…तो इस वजह से ‘महाभारत’ पर पत्रकार रविश कुमार के सवालों को टाल गए आमिर खान

0

बॉलीवुड के मिस्टर परफेक्शनिस्ट कहे जाने वाले आमिर खान इन दिनों अपनी आने वाली फिल्म ‘ठग्स ऑफ हिन्दोस्तान’ की शूटिंग में व्यस्त हैं। पिछले दिनों खबर आई थी कि इस प्रोजेक्ट से फ्री होते ही आमिर अपने अगले प्रोजेक्ट पर जुट जाएंगे। मीडिया रिपोर्ट्स में दावा किया गया था कि ‘ठग्स ऑफ हिंदोस्तान’ करने के बाद आमिर अब तक के बॉलीवुड इतिहास की सबसे बड़ी फिल्म ‘महाभारत’ करने जा रहे हैं, जिसमें वह प्रमुख भूमिका निभाएंगे।

हिंदू भगवान की भूमिका निभाए जाने की खबर सामने आने के बाद आमिर खान धार्मिक कट्टरपंथियों के निशाने पर आ गए थे। जिसके बाद मशहूर गीतकार जावेद अख्तर ट्रोल करने वालों पर जमकर भड़ास निकाले थे। यहां तक कि उन्होंने एक विदेशी शख्स को ‘लुच्चा’ करार देते हुए जमकर लताड़ लगाई थी। जावेद अख्तर के जवाब को सोशल मीडिया यूजर्स का भारी समर्थन मिला था।

इस बीच आमिर खान ने पहली बार ‘महाभारत’ प्रोजेक्ट को लेकर अपनी चुप्पी तोड़ी है। एनडीटीवी के विशेष युवा सम्मेलन ‘युवा’ के एक सत्र के दौरान रविवार (16 सितंबर) को फिल्म सुपरस्टार आमिर ने  साफ कर दिया वह फिलहाल ‘महाभारत’ जैसे किसी प्रोजेक्ट पर काम नहीं कर रहे हैं। कार्यक्रम में पत्रकार रविश कुमार ने पूछा, ‘सुना हैं कि आप (आमिर) महाभारत या रामायण पर कोई सीरियल बना रहे हैं?’

इस सवाल पर आमिर ने कहा, “मैं सीरियल तो नहीं बना रहा हूं। फिलहाल मैं सिर्फ ‘ठग्स ऑफ हिन्दोस्तान’ ही बना रहा हूं।” रविश कुमार आमिर के जवाब उतना संतुष्ट नहीं दिखाई दिए जिसके बाद उन्होंने एक बार फिर महाभारत को लेकर सवाल करने की कोशिश की, लेकिन अभिनेता ने बड़े आसानी से इस सवाल से कन्नी काटते हुए दूसरे मुद्दे पर बात करने लगे।

इस वजह से सवालों को टाल गए आमिर खान

दरअसल, आमिर खान नहीं चाहते थे कि उनके द्वारा दिए गए किसी भी बयान पर पिछली बार की तरह एक बार फिर विवाद पैदा हो। आपको बता दें कि दो साल पहले इंडियन एक्सप्रेस के एक कार्यक्रम मे आमिर ने असहिष्णुता के मुद्दे पर देश में डर का माहौल बताते हुए कहा था कि एक बार उनकी पत्नी किरण राव ने उनसे देश छोड़ने की बात कही थी। जिसे लेकर आमिर खान को भारी विरोध झेलना पड़ा था।

इतना ही नहीं तत्कालिन रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर ने कहा था, ‘‘एक अभिनेता कहते हैं कि उनकी पत्नी भारत के बाहर रहना चाहती हैं। यह एक अहंकारी बयान है। अगर मैं गरीब हूं और मेरा घर छोटा है लेकिन मुझे अपने घर से प्यार है और हमेशा से इसे बंगला बनाने का सपना रहा है।’ साथ ही उन्होंने कहा था कि जो लोग राष्ट्र के खिलाफ बोलते हैं लोगों को उन्हें सबक सिखना चाहिए। शायद इन्हीं डर की वजह से आमिर खान इस बार किसी विवाद में नहीं फंसना चाहते थे।

नेता बनने से डरते हैं आमिर

एनडीटीवी के विशेष युवा सम्मेलन ‘युवा’ के इस सत्र के दौरान बॉलीवुड सुपरस्टार ने कहा कि भले ही वह जल संरक्षण जैसे सामाजिक मुद्दों को लेकर मुखर हो सकते हैं, लेकिन राजनीति में आने की उनकी कोई मंशा नहीं है। 53 वर्षीय बॉलीवुड अभिनेता ने कहा कि वह इससे डरते हैं और उन्हें लगता है कि वह अपनी फिल्मों के माध्यम से बेहतर प्रभाव डाल सकते हैं।

आमिर ने कहा, ‘‘मैं राजनेता नहीं बनना चाहता हूं। मैं इसके लिए नहीं हूं। मैं एक संप्रेषक हूं। मुझे राजनीति में रुचि नहीं है….मैं राजनीति से डरता भी हूं। कौन नहीं डरता है?’’ उन्होंने कहा, ‘‘इसलिए मैं इससे दूर रहता हूं। मैं एक रचनात्मक व्यक्ति हूं। राजनीति मेरा काम नहीं है। मैं लोगों का मनोरंजन करना चाहता हूं। मुझे लगता है कि मैं एक राजनेता से ज्यादा एक रचनात्मक इंसान के रूप में बेहतर करने में सक्षम हो पाऊंगा।’’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here