कमांडर और जिहादी मारे गए। विदेश सचिव ने पत्रकारों को बताया कि पाकिस्तान स्थित आतंकी गुट जैश ए मोहम्मद के बालाकोट में मौजूद सबसे बड़े प्रशिक्षण शिविर पर खुफिया सूचनाओं के बाद की गई यह कार्रवाई जरूरी थी, क्योंकि आतंकी संगठन भारत में और आत्मघाती हमले करने की साजिश रच रहा था।

गौरतलब है कि 12 दिन पहले जम्मू कश्मीर के पुलवामा में सीआरपीएफ के काफिले पर किए गए आत्मघाती हमले में बल के 40 जवान शहीद हो गए थे। इस हमले की जिम्मेदारी जैश ए मोहम्मद ने ली थी। विदेश सचिव ने संवाददाताओं को बताया कि विश्वसनीय खुफिया जानकारी मिली थी कि 12 दिन पहले पुलवामा हमले को अंजाम देने के बाद जैश ए मोहम्मद भारत में और आत्मघाती आतंकी हमले करने की साजिश रच रहा है। इसके लिए फिदायीन जिहादियों को प्रशिक्षण दिया जा रहा है। गोखले ने कहा कि आसन्न खतरे को देखते हुए, एकतरफा कार्रवाई ‘‘अत्यंत आवश्यक’’ थी।

सेना के जवानों को पूरे देश ने दी बधाई

देश के सभी राजनीतिक दलों, राज्यों के मुख्यमंत्रियों तथा अन्य प्रमुख नेताओं ने पाकिस्तानी आतंकवादी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के ठिकानों को हवाई हमले में ध्वस्त करने की कार्रवाई के लिए भारतीय वायु सेना को सलाम करते हुए बधाई दी है। वायु सेना ने मंगलवार को तड़के पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर (पीओके) के बालाकोट में जैश-ए-मोहम्मद के ठिकाने पर जबरदस्त कार्रवाई की जिसमें बड़ी संख्या में उसके आतंकवादी मारे गए और प्रशिक्षण शिविर तबाह कर दिए गए।

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर में आतंकवादी ठिकानों पर कार्रवाई करने के लिए भारतीय वायुसेना के पायलटों को सैल्यूट किया है। वहीं, पूर्व रक्षा मंत्री ए. के. एंटनी ने वायुसेना की कार्रवाई का स्वागत किया है और इन ठिकानों को नष्ट करने के लिए उसे बधाई दी है। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता ने आज कहा, “मैं भारतीय वायुसेना को इस हवाई हमले के लिए बधाई देता हूं। इससे पाकिस्तान को सख्त संदेश जाएगा। इस हमले में कोई बच नहीं पाया होगा।”

जबकि केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने इस कार्रवाई को ‘महापराक्रम’ बताते हुए वायु सेना को बधाई दी है। उन्होंने कहा कि पूरा देश अपनी वायु सेना के इस पराक्रम के साथ खड़ा है और देश के लोगों को प्रधानमंत्री पर पूरा विश्वास है। वहीं, बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने ट्वीट कर लिखा है कि भारत की जाबांज सेना को उनकी बहादुरी और वीरता के लिए बधाई देता हूं और उन्हें सलाम करता हूं। आज की कार्रवाई ने यह पुनः साबित किया है कि प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी के मजबूत और निर्णायक नेतृत्व में भारत सुरक्षित है।

शाह ने एक अन्य ट्वीट में लिखा है कि आज की यह कार्रवाई नये भारत की इच्छाशक्ति और संकल्प को दर्शाती है। यह नया भारत किसी भी सूरत में आतंकवाद को बर्दाश्त नहीं करेगा और न ही आतंकवादियों और उनके संरक्षकों को माफ करेगा। राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष शरद पवार ने ट्वीट कर वायु सेना को बधाई दी और कहा कि उसने आतंकवादियों को करारा जवाब दिया है।

पूर्व केंद्रीय मंत्री यशवंत सिन्हा ने इसे वायुसेना की असाधारण कार्रवाई बताया जबकि राष्ट्रीय जनता दल के नेता तेजस्वी यादव रिपीट तेजस्वी यादव ने जाबांज पायलटों को बधाई दी और कहा कि देश को अपनी सेना पर गर्व है। आम आदमी पार्टी के नेता एवं दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने ट्वीट किया, “मैं वायु सेना के पायलटों की बहादुरी को सलाम करता हूं। उन्होंने आतंकवादी ठिकानों को निशाना बनाकर देश को गौरवान्वित किया।”

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट ने नियंत्रण रेखा के दूसरी ओर, पाकिस्तानी हिस्से में आतंकी शिविरों पर हमलों के लिए भारतीय वायुसेना को सैल्यूट किया है। गहलोत ने भारतीय वायुसेना के पायलटों को बधाई देते हुए ट्विटर पर लिखा है, ‘‘आपकी बहादुरी को सलाम।’’ गहलोत ने आगे लिखा है, ‘‘देश को आप पर गर्व है … जय हिंद!’’ वहीं, उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट ने इस साहसिक कार्य के लिए भारतीय वायुसेना को बधाई दी और जांबाज वायु सैनिकों के साहस को सलाम किया है।

