26/11 आतंकी हमला: मुंबई हमले की 12वीं बरसी पर रतन टाटा ने होटल ताज संग शेयर की दिल जीतने वाली पोस्‍ट, हुई वायरल

0

देश आज 26/11 आतंकी हमलों में मारे गए लोगों को याद कर रहा है। ठीक 12 साल पहले 26 नवंबर, 2008 की वह शाम, जिसने भारत के इतिहास में अब तक के सबसे भयावह आतंकी हमलों में से एक को देखा, जिसमें मुंबई के कई लैंडमार्क स्थानों पर आतंकियों ने हमला किया। मुंबई हमलों क बरसी पर ताज होटल के पेरेंट ग्रुप टाटा संस के पूर्व चेयरमैन रतन टाटा ने बेहद भावुक पोस्‍ट लिखी है। टाटा ने अपने पोस्ट में लिखा क‍ि ‘जिन लोगों ने दुश्‍मन पर जीत पाने में मदद की, हम उनके बलिदान को हमेशा याद रखेंगे।’ उन्‍होंने मुंबई स्पिरिट को भी सराहा और कहा कि हमारी एकता को हमें संभालकर रखने की जरूरत है।

रतन टाटा

रतन टाटा ने होटल ताज की एक तस्‍वीर शेयर करते हुए उसपर लिखा है ‘हमें याद है।’ इसके साथ अपने पोस्ट में उन्होंने लिखा, “आज से 12 साल पहले जो विनाश हुआ, उसे कभी भुलाया नहीं जा सकेगी। लेकिन जो ज्‍यादा यादगार है, वो ये कि उस दिन आतंकवाद और विनाश को खत्‍म करने के लिए जिस तरह मुंबई के लोग सभी मतभेदों को भुलाकर एक साथ आए।”

उन्होंने अपने पोस्ट में आगे लिखा, “हमने जिनको खोया, जिन्‍होंने दुश्‍मन पर जीत पाने के लिए कुर्बानियां दीं, आज हम जरूर उनका शोक मना सकते हैं। लेकिन हमें उस एकता, दयालुता के उन कृत्‍यों और संवदेनशीलता की भी सराहना करनी होगी जो हमें बरकरार रखनी चाहिए और उम्‍मीद है कि आने वालों में यह और बढ़ेगी ही।”

रतन टाटा का यह पोस्ट अब सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहा है, उनके इस पोस्ट पर यूजर्स भी जमकर अपनी प्रतिक्रियाएं दे रहे हैं। रतन टाटा के पोस्ट पर कमेंट्स करते हुए लोग उस दिन आतंकियों से लोहा लेने वाले देश के बहादुर जवानों को याद कर रहे हैं।

26 नवंबर 2008 को लश्कर-ए-तैयबा के 10 आतंकवादी समुद्र के रास्ते यहां पहुंचे और गोलीबारी की जिसमें 18 सुरक्षाकर्मियों समेत 166 निर्दोष लोग मारे गए थे और 300 से अधिक लोग घायल हुए थे। एनएसजी और अन्य सुरक्षाबलों ने नौ आतंकवादियों को ढेर कर दिया था तथा अजमल आमिर कसाब नाम के आतंकवादी को जिंदा पकड़ लिया गया था जिसे 21 नवंबर 2012 को फांसी दे दी गई।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here