सोशल मीडिया पर गलत सूचना डालने पर रिजर्व बैंक ने किया सर्तक कहा, बैंक की केंद्रीय वेबसाइट पर करें भरोसा

0

रिजर्व बैंक ने बैंकों के साथ-साथ लोगों को 500 और 1,000 रुपये के पुराने नोटों को लेकर सोशल मीडिया पर जारी अप्रमाणित दस्तावेज को लेकर आज आगाह किया।

Just Dial

एक सार्वजनिक नोटिस में रिजर्व बैंक ने कहा कि लोगों को केंद्रीय बैंक की वेबसाइट द्वारा उपलब्ध सूचना पर भरोसा करना चाहिए।

Also Read:  मोदी ही "हिंदुत्व के जिन्न" को बोतल में वापस डाल सकते हैं : कसूरी

बड़ी राशि के नोटों पर पाबंदी के मद्देनजर रिजर्व बैंक समय-समय पर बैंकों को निर्देश जारी करता रहा है। यह निर्देश बैंकों को सीधे एक आधिकारिक मेल के जरिए भेजे जा रहे हैं।

Also Read:  पटेल भी राजन की मुद्रास्फीति के खिलाफ मुहिम को जारी रखेंगे: गोल्डमैन

भाषा की खबर के अनुसार, नोटिस के अनुसार यह पता चला है कि रिजर्व बैंक द्वारा ‘कथित रूप’ से जारी कुछ दिशानिर्देशों को सोशल मीडिया गड़बड़ी करने वाले तत्व डाल रहे हैं और लोगों तथा बैंककर्मियों में भ्रम पैदा कर रहे हैं।

Also Read:  ड्राइवर के सुसाइड नोट में दावा: जनार्दन रेड्डी ने बेटी की शादी के लिए 100 करोड़ का कालाधन सफेद किया

शीर्ष बैंक ने बैंकों तथा लोगों से इस मामले में सतर्क रहने और केवल रिजर्व बैंक की आधिकारिक वेबसाइट पर अपलोड बातों पर भरोसा करने को कहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here