पायलट ने लिखा है, ‘‘आज पूरा देश हमारे वायु सैनिकों पर गर्व कर रहा है। हमारे जांबाज जवानों ने साफ संदेश दे दिया है कि देश की सुरक्षा से किसी भी किस्म का समझौता बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। जय हिंद!’’ पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने भी पाकिस्तान पर हवाई हमला करने के लिए भारतीय वायु सेना (आईएएफ) की मंगलवार को सराहना की। ममता ने ट्वीट किया, ‘‘आईएएफ का मतलब भारत के अद्भुत लड़ाके (इंडिया’ज अमेजिंग फाइटर्स) भी हैं। जय हिन्द।’’

पढ़ें, किसने क्या कहा:-

पाकिस्तान ने भी की पुष्टि 

पाकिस्तान ने भी मंगलवार को दावा किया कि भारतीय वायु सेना (आईएएफ) के लड़ाकू विमानों ने नियंत्रण रेखा का उल्लंघन कर पाकिस्तानी सीमा में घुसपैठ की। पाकिस्तानी वायु सेना (पीएएफ) की जवाबी कार्रवाई के बाद विमान वापस लौट गए। महानिदेशक इंटर-सर्विसेज पब्लिक रिलेशंस (आईएसपीआर) आसिफ गफूर ने सुबह ट्वीट किया और रेडियो पाकिस्तान ने दावा किया कि वायुसेना के विमानों ने लौटने से पहले जल्दबाजी में विमान में रखे बम गिरा दिए जो खैबर पख्तूनख्वा में बालाकोट के पास गिरे हैं।

रेडियो पाकिस्तान ने दावा किया कि यह कथित घटना मुजफ्फराबाद सेक्टर में हुई। भारत सरकार की ओर से जल्द ही इस पर बयान आने की उम्मीद है। गफूर ने एक ट्वीट में कहा, ‘भारतीय वायु सेना ने नियंत्रण रेखा का उल्लंघन किया। पाकिस्तान वायु सेना ने तुरंत जवाब दिया। भारतीय विमान वापस चले गए।’

आपको बता दें कि यह आरोप जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में 14 फरवरी को सीआरपीएफ के काफिले पर हुए जैश-ए-मोहम्मद के आत्मघाती हमले के बाद दोनों देशों में बढ़े तनाव के बीच लगाया गया है। हमले में सुरक्षा बल के 40 जवाब शहीद हुए थे।

विमान मिराज-2000 ने इस मिशन को दिया अंजाम!

समाचार एजेंसी यूनिवार्ता ने सूत्रों के हवाले से दावा किया है कि वायु सेना के लड़ाकू विमानों के बेड़े के प्रमुख विमान मिराज-2000 ने इस मिशन को अंजाम दिया। तड़के साढे तीन बजे 10 से 12 मिराज विमानों ने अलग-अलग वायु सेना स्टेशनों से उडान भरी और पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर के बालाकोट में करीब 20 मिनट तक कई जगहों पर 1000 किलोग्राम के बमों से भारी बमबारी की जिसमें कई आतंकवादी शिविर तबाह हो गए और 200 से 250 आतंकवादी ढेर हो गए। पाकिस्तानी वायु सेना को जब तक इसकी खबर लगती भारतीय विमान मिशन पूरा कर लौट आए।

हालांकि, पीटीआई के मुताबिक, अभी यह स्पष्ट नहीं है कि यह हमले कश्मीर के पाकिस्तान के कब्जे वाले हिस्से में स्थित बालाकोट में किए गए या पाकिस्तान के खैबर पख्तूनख्वा प्रांत के बालाकोट में किए गए। भारत के विदेश सचिव विजय गोखले ने मंगलवार को अपने प्रेस वार्ता में यह भी नहीं बताया कि यह हमला कैसे किया गया। साथ ही उन्होंने सूत्रों द्वारा पूर्व में दी जा रही इस खबर की पुष्टि भी नहीं की कि अभियान में बम गिराने के लिए मिराज विमानों का इस्तेमाल किया गया।

विदेश सचिव ने संवाददाताओं को बताया कि विश्वसनीय खुफिया जानकारी मिली थी कि 12 दिन पहले पुलवामा हमले को अंजाम देने के बाद जैश ए मोहम्मद भारत में और आत्मघाती आतंकी हमले करने की साजिश रच रहा है। इसके लिए फिदायीन जिहादियों को प्रशिक्षण दिया जा रहा है। गोखले ने कहा कि आसन्न खतरे को देखते हुए, एकतरफा कार्रवाई ‘‘अत्यंत आवश्यक’’ थी।

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